भाजपा के सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री बनाकर मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे नीतीश

 

राजद का साथ छोड़ भाजपा का दामन थामा

नीतीश कुमार ने कहा- तेजस्‍वी यादव पर सीबीआई की एफआईआर के बाद की राजनीतिक स्थिति में सरकार चलाना असंभव हो गया था। 

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। उन्‍होंने यह इस्‍तीफा गठबंधन सहयोगी राष्‍ट्रीय जनता दल के विधायक और उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी प्रसाद यादव पर भ्रष्‍टाचार के आरोपों के बाद उत्‍पन्‍न राजनीतिक संकट के मद्देनजर दिया है। राज्‍यपाल ने मुख्‍यमंत्री का इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया है। श्री नीतिश कुमार ने अपने निवास पर जनता दल यूनाइटेड विधायक दल की बैठक के बाद इस्‍तीफा देने का फैसला किया। पार्टी सूत्रों ने बताया है कि उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी प्रसाद यादव पर भूमि घोटाले में सीबीआई की एफआईआर के बाद उत्‍पन्‍न राजनीतिक संकट को देखते हुए मुख्‍यमंत्री ने यह कदम उठाया है। इससे पहले, आ बुधवार को शाम मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार राजभवन गये और राज्‍यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अपना इस्‍तीफा सौंपा। राज्‍यपाल ने अगली व्‍यवस्‍था होने तक उन्‍हें पद पर बने रहने को कहा है। राजभवन के बाहर संवाददाताओं से बातचीत में श्री नीतीश कुमार ने कहा कि वर्तमान परिस्थिति में उन्‍हें अपने पद से मजबूर होकर इस्‍तीफा देना पड़ा है। श्री नीतीश कुमार ने कहा कि महागठबंधन सरकार चलाने का भरसक प्रयास किया गया, लेकिन मौजूदा राजनीति‍क  परिस्थिति में सरकार चलाना असंभव हो गया था। सोच का दायरा भी अलग है, न कोई अपना डिस्‍फोर्स न कोई अपना एजेंडा है। सिर्फ रियेक्‍टि‍व एजेंडा से कोई काम चलने वाला नहीं है। उसके लिए कोई बात होनी चाहिए थी। लेकिन उस पर कोई चर्चा नहीं हुई इतने दिनों तक। पर हम अब तक काम करते रहे। हमने जो मुनासिब समझा अपने आपको अलग कर दिया। राज्‍यपाल महोदय ने मेरे त्‍यागपत्र को स्‍वीकार किया है। 243 सदस्‍यीय बिहार विधानसभा में जनता दल यूनाइटेड के 71 विधायक है, भारतीय जनता पार्टी के 53 और लालू प्रसाद की पार्टी राष्‍ट्रीय जनता दल के 80 विधायक हैं। 

प्रधानमंत्री ने नीतीश कुमार को भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कदम उठाने के लिए बधाई दी

प्रधानमंत्री ने कहा- नीतीश कुमार  के फैसले के साथ 125 करोड़ भारतीय
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने श्री नीतीश कुमार के पद छोड़ने का स्‍वागत किया है। ट्वीट संदेश में श्री मोदी ने भ्रष्‍टाचार के खिलाफ एकजुट होने की श्री कुमार की मुहिम का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने कहा कि देश की सवा सौ करोड़ जनता ईमानदारी का स्‍वागत और समर्थन करती है। श्री मोदी ने कहा है कि भ्रष्‍टाचार दूर करने के सामूहिक प्रयास में राजनीतिक मतभेद भुलाना समय की मांग है। इससे बिहार का भविष्‍य उज्‍ज्‍वल होगा।

बिहार  भाजपा के वरिष्‍ठ नेता सुशील मोदी ने कहा-

उनकी पार्टी राज्‍य में मध्‍यावधि चुनाव के पक्ष में नही
राज्‍य में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता सुशील मोदी ने कहा है कि उनकी पार्टी मध्‍यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं है। भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि सभी विधायक अपना कार्यकाल पूरा करें। पटना में संवाददाताओं से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि भाजपा को प्रसन्‍नता है कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भ्रष्‍टाचार के मुद्दे से कोई समझौता नहीं किया और वे राष्‍ट्रीय जनता दल के दबाव के सामने नहीं झुके। करप्‍शन के मुद्दे को लेकर उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा दिया है। हम इसका स्‍वागत करते हैं। भारतीय जनता पार्टी मध्‍यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं है। विधानमंडल दल की बैठक में श्री नित्‍यानंद राय प्रदेश अध्‍यक्ष, डॉ. प्रेम कुमार जो विपक्ष के नेता हैं और मुझे इन तीन लोगों को अधिकृत किया गया है कि विधायकों को और पार्टी की राय जानकर केंद्रीय नेतृत्‍व को अवगत कराएंगे।
दिल्‍ली में भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई   

इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह मौजूद थे। बाद में मीडिया से बातचीत में संसदीय बोर्ड के सचिव और केन्‍द्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राज्‍य में भ्रष्‍टाचार के खिलाफ संघर्ष का स्‍वागत करती है और मध्‍यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं है। उन्‍होंने  कहा कि पार्टी ने पूर्व उप मुख्‍यमंत्री सुशील मोदी और बिहार भाजपा इकाई के प्रमुख नित्‍यानंद राय और प्रेम कुमार की एक समिति बनाई है। यह समिति पार्टी विधायकों से बात करेगी और केन्‍द्रीय नेतृत्‍व को जानकारी देगी।


देश ने करगिल विजय दिवस मनाया, राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की 
करगिल विजय दिवस  के अवसर पर रक्षा मंत्री अरूण जेटली और तीनों सेना प्रमुखों ने इंडिया गेट पर अमर जवान ज्‍योति पर पुष्‍पांजलि अर्पित की।  जम्‍मू-कश्‍मीर में द्रास युद्ध स्‍मारक पर उत्‍तरी कमान के लेफ्टिनेंट जनरल डी.एन्‍बू ने पुष्‍पांजलि अर्पित की और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। हिमाचल प्रदेश में करगिल विजय दिवस के अवसर पर विभिन्‍न स्‍थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। मुख्‍य समारोह हमीरपुर शहर में हुआ जहां बड़ी संख्‍या में युद्ध विधवाओं और भूतपूर्व सैनिकों ने हिस्‍सा लिया। विपक्ष के नेता प्रेम कुमार धूमल ने राष्‍ट्र के प्रति सेवाओं के लिए पूर्व सैनिकों और वीर नारियों को सम्‍मानित किया। करगिल युद्ध के दौरान मातृ भूमि की रक्षा की खातिर इस छोटे पहाड़ी प्रदेश से विभिन्‍न रैंकों के 52 जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी और अदम्‍य साहस के लिए हिमाचल के दो जवानों को परमवीर चक्र दिया गया था। 26 जुलाई 1999 को भारत ने करगिल को पाकिस्‍तानी घुसपैठियों से मुक्‍त कराया था। 26 जुलाई को करगिल विजय दिवस पाकिस्‍तान के खिलाफ भारत की विजय और युद्धवीरों के सम्‍मान में मनाया जाता है। 1999 में इसी दिन भारतीय सेना ने जम्‍मू-कश्‍मीर के लद्दाख क्षेत्र में साठ दिन तक युद्ध करने के बाद हिमालय की ऊंची चोटियों पर स्थित चौकियों पर फिर से नियंत्रण हासिल किया था। इस युद्ध में पांच सौ से अधिक भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। करगिल युद्धवीरों के सम्‍मान में चार परमवीर चक्र, नौ महावीर चक्र, 53 वीरचक्र और अन्‍य पदक प्रदान किये गए थे। 
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज करगिल विजय दिवस के अवसर शहीदों और उनके परिवारों को नमन किया है। एक ट्वीट संदेश में श्री कोविंद ने कहा कि राष्‍ट्र सशस्‍त्र बलों के प्रति आभारी हैं जिनके कारण देश सुरक्षित है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करगिल युद्ध के दौरान साहस और शौर्य का प्रदर्शन करने वाले शहीदों का स्‍मरण करते हुए कहा कि करगिल विजय दिवस हमें भारत की सैन्य शक्ति और देश की रक्षा के लिए सेना के महान बलिदान का स्मरण कराता है। कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने करगिल युद्ध के शहीदों और उनके परिजनों के प्रति आभार और सम्‍मान व्‍यक्‍त किया। 

Congress President Smt. Sonia Gandhi has paid rich tributes and expressed deep gratitude and respect for the Kargil martyrs and their family members. Saluting the courage and valour of the martyrs on Kargil Vijay Diwas, Smt. Gandhi said that the Nation is extremely proud of the brave soldiers who made the supreme sacrifices. As we remember our martyrs, the sacrifices of their family members cannot be overlooked, Smt. Gandhi added. She said that entire Nation recognises the innumerable challenges and pain of the family members, who dedicated their lives while safeguarding the sovereignty and integrity of India.


भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और सृमति ईरानी गुजरात से राज्‍यसभा के लिए चुनाव लड़ेंगे

नई दिल्‍ली में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया। सूचना और प्रसारण मंत्री स्‍मृति ईरानी भी गुजरात से राज्‍यसभा के लिए चुनाव लड़ेंगी।  श्रीमती ईरानी कांग्रेस नेता अहमद पटेल और दिलीप पांडया का कार्यकाल 18 अगस्‍त को समाप्‍त हो रहा है। चुनाव अगले महीने की आठ तारीख को होगा


गुजरात और राजस्‍थान के बाढ़ग्रस्‍त क्षेत्रों में राहत और बचाव अभियान पूरे जोरों पर
गुजरात और राजस्‍थान के बाढ़प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य जोरों पर हैं। बाढ़ग्रस्‍त उत्‍तरी गुजरात से पिछले 24 घंटों के दौरान 23 हजार और लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया। सेना, वायुसेना, राष्‍ट्रीय आपदा मोचनबल और अन्‍य अर्द्धसैनिकबल बाढ़ प्रभावित गांवों में खाद्य सामग्री वितरित कर रहे हैं। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार छह राष्‍ट्रीय राजमार्ग और राज्‍य के 26 राजमार्ग सहित कुल पांच सौ मार्ग बंद हैं।  लगभग चार सौ 92 गांवों में बिजली की आपूर्ति ठप है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में वरिष्‍ठ मंत्री और अधिकारी निगरानी कर सके इस वजह से गुजरात मुख्‍यमंत्री ने वहां के मंत्रिमंडल की बैठक रद्द कर दी है। इससे पहले  गुरुवार को होने वाले नर्मदा महोत्‍सव और स्‍वागत ऑनलाइन कार्यक्रम भी बाढ़ की वजह से रद्द कर दिया गया था। राहत और बचाव कार्य में जुड़ी संस्‍थाओं को लगातार बारिश और खराब मौसम का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच आरएसएस और अन्‍य सामाजिक संगठनों ने खाने के पैकेट और अन्‍य राहत सामग्री बनाना और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं को भेजना शुरू कर दिया है। गुजरात में भारी वर्षा से रनवे को नुकसान के बाद सरदार वल्‍लभ भाई पटेल अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे से कई उड़ानें मुम्‍बई स्‍थानांतरित कर दी गई हैं।  
प्रधानमंत्री ने मंगलवार  को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति की जानकारी ली और गुजरात के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पांच सौ करोड़ रूपये की तत्‍काल सहायता राशि की घोषणाकी प्रधानमंत्री ने एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक में राहत उपायों की समीक्षा की। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री को बाढ़ से होने वाले नुकसान तथा राहत अभियानों की जानकारी दी गई। श्री मोदी ने राहत कार्यों में शामिल सभी एजेंसियों से हर संभव बेहतर उपाय करने को कहा। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के बाद अहमदाबाद हवाई अड्डे पर मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि केन्‍द्र सरकार इससे निपटने में राज्‍य को अल्‍पकालिक और दीर्घकालिक उपायों में सहायता देगी। उन्‍होंने यह भी कहा कि राहत कार्य और तेज़ किया जायेगा।  प्रधानमंत्री ने बाढ़ में मारे गए प्रत्‍येक व्‍यक्ति के निकट परिजनों को दो-दो लाख रूपए तथा गंभीर रूप से घायलों को पचास-पचास हज़ार रूपए अनुग्रह राशि देने की भी घोषणा की। भारत सरकार की तरफ से स्‍टेट डिजास्‍ट मैनेजमेंट के लिए पांच सौ करोड रूपये से भी ज्‍यादा तत्‍काल मुहैया करा दिया जाएगा और सर्वे करने के बाद जो भी आवश्‍यकता होगी उस आवश्‍यकताओं को भारत सरकार तत्‍काल परिपूर्ण करेगी।  इस बीच दक्षिण पश्चिमी हवाई कमान मुख्‍यालय ने वायु सेना अड्डों को निर्देश दिया है कि वे राज्‍य में खाद्य सहायता तथा बचाव अभियान के लिए  बीस से अधिक विमान तैयार रखें।
राजस्‍थान के बाढ़ग्रस्‍त इलाकों में भी राहत और बचाव कार्य जारी है।   बताया गया है कि राज्‍य में वर्षा के कारण मंगलवार  तक आठ और लोगों के मारे जाने की खबर है।  बाड़मेर जिले के कई गांव नर्मदा नहर के एक हिस्‍से के टूट जाने से डूब गये हैं। सेना और एनडीआरएफ की टीम राहत और बचाव कार्य में कामों में जुटी हुई है। लूनी नदी के आसपास के ग्रामीणों को सुरक्षित स्‍थानों में रहने को कहा गया है। जिला प्रशासन ने भी कुछ परिवारों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया है। इस बीच, उत्‍तर-पश्चिम रेलवे ने अहमदाबाद-आगरा फोर्ट रेलगाड़ी को बुधवार को रद्द कर दिया है तथा कई गाडियों के मार्ग में परिवर्तन किया है। सिरोही जिले में हो रही लगातार बारि‍श के कारण माउंटआबू में बुधवार को  सुबह भूस्‍खलन से माउंट आबू और आबू रोड के बीच सड़क मार्ग अवरूद्ध हो गया। पाली जिले में बांडी नदी के उफान पर होने से जिले के कई गांव पानी में डूबे हुए हैं। इस बीच मौसम वि‍भाग ने राज्‍य दक्षि‍ण और पश्‍चि‍मी भागों में भारी बारि‍श की चेतावनी जारी की है। उत्‍तर पश्‍चि‍मी रेलवे ने रेलवे ट्रेक के नीचे पानी  भरे होने के कारण जोधपुर मंडल में छह गाडियों को पूरी तरह और छह को आंशिक रूप से रद्द कर दिया है।   

 

इराक में लापता 39 भारतीयों के मारे जाने का कोई साक्ष्‍य नहीं: विदेशमंत्री 
सरकार ने कहा है कि इराक के मोसुल शहर में लापता 39 भारतीयों के बारे मे ठोस प्रमाण मिले बिना उनके मारे जाने के कोई घोषणा नहीं की जा सकती। लोकसभा में विदेशमंत्री सुषमा स्‍वराज ने बुधवार को अपने वक्‍तव्‍य में कहा कि इराक ने सरकार को आश्‍वासन दिया है कि वह उन लोगों के जीवित या मौत के बारे में ठोस जानकारी और साक्ष्‍य उपलब्‍ध करायेगा। उन्‍होंने बताया कि भारत ने लापता लोगों के संबंध में छह खाड़ी देशों और तुर्की से सम्‍पर्क किया है। मैं आज यहां कहना चाहूंगी खड़े होकर कि अध्‍यक्षजी बिना ठोस सबूत के किसी को मरा होना घोषित करना पाप है और ये पाप में कभी नहीं करूंगी। मैंने खाड़ी के छ देशों के विदेश मंत्रियों से बात की और जितने भी देश इसके तलाश में मदद कर सकते थे उन सबसे मैंने भी बात की , प्रधानमंत्री जी ने भी बात की। तो हम लोग इसमें जो आगे बढ़ रहे थे यही सोचकर बढ रहे थे कि हमारी जिम्‍मेदारी या तो ठोस सबूत के साथ मारे जाने का मिल जाये तो वो बता दें, जिंदा होने का मिल जाये तो वो बता दें। श्रीमती स्‍वराज ने आश्‍वासन दिया कि भारत लापता लोगों की लगातार तलाश जारी रखेगा। 39 भारतीय 2014 से लापता है।


निजता के अधिकार को मौलिक अधिकारों में शामिल करने का मुद्दा

सुनवाई में उच्‍चतम न्‍यायालय से हस्‍तक्षेप का अनुरोध
कर्नाटक और पश्चिम बंगाल सहित चार गैर भाजपा शासित राज्‍यों ने उच्‍चतम न्‍यायालय से निजता के अधिकार को संविधान प्रदत्‍त मौलिक अधिकारों में शामिल करने के मुद्दे पर जारी सुनवाई में हस्‍तक्षेप करने का अनुरोध किया है।  कर्नाटक और पश्चिम बंगाल के अलावा कांग्रेस शासित पंजाब और पुद्दुचेरी ने भी केन्‍द्र सरकार के मत का विरोध किया है कि निजता का अधिकार मौलिक अधिकार नहीं, बल्कि एक सामान्‍य विधि सम्‍मत अधिकार है। चार राज्‍यों की ओर से वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता कपिल सिब्‍बल ने प्रधान न्‍यायाधीश जे. एस. खेहर की अध्‍यक्षता वाली नौ न्‍यायाधीशों की संविधान पीठ के समक्ष दलीलें शुरू की। उच्‍चतम न्‍यायालय ने 18 जुलाई को इस मुद्दे पर सुनवाई के लिए संविधान पीठ का गठन किया था।  याचिकाकर्ताओं ने दावा किया है कि आधार योजना के लिए बायोमैट्रिक सूचनाएं साझा करना निजता के मौलिक अधिकार का उल्‍लंघन है। केन्‍द्र ने 19 जुलाई को उच्‍चतम न्‍यायालय से कहा था कि निजता का अधिकार मौलिक अधिकारों के दायरे में नहीं माना जा सकता। केन्‍द्र ने इसके समर्थन में न्‍यायालय की कई बड़ी पीठों के फैसलों का हवाला दिया था।


भोजनावकाश से पहले राज्‍यसभा व में लोकसभा सदन की कार्यवाही बार बार स्‍थगित
राज्‍यसभा में आज शोर-शराबे के कारण सदन की कार्यवाही कई बार स्‍थगित करनी पड़ी। कांग्रेस के आनंद शर्मा की कुछ टिप्‍पणियों को लेकर विपक्ष और सत्‍ता पक्ष के सदस्‍यों के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। विपक्ष ने सदन के नेता श्री अरूण जेटली के बयानों पर कड़ी आपत्ति की। 
लोकसभा की कार्यवाही शोरशराबे के बीच दिन में 12 बजकर 45 मिनट के लिए स्‍थगित कर दी गई। विपक्षी सदस्‍य भाजपा के अनुराग ठाकुर के अपने मोबाइल फोन पर सदन की कार्यवाही की फिल्‍म बनाने की अ‍नधिकृत कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन ने श्री ठाकुर को उनकी कार्रवाई के लिए चेतावनी दी और कहा कि भविष्‍य में ऐसा हुआ तो कार्यवाही की जाएगी। इससे पहले कांग्रेस सदस्‍यों ने छह कांग्रेस सदस्‍यों का निलम्‍बन समाप्‍त कराने की मांग करते हुए नारे लगाए।


सैनिक अड्डे पर तालिबान हमले में अफगानिस्‍तान के 26 सैनिकों की मौत

अफगानिस्‍तान के कंधार प्रान्‍त में एक सैनिक अड्डे पर तालिबान हमले में अफगानिस्‍तान के 26 सैनिकों की मौत। अफगानिस्‍तान में कंधार प्रांत में सैन्‍य शिविर पर तालिबानी हमले में 26 अफगान सैनिक मारे गए और 13 घायल हो गए। रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि कल रात कंधार के करजली इलाके के सैन्‍य शिविर पर आतंकवादी हमला किया गया। रक्षा प्रवक्‍ता जनरल दौलत वजीरी ने बताया कि अफगानी सैनिकों ने 80 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया।


प्रसार भारती में प्रतिभा का अभाव 
सूचना और प्रसारण मंत्री स्‍मृति ईरानी ने लोकसभा में लिखित उत्‍तर में बताया कि प्रसार भारती में कुल मिलाकर प्रतिभा का अभाव है और अनेक पद रिक्‍त पड़े हैं। श्रीमती ईरानी ने कहा कि सैम पित्रोदा समिति की रिपोर्ट में दिए सुझाव के आधार पर प्रसार भारती जनशक्ति ऑडिट कर रही है जिसके 2017-18 में पूरा हो जाने की उम्‍मीद है।


उत्‍तर प्रदेश में 1.78 लाख शिक्षा मित्रों की सहायक शिक्षकों के रूप में हुई नियुक्तियां रद्द

उच्‍चतम न्‍यायालय ने उत्‍तर प्रदेश में पर्याप्‍त योग्‍यता न होने के कारण एक लाख 78 हजार शिक्षा मित्रों की सहायक शिक्षकों के रूप में नियुक्ति रद्द की।  उत्‍तर प्रदेश के एक लाख 78 हजार शिक्षा मित्रों को उच्‍चतम न्‍यायालय से बड़ा झटका लगा है। न्यायालय ने इन शिक्षा मित्रों को राज्य के प्राथमिक विद्यालयों में सहायक शिक्षकों के पद पर दी गई नियमित नियुक्ति रद्द कर दी है। न्यायालय ने कहा कि इन शिक्षा मित्रों के पास बच्चों के लिए मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत केंद्र द्वारा निर्धारित पर्याप्त योग्यताएं नहीं हैं। हालांकि न्यायालय ने कहा कि अगर शिक्षा‍मित्र आवश्‍यक योग्‍यता हासिल कर चुके हैं तो उन्‍हें शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में अवसर मिलना चाहिए। न्यायालय ने राज्‍य सरकार को उन्हें शिक्षा मित्रों से संबंधित सेवा शर्तों पर बनाए रखने की अनुमति दी है।


प्रवर्तन निदेशालय ने कश्‍मीरी अलगाववादी नेता शब्‍बीर शाह को गिरफ्तार किया
कश्‍मीरी अलगाववादी नेता शब्‍बीर शाह को धन शोधन मामले में मंगलवार को रात प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया। अधिकारियों ने बताया कि शाह को श्रीनगर में गिरफ्तार किया गया और उन्‍हें  बुधवार को दिल्‍ली लाये जाने की संभावना है। यहां उन्‍हें अदालत में पेश किया जायेगा। प्रवर्तन निदेशालय ने शाह को कई सम्‍मन जारी किए थे लेकिन वे इस केन्‍द्रीय जांच एजेंसी के सामने पेश नही हुए। दिल्‍ली की एक अदालत ने इस महीने अलगाववादी नेता के खिलाफ गैर ज़मानती वारंट जारी किया था।


मुंबई में इमारत ढहने की घटना में मृतकों की संख्‍या बढ़कर 17 हुई
मुंबई में घाटकोपर इमारत ढहने की त्रासदी में मृतकों की संख्या 17 हो गई है। इस हादसे में ग्यारह लोग घायल हुए हैं। बृहनमुंबई नगर निगम के आपदा प्रबंध प्रकोष्ठ के अधिकारियों के अनुसार मलबे से 28 लोग निकाले गये। इनमें से 17 को मृत घोषित कर दिया गया। ग्यारह घायलों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया था जिनमें से छह को छुट्टी दे दी गई। खोज और बचाव कार्य जोर-शोर से जारी है। इस बीच इमारत गिरने के सिलसिले में शिवसेना का एक कार्यकर्ता गिरफ्तार किया गया है ।पुलिस ने इमारत के भूतल पर बने नर्सिंग होम के मालिक को हिरासत में ले लिया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा है कि मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस जांच कर रही है। नगरपालिका आयुक्त को जांच करने और 15 दिन के अंदर रिपोर्ट देने के निर्देश दिये गये हैं।   घाटकोपर के दामोदर पार्क में स्थित करीब तीन दशक पुरानी साईं दर्शन अपार्टमेंट मंगलवार को सुबह ताश के पत्‍तों की तरह अचानक ही मिनटों में ढह गई। यह ईमारत बीएमसी के खतरनाक ईमारतों की सूची में शामिल नहीं थी।


स्‍कूल के पाठ्यक्रम से रवींद्रनाथ टैगोर को हटाने का कोई इरादा नहीं:  प्रकाश जावड़ेकर 
मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि स्कूली पाठ्य पुस्‍तकों से रविन्द्र नाथ टैगोर से संबंधित सामग्री को हटाने की सरकार की कोई योजना नहीं है। तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया था। श्री जावडेकर ने कहा कि स्कूलों में पढाई जाने वाली एन.सी.ई.आर.टी. की पुस्तकों में अभी कोई तथ्यात्मक गलती हो तो उनमें सुधार लाने या हटाने के लिए शिक्षकों और अन्य लोगों से सुझाव मांगे हैं।


सभी शिक्षण संस्‍थान सप्‍ताह में कम से कम एक बार राष्‍ट्रीय गीत वंदे मातरम  गाएँ: मद्रास  हाईकोर्ट 
मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने सभी शिक्षण संस्‍थानों से कहा है कि वे सप्‍ताह में कम से कम एक बार राष्‍ट्रगीत 'वंदेमातरम' का गान अवश्‍य करें। एक याचिका पर सुनवाई करते हुए न्‍यायालय ने आज सरकार और निजी कार्यालय तथा प्रतिष्‍ठानों को भी निर्देश दिया कि वे लोगों में राष्‍ट्रीयता की भावना के प्रसार के लिए महीने में एक बार अपने परिसरों में भी वंदेमातरम गायें। न्‍यायालय के निर्देश में यह भी कहा गया है कि उचित कारणों से यदि कोई व्‍यक्ति इस राष्‍ट्रगीत को गाने में अक्षम है तो उसे मजबूर नहीं किया जाएगा।


इजरायल ने पूर्वी येरूसलम में अल-अक्‍सा परिसर से मेटल डिटेक्‍टर हटाया
इज़रायल ने फिलस्तिनियों के भारी विरोध के बाद कब्जे वाले पूर्वी येरूसलम में अल-अक्सा मस्जिद के परिसर के प्रवेश द्वार पर हाल में लगाए गए मेटल डिटेक्टर हटा लिए हैं। उसने कहा है कि इसके स्थान पर कम बाधा पहुंचाने वाले उपकरण लगाए जाएंगे। मेटल डिटेक्टर लगाए जाने के बाद जानलेवा झड़पे हुई थीं। फिलस्तिनियों का कहना है कि इजरायल ने इस परिसर पर अपने नियंत्रण का दावा मजबूत करने के लिए मेटल डिटेक्टर लगाया है। जबकि इजरायल का कहना है कि इसके जरिए हथियारों की तस्करी होती है।         

 

    

वैंकेया नायडू के बयानके बाद

कांग्रेस ने सबूतों के साथ दागे फिर 4 सवाल

प्रधानमंत्री, अमित शाह, भाजपा और नायडू ें जवाब                  

कांग्रेस प्रवक्ता  रणदीप सिंह सुरजेवाला सहित अन्य नेताओं ने सामूहिक रूप से पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि 24 जुलाई 2017 को कांग्रेस पार्टी ने 'सार्वजनिक जीवन में जवाबदेही' और प्रधानमंत्री का वो वाक्य जो जुमला बन गया है, 'जीरो टॉलरेंस ऑफ करप्शन', उसकी व्यापक चर्चा यहाँ की और बीजेपी के उप-राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार श्री वैंकेया नायडू को लेकर 4 प्रश्न सार्वजनिक पटल पर रखे। आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, भाजपा अध्यक्ष श्री अमित शाह जी और वैंकेया नायडू जी से ये अनुरोध किया कि सार्वजनिक जवाबदेही के पक्ष में इन सवालों का निराकरण और जवाब प्रधानमंत्री जी, बीजेपी अध्यक्ष और आदरणीय नायडू जी दें। 48 घँटे बीत गए हैं। हमेशा की तरह एक बार फिर इस प्रकार के तथ्य और कागजात जब सार्वजनिक पटल पर आते हैं तो प्रधानमंत्री जी और अमित शाह जी दोनों चुप्पी साधे हुए हैं। हाँ, श्री वैंकेया नायडू ने एक संक्षिप्त बयान दिया और उनके पक्ष में तेलंगाना की सरकार ने भी संक्षिप्त बयान दिया, लेकिन उससे जवाब कम और सवाल ज्यादा खड़े होते हैं। इसलिए 4 प्रश्न फिर हम पूछना चाहेंगे, प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी, अमित शाह जी से, भाजपा से और आदरणीय नायडू जी से। 


तेलंगाना की सरकार ने अब ये मान लिया कि Ms. Deepa Venkat, जो वैंकेया नायडू जी की पुत्री हैं, उनका ट्रस्ट, जिसका नाम है- 'स्वर्ण भारत ट्रस्ट,' उसको 2 करोड़ 46 लाख रुपए की छूट, डेवलपमेंट चार्जेस, लैंड यूज चार्जेसऔर बाकी के सब जो चार्जेस हैं सरकारी, उनसे दी गई। आदरणीय नायडू जी का ये कहना है कि अगर मेरी पुत्री की ट्रस्ट को सरकार का 2 करोड़ 46 लाख रुपया छोड़ा गया, तो 16 और ट्रस्ट को भी छोड़ दिया गया, ये उनका जवाब है। सवाल बड़ा सीधा है कि क्या नायडू साहब, भारतीय जनता पार्टी, प्रधानमंत्री जी और तेलंगाना की सरकार बताएगी कि सैकड़ो और इस प्रकार के ट्रस्ट जिन्होंने सरकार को अप्लाई किया है, उनको 2 करोड़ 46 या करोड़ों रुपए की छूट क्यों नहीं दी गई? ये विशेष ट्रीटमेंट श्री वैंकेया नायडू जी की पुत्री को क्यों दिया जा रहा है और वो कौन सी पॉलिसी है, नीति है, मापदंड है, क्या क्राईटीरिया है, जिसके तहत श्री वैंकेया नायडू की पुत्री के ट्रस्ट को सरकारी पैसे की 2 करोड़ 46 लाख की माफी दे दी गई और इतना ही नहीं, अब एक और विषय सामने आया है इसी ट्रस्ट से जुड़ा कि स्वर्ण भारत ट्रस्ट को और बहुत सारे ट्रस्टों के साथ FCRA Violation का नोटिस इसी सरकार ने दिया है। यानी Foreign Contribution (Regulation) Act, 2010 के Violation का नोटिस दिया है। तो क्या बीजेपी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री जी बताएंगे कि ऐसा ट्रस्ट जिसके खिलाफ FCRA के उल्लंघन की जाँच हो रही हो, उसको इस प्रकार स्टैच्युरि चार्जेस की माफी देना सही और वाजिब है?  


दूसरा सवाल - तेलंगाना सरकार ने अब ये भी मान लिया कि हर्षा टोयटा ,जो नायडू जी के पुत्र की कंपनी है, हैदराबाद स्थित, उससे बगैर टेंडर के 350 टोयटा गाडियाँ खरीदी गई और उसका उन्होंने रक्षात्मक जवाब ये दिया है कि हर्षा टोयटा से DGS&D rates के मुताबिक गाड़ियाँ खरीदी गई और बाकी 350 गाडियों के लिए टेंडर जारी किया गया और वो टेंडर एक दूसरी कंपनी राधाकृष्ण मोटर को मिला।  
सवाल बड़ा सीधा है क्योंकि अब तथ्य मान लिए गए हैं। दोनों ही lots of vehicles, 350 गाडियाँ ये और 350, जब दोनों टोयटा की गाड़ियाँ हैं, एक टेंडर से और एक बगैर टेंडर के क्यों खरीदी गई? टेंडर कंडिशन को क्यों violate किया गया, जब हर्षा टोयटा ,जो नायडू जी के बेटे की कंपनी है, उसके लिए और न सरकार और न नायडू जी ने ये बताया कि हर्षा टोयटा ने श्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि 24 जुलाई 2017 को कांग्रेस पार्टी ने सार्वजनिक जीवन में जवाबदेही और प्रधानमंत्री का वो वाक्य जो जुमला बन गया है जीरो टॉलरेंस ऑफ करप्शन, उसकी व्यापक चर्चा यहाँ की और बीजेपी के उप-राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार श्री वैंकेया नायडू को लेकर 4 प्रश्न सार्वजनिक पटल पर रखे। आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, भाजपा अध्यक्ष श्री अमित शाह जी और वैंकेया नायडू जी से ये अनुरोध किया कि सार्वजनिक जवाबदेही के पक्ष में इन सवालों का निराकरण और जवाब प्रधानमंत्री जी, बीजेपी अध्यक्ष और आदरणीय नायडू जी दें। 48 घँटे बीत गए हैं, हमेशा की तरह एक बार फिर इस प्रकार के जब तथ्य और कागजात सार्वजनिक पटल पर आते हैं तो प्रधानमंत्री जी और अमित शाह जी दोनों चुप्पी साधे हुए हैं। हाँ श्री वैंकेया नायडू ने एक संक्षिप्त बयान दिया और उनके पक्ष में तेलंगाना की सरकार ने भी संक्षिप्त बयान दिया, लेकिन उससे जवाब कम और सवाल ज्यादा खड़े होते हैं। इसलिए 4 प्रश्न फिर हम पूछना चाहेंगे प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी, अमित शाह जी से, भाजपा से और आदरणीय नायडू जी से।                                                                                                              

 

 तीसरा सवाल- आदरणीय नायडू जी ने ये कहा कि 20 एकड़ जमीन ,जिसकी कीमत शायद 500 करोड़ रुपए से अधिक है, जो भोपाल, मध्यप्रदेश में 'Kushabhau Thakre Memorial Trust' को दी गई और जिसे सुप्रीम कोर्ट ने quashed कर दिया उन्होंने कहा कि मैं तो चैयरमेन था, लेकिन ये तो बीजेपी की ट्रस्ट है और इसलिए मैं तो राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते चैयरमेन था। मेरी कोई जिम्मेदारी नहीं ,बीजेपी की जिम्मेदारी है, उसका मतलब यही हुआ। अब सुप्रीम कोर्ट क्या कहती है उस ट्रस्ट और अलॉटमेंट के बारे में- मैं कुछ लाइनें पढ़कर बताता हूं- Para 32 …. We may add that there cannot be any policy much less a rational policy of allotting land on the basis of applications made by individuals, bodies, organizations or institutions de-hors invitation or advertisement by the State or its agency/instrumentality…. Any allotment of land or grant of other form of largesse by the State or its agencies/instrumentality by treating the exercise as a private venture is liable to be treated as arbitrary, discriminatory and an act of favoritism and/or nepotism.

 उससे आगे वो बीजेपी और वहाँ की सरकार के बारे में क्या कहते हैं, वो भी सुन लीजिए- Para 36 …. The fact remains that all its Trustees are Members of a particular party and the entire exercise for the reservation and allotment of land and waiver of major portions of the premium was undertaken because political functionaries of the State wanted to favour respondent No 5 and the officers of the State at different levels were forced to toe the line of their political masters. Shri Surjewala said if Shri Naidu Ji is not responsible, then BJP is obviously responsible. Then it is time that Modi Ji and Amit Shah Ji came forward and answer to the Nation about the stinging stricture against a Trust of which BJP National President was the Chairperson. And our fourth question and that still lies unanswered.
वैंकेया नायडू जी को 4.95 एकड़ जमीन आँध्र प्रदेश में जो 'Poor & the Destitute' के लिए थी, वो अलॉट हुई, ये सच्चाई है। वो ये कहते हैं कि ये जमीन उन्होंने वापस दे दी विरोध के बाद, क्या आप गरीबों के लिए या भूमिहीन की जमीन को हड़प सकते हैं? अगर आपने पहले गलती की, फिर मान ली और फिर जमीन वापस दे दी, तो क्या इससे आपके व्यवहार को लेकर कोई culpability साबित नहीं होती? एक अंग्रेजी की कहावत है-Ceaser's wife must be above suspicion.  It is time Prime Minister Shri Narendra Modi, BJP President Shri Amit Shah and Shri Venkaiah Naidu answer these questions instead of hiding behind platitudes. 
श्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आज मैं आपके सामने दो चीजें रखना चाहता हूं। पहली चीज ये है कि सदन में सभी विपक्षी पार्टियों के मैंबर मिलकर जो देश में आज अल्पसंख्यक, दलितों पर, महिलाओं पर, कमजोर लोगों पर जो अन्याय हो रहा है और खासकर के भीड़ (मॉब) जो गरीबों की हत्या कर रही है, तो इसके बारे में हमने रुल 56 और 57 के तहत Adjournment motion सदन में दिया था। लेकिन सदन में रूल्स के मुताबिक ये मोशन देने के बाद इसको बार-बार ठुकराया गया और ये कहा गया कि ये रूल्स के मुताबिक नहीं है, तो रूल्स के मुताबिक अगर नहीं है तो रूल 56क्या कहता है, देखना चाहिए, ये रूल तो है। उनको सस्पेंड कर रहे हैं। उस रूल के तहत हमको इजाजत देना या नहीं देना ये उनके हाथ में है, इसलिए तो हम बार-बार उठकर ये कहते हैं, रिक्वेस्ट करते हैं कि आप हमें परमीशन दीजिए, ये बहुत महत्वपूर्ण मुद्दा है और सारे देश में इस मुद्दे पर चर्चा भी हो रही है, हर अखबार में, हर टी.वी में आप देखेंगे कि डिबेट हो रही है, प्रिंट मीडिया में स्पेशल आर्टिकल आ रहे हैं, इसके बावजदू भी इस सदन में जो 125 करोड़ जनता को रिप्रेजेंट करती है, ऐसी जगह पर अगर हम चर्चा नहीं करेंगे तो कहाँ करेंगे?तो इसलिए तो वो Adjournment motion का प्रोविजन है, अगर वो नहीं होता तो ये सदन में डालने का सवाल ही नहीं रहता, लेकिन वो बार-बार ये कहते हैं कि बाद में चर्चा करेंगे, इसी ढंग से एक तरफ सरकार और स्पीकर ने भी हमें ये कहा।
दूसरी चीज, हम चर्चा के लिए किसी भी रूप में तैयार थे, अगर आप तुरंत Question hour के बाद भी उनको Discretion है, जैसा कि Discretion उन्होंने रूल 374-A इस्तेमाल किया और हमारे 6 सांसदों को निलंबित किया। ये रूल तो आपने एप्लाई किया, लेकिन उसके लिए सस्पेंड नहीं कर सकते, वो तो सारे जनता के लिए हैं। देश के अल्पसंख्यकों की हत्या हो रही है, जनता की हत्या हो रही है और जो चुपचाप कानून के मुताबिक खाने के लिए कुछ ले जाते हैं तो उसके लिए आप 'मीट' बोलो, बोलो कुछ भी, हमें क्या मालूम है, खींच-खींच के मार रहे हैं, लेकिन उन लोगों को आपके एक तरफ मार रहे हैं और उनकी बात जब हम उठाते हैं तो उसको परमीशन नहीं मिलती और जो सदस्य उसी तरह की चर्चा के लिए डिमांड करते हैं तो उनको सस्पेंड किया गया, आज ये तीसरा दिन है। इतना बड़ा पनिशमेंट किसी भी वक्त नहीं हुआ। हालांकि अनुराग ठाकुर, वहाँ वीडियो निकाल रहे थे, उनको माफ किया जाता है, वॉर्निंग दी जाती है और जो लोग इस देश की गरीब जनता की बात उठाते हैं और उनकी आवाज को दबाने की कोशिश अगर सरकार करती है, ये dictatorial एटिट्यूड है और डेमोक्रेसी को खत्म करने की बात यहाँ हो रही है और ऐसी dictatorship से हम नहीं डरने वाले हैं। लेकिन हमारे सदस्यों को डराने की कोशिश अगर कोई करता है तो उसको हम सहन नहीं करेंगे और ये दोहरी चाल जो है- एक तरफ एक सदस्य को माफ करना और दूसरे सदस्य ,जो जनता के मुद्दों को उठाते हैं, उनकी आवाज को दबाना ,ये बुरी बात है। तो जनता की आवाज को उठाने वालों को 6 दिन का पनीशमेंट और जो वीडियो निकालकर प्रचार करते हैं, संसद में सदस्य किसी भी पार्टी के होते हैं, उसमें हर पार्टी के लोग थे, कांग्रेस के थे, सीपीएम के थे, आरजेडी के थे, जेडीयू के थे, समाजवादी पार्टी के थे, सब पार्टी के लोगों ने मिलकर किया और उनका वीडियो निकालकर आप लोगों को बताना चाहते थे कि हम क्या कर रहे हैं, लेकिन इसके लिए कोई पनीशमेंट नहीं है। तो हम ये चाहते हैं कि इसको तुरंत हटाएं और अनुराग ठाकुर ने जो हाउस में किया ,उनके खिलाफ एक्शन लेना चाहिए, उनको तुरंत सस्पेंड करना चाहिए। दूसरी चीज भगवंत सिंह मान ने किया संसद के बाहर, उनको तो 3 सत्र का पनिशमेंट दे दिया। ये क्या है, कौन सी राजनीति है, डेमोक्रेसी चलाने का कौन सा तरीका है, हमें समझ नहीं आ रहा है। हम अपनी बात आपके सामने रखना चाहते हैं कि सरकार Parliamentary Affairs Minister बोलिए या बीजेपी के लोग, अगर उठकर बात करते हैं तो उनको ज्यादा समय मिलता है और जब हम उन गलत चीजों पर सवाल उठाना चाहते हैं कि हमें उसके बारे में रिस्पॉन्स नहीं मिलता, ये जो सरकार दबाव ड़ाल रही है और सरकार हाउस में ऐसी सारी चीजें एक Dictatorial एटिट्यूड से हाउस को चलाने का तरीका दिखा रही है, तो इससे हम सहमत नहीं है और ऐसी चीजें करना ठीक नहीं है। जब कभी ऐसे जरूरी मुद्दे सदन में होते हैं तो कम से कम प्रधानमंत्री जी से एक स्टेटमेंट, जैसा कि सुषमा स्वराज जी ने दिया आज, कोई डिमांड नहीं की थी, जब प्रधानमंत्री जी उस पर चुप्पी साधते हैं। 3 बार गोरक्षकों के बारे में रैली में बोलते हैं, अपने भाषणों में बोलते हैं, लेकिन संसद में नहीं बोलते हैं। अगर Leader of the House मैंबर को नहीं बताएंगे तो कहाँ बताएंगे और बाहर बताना है ,तो शाह जी हैं उनके, वो बताएँगे। आपकी जिम्मेदारी है, लेकिन आप हाउस में नहीं बता रहे हैं ,तो ये बात समझ में नहीं आती कि डेमोक्रेटी प्रोसेस में वो काम करना चाहते हैं या नहीं और डेमोक्रेसी में तो हाउस लीडर हमेशा मुसीबत के तहत अपना स्टेटमेंट देता है। मनमोहन सिंह जी देते थे, इससे पहले के प्रधानमंत्री रहे हैं, कहीं ना कहीं अपना स्टेटमेंट देते थे, लेकिन आज उनकी तरफ से कोई भी स्टेटमेंट हाउस में नहीं मिलेगा और यहाँ तक कि 5-10 मिनिट के लिए अपना चेहरा दिखाते हैं और उठकर चले जाते हैं, जैसे कि कोई पीछे लगा है। तो ये चीजें हो रही हैं हाउस में। ये डेमोक्रेसी को खत्म करने की बात है, संविधान को खत्म करने की बात है, ये हमें समझ नहीं आता। मैं 9 साल से यहाँ हूं और वहाँ मैं 38 साल से ऐसेम्बली में था। 46 वर्षों से लेजिस्लेटर हूं, मैंने कभी ऐसा नहीं देखा और सुना भी नहीं ऐसा। तो इसलिए हम 4 सवाल आपके सामने रखेंगे क्योंकि ये महत्वपूर्ण है।
Why are PM Modi and ruling BJP Government running away from debate, discussion and responsibility to the Parliament?
Why should Congress and other opposition Members be denied the right to raise issues of National concern?
Isn't the dictatorial and fascist approach of the BJP Government an anathema to the functioning of our democracy?
Why are two yardsticks being applied i.e. one for BJP Member Shri Anurag Thakur and another for the six suspended Congress Members?
And also earlier Members who are suspended by other party. 
It is really making us to think whether this Government is going according to the Constitution or acting according to the Constitution or even Business transactions. 
अगर कोई गलती भी करता है तो स्पीकर उनको समझा सकते हैं। या एक्सप्लेनेशन पूछ सकते हैं या उनकी बात कहने के लिए समय दिया जाता है ,जैसा कि मान के केस में हुआ, उनको तो समय दिया गया, पूछा गया, बुलाया गया, लेकिन यहाँ किसी को भी बुलाया भी नहीं गया, पूछा भी नहीं गया ,क्योंकि सरकार का दबाव इतना था उनके ऊपर कि उनको तुरंत सस्पेंड कर दिया। तो इसलिए सरकार का जो डबल स्टैंडर्ड है, एक सदस्य के लिए एक और दूसरे के लिए दूसरी नीति। इसका हम खंडन करते हैं। On the question whether the Congress Party is ready for discussion on mob lynching, Shri Kharge asked why the Members were suspended, they were insisting for mob lynching that is why they were suspended. If she allows all the Members and gives us the time, we will start now only. We are ready.
एक प्रश्न पर कि आपको क्या लगता है कि ये सरकार ने पक्षपात के तहत किया है, श्री खड़गे ने कहा कि नहीं-नहीं हम पक्षपात की बात नहीं कर रहे हैं, मैं रूल बता रहा हूं कि एक सदस्य के साथ क्या हुआ और दूसरे के साथ क्या हुआ और खास कर के स्पीकर के ऊपर दबाव डाला गया। मेरे साथ सिंधिया जी भी थे और दूसरे मैंबर और मैं विटनेस हूं, 6-7 लोग मिलकर ये कह रहे थे कि एक्शन लेना चाहिए, इनको छोड़ना नहीं चाहिए, ऐसी चीज नहीं होनी चाहिए। जब सरकार का इतना दबाव रहता है तो स्पीकर कहीं ना कहीं ऐसा निर्णय लेते हैं, तो हम उनकी इज्जत करते हैं। वो सीनियर लीडर हैं, लेकिन ये जो रूल के मुताबिक एक के साथ एक निर्णय और दूसरे के साथ दूसरा तो ये सदन के अंदर नहीं होना चाहिए। हम उनके खिलाफ हैं या वो पक्षपात कर रहे हैं, ये नहीं कह रहे हैं। रूलस के मुताबिक चलने का हम निवेदन कर रहे हैं। ये टाइम बिजनेस एडवाईजरी करती है, उसने तो वहाँ पर चीफ-वीप और पार्लियामेंटरी अफेयर मिनिस्टर रहते हैं। वो बोलते हैं जल्दी-जल्दी लो, वो तय करते हैं, दबाव डालते हैं और कोई भी स्पीकर होते हैं, कभी दूसरे सदस्य भी आकर स्पीकर की कुर्सी पर बैठते हैं। तो उस समय ऐसा होता है। मैं उनके ऊपर यानी जो स्पीकर ने निर्णय लिया है, ये उनकी मर्जी है। लेकिन मैं आपको रूलस बता रहा हूं। 
 

खबरी दुनिया 
---''श्री रामनाथ कोविंद के देश के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की खबर आज के अखबारों की पहली सुर्खी है। हिंदुस्‍तान ने श्री रामनाथ कोविंद के पहले संबोधन को दो टूक शीर्षक से लिखा है- देश के आखिरी गांव और आखिरी घर तक पहुंचे विकास। राजस्‍थान पत्रिका की सुर्खी है- देश के प्रथम नागरिक-अभिनंदन। जनसत्‍ता लिखता है- राष्‍ट्रपति कोविंद ने दिया संविधान की रक्षा का वचन।''---
 

---''तमिलनाडू के सभी स्‍कूलों में वंदेमातरम अनिवार्य- दैनिक जागरण की पहली सुर्खी है। इसी संदर्भ में दैनिक ट्रिब्‍यून ने भी मद्रास उच्‍च न्‍यायालय का आदेश दिया है- वंदे मातरम जरूर गाएं, हिंदी- बांगला में दिक्‍कत हो तो अनुवाद कराएं।''---
 

---''10 दिन के लिए एनआईए की हिरासत में भेजे गए सातों अलगाववादी नेता- जनसत्‍ता की पहली खबर है।''---
 

---''प्रसिद्ध वैज्ञानिक और शिक्षाविद प्रोफेसर यशपाल का निधन आज अनेक अखबारों के पहले पन्‍ने पर है।''---
 

---''अमर उजाला ने सहारा प्रमुख सुब्रत राय को उच्‍चतम न्‍यायालय का निर्देश दिया है- सहारा जमा कराए 1500 करोड़ रुपए।''---
 

---''दैनिक ट्रिब्‍यून ने करगिल दिवस पर लिखा है- जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी। दैनिक भास्‍कर ने वायुसेना प्रमुख बी. एस. धनोवा द्वारा पहली बार करगिल युद्ध के अनुभव साझा किए जाने को सबसे ऊपर दिया है।''---
 

---''जनसत्‍ता लिखता है- दिल्‍ली में जुलाई की विदाई में झमाझम बरसेंगे बदरा।''---
 

---''तुसाद संग्रहालय में बिखरेगी मधुबाला की मुस्‍कान- दैनिक जागरण के अंतिम पृष्‍ठ पर है।''---
 

राजस्थान समाचार विशेष    


करगिल विजय दिवस पर विरांगनाओं का सम्मान
देश के लिए शहादत देने में हमेशा आगे रहे हैं राजस्थान के रणबांकुरे - मुख्यमंत्री
जयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि राजस्थान वो प्रदेश है जहां के सैनिकों ने अपनी जान देकर देश की सुरक्षा को आंच तक नहीं आने दी। मुझे ऎसे प्रदेश की मुख्यमंत्री होने पर गर्व है जहां मातृ भूमि की रक्षा की खातिर जान की बाजी लगाने वाले सैनिक पैदा होते हैं। श्रीमती राजे बुधवार को करगिल विजय दिवस के अवसर पर होटल क्लाक्र्स आमेर में आयोजित राइजिंग राजस्थान कार्यक्रम में सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि राजस्थान के जवानों ने करगिल की चोटी पर विजयी तिरंगा फहराया था। प्रदेश ही नहीं पूरे देश को इस पर गर्व है। राजस्थान की मिट्टी ही ऎसी है कि यहां रणबांकुरे पैदा होते हैं। यहां की विरांगनाएं पति की शहादत के बाद अपने बेटे को भी सैनिक बनाकर सीमा पर भेजने और उसमें देश भक्ति का भाव भरने में हमेशा आगे रही हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि करगिल युद्ध के दौरान केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री के रूप में उन्हें शहीद जवानों के घर जाने और उनकी वीरांगनाओं के दर्द को समझने का पुनीत अवसर मिला। उन्होंने कहा कि राजस्थान के हर जिले में जाने का उन्हें मौका मिला जहां के जांबाजों ने देश के लिए शहादत दी थी। हमारे जवानों की शहादत को देश ने पूरा सम्मान दिया ताकि उनके परिजनों को यह अहसास रहे कि सैनिकों की शहादत व्यर्थ नहीं गई है।  श्रीमती राजे ने कहा कि हमारी सरकार पूरे प्रदेश में शहीद यात्रा के माध्यम से शहीदों के घर-घर जाकर उनके दुख-दर्द सुन रही है उन्हें दूर करने के प्रयास किए जा रहे हैं। शहीद यात्रा जिस घर तक पहुंचती है वहां शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद परिजनों को शॉल ओढ़ाकर उनका सम्मान किया जाता है। उन्होंने कहा कि ईटीवी राजस्थान और नेटवर्क-18 समूह ने करगिल विजय दिवस के मौके पर राइजिंग राजस्थान कार्यक्रम के माध्यम से उन वीर सपूतों को सच्ची श्रद्धांंजलि देने का कार्य किया है जिन्होंने देश की रक्षा में अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। इस कार्यक्रम ने शहीदों के स्वाभिमान, उनके गर्व और अभिमान को आगे बढ़ाने का कार्य किया है।  मुख्यमंत्री ने करगिल के हीरो नायक दिगेन्द्र कुमार, जांबाज श्री अरशद अली, श्री इकराज नबी की बहादुरी को सलाम किया और कार्यक्रम में उपस्थित करगिल शहीदों के परिजनों को भी प्रणाम किया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से डटकर मुकाबला करने वाले सीआरपीएफ के जांबाज चेतन चीता की बहादुरी की भी मिसाल दी। 
श्रीमती राजे ने करगिल के शहीदों की विरांगनाओं का शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया। इस अवसर पर सार्वजनिक निर्माण एवं परिवहन मंत्री श्री यूनुस खान, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री काली चरण सराफ, वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर, नगरीय विकास मंत्री श्री श्रीचंद कृपलानी, सांसद श्री रामचरण बोहरा, राज्य वित्त आयोग की अध्यक्ष डॉ. ज्योति किरण सहित गणमान्य जन उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरूआत में न्यूज-18 नेटवर्क के सीईओ एवं ग्रुप एडिटर-इन-चीफ श्री राहुल जोशी ने मुख्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों का स्वागत किया। न्यूज-18 के गु्रप एडिटर श्री भूपेन्द्र चौबे ने इंटरेक्टिव सेशन में राजस्थान में हो रहे नवाचारों के बारे में मुख्यमंत्री से चर्चा की। 

                 

अतिवृष्टि प्रभावित लोगों तक राहत पहुंचाना सर्वोच्च प्राथमिकता- मुख्यमंत्री
जयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि अतिवृष्टि प्रभावित लोगों तक तुरंत राहत एवं मदद पहुंचाना इस वक्त राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने निर्देश दिए कि राहत एवं बचाव में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाए और कोई भी सूचना मिलने पर राहत के लिए तुरंत कार्यवाही की जाए।  मुख्यमंत्री सिरोही, जालोर तथा पाली जिलों सहित प्रदेश में आपदा प्रबंधन एवं बाढ़ नियंत्रण के लिए किए जा रहे बचाव एवं राहत कार्यों की बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रही थीं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, नेशनल डिजास्टर रेस्पोंस फोर्स (एनडीआरएफ) एवं राज्य डिजास्टर रिसपोंस फोर्स (एसडीआरएफ) के साथ मिलकर समन्वित प्रयास करे ताकि भारी बारिश से उत्पन्न होने वाले हालात में जान-माल का नुकसान रोका जा सके। उन्होंने जिला कलक्टरों से अब तक किए गए रेसक्यू अपरेशन, कार्यरत टीमों, सूचना तंत्र, बचाए गए लोगों, बांधों एवं तालाबों की स्थिति सहित भारी बारिश से पैदा हुए हालातों से निपटने के लिए किए गए उपायों की जानकारी ली। श्रीमती राजे ने जोधपुर संभागीय आयुक्त श्री रतन लाहोटी को निर्देश दिए कि राहत एवं बचाव कार्यों तथा परिस्थितियों को सामान्य करने के लिए सम्भाग में जहां भी आवश्यकता हो वहां वरिष्ठ तथा प्रशासनिक अधिकारियों को तुरंत भेजा जाए। उन्होंने सिरोही, जालोर तथा पाली जिला कलक्टरों को मृत मवेशियों का निस्तारण शीघ्रता से करवाने के निर्देश भी दिए ताकि किसी प्रकार की महामारी फैलने की आशंका पैदा नहीं हो। मुख्यमंत्री ने तीनों जिलों में अब तक किए गए अतिवृष्टि राहत तथा बचाव कार्यों के लिए एनडीआरएफ, एसडीआरएफ तथा सेना की सराहना की। उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी, विद्युत तथा सार्वजनिक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं प्रमुख सचिवों को निर्देश दिए कि अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में पूरी सजगता एवं सक्रियता से आपात स्थितियों से निपटने के लिए तैयार रहें। 


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजविकास की दूसरी बैठक
विकास परियोजनाएं समय पर पूरी करने के लिए बने स्टैण्डर्ड ऑफ
प्रोसिजर - मुख्यमंत्री
जयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने सड़क निर्माण, पेयजल, सिंचाई जैसी जनहित की महत्वपूर्ण विकास परियोजनाओं के लिए सम्बन्धित विभागों को स्टैण्डर्ड ऑफ प्रोसिजर निर्धारित करने के निर्देश दिए हैं ताकि इन परियोजनाओं को निश्चित समयावधि में पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि विकास परियोजनाओं में विलम्ब न हो इसके लिए डीपीआर तैयार होने के समय से ही वन, पर्यावरण सहित सभी आवश्यक स्वीकृतियां प्राप्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जानी चाहिए।  श्रीमती राजे बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए विभिन्न विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिवों, प्रमुख शासन सचिवों, शासन सचिवों, संभागीय आयुक्तों एवं जिला कलक्टरों के साथ विकास परियोजनाओं की समीक्षा कर रही थीं। श्रीमती राजे ने परियोजनाओं एवं आमजन की समस्याओं के प्रभावी निराकरण की समीक्षा के लिए राज विकास के नाम से अभिनव पहल की है, जिसके अंतर्गत वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से यह दूसरी बैठक आयोजित की गई।  वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्य सचिव श्री अशोक जैन, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त श्री डीबी गुप्ता सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।    

                                          
चित्तौड़गढ़ सांसद ने रेलमंत्री से मुलाकात कर  उदयपुर-हरिद्वार ट्रेन के लिये आभार प्रकट किया
जयपुर,    चित्तौड़गढ़ सांसद एवं रेल संबधी स्थायी समिति के सदस्य श्री सी.पी. जोशी ने बुधवार को रेलमंत्री श्री सुरेश प्रभु से नइ दिल्ली में रेल मंत्रालय में मुलाकात कर संसदीय क्षेत्र में रेलवे से सम्बधी विभिन्न विषयों पर चर्चा की। सांसद श्री जोशी ने इस ट्रेन के भुपालसागर स्टेशन पर ठहराव की मांग की इसके साथ ही मेंवाड़-वागड़ के लोगों को अमृतसर जैसी पवित्र जगह पर जाने के लिये सुदुर अजमेर अथवा सड़क मार्ग पर निर्भर नही रहना पडे इसके लिये अमृतसर-अजमेर ट्रेन का विस्तार उदयपुर तक करने की मांग की। साथ में बिहार के साथ साथ आस्था से जुडे़ केन्द्रों काशी (वाराणसी), आयोध्या, मथुरा, आगरा, लखनऊ, कानपुर जाने के लिये पटना-कोटा ट्रेन का विस्तार उदयपुर तक करवाने की मांग की।
दक्षिण भारत को मेंवाड़ से जोड़ने के लिये चित्तौड़गढ़-चैन्नई के मध्य हमसफर ट्रेन चलाने की मांग की जिससे सुदूर दक्षिण भारत में जाने के लिये यहॉ के निवासियों को आसान व सुविधाजनक साधन उपलब्ध हो पायेगा, इसके साथ सप्ताह में 3 दिन चलने वाली बान्द्रा-उदयपुर ट्रेन को प्रतिदिन करने की भी मांग की। सांसद श्री जोशी की विशेष मांग पर धाकड़ो का खेड़ा(लुणदा भीण्डर) एवं आस-पास के किसानों को कृषि कार्य के लिये रेल्वे लाइन के आर-पार होकर पाइप लाइन के लिये 5 लाख की राशि बैंक गारंटी के रूप में पूर्व में रेल्वे द्वारा मांगी गई थी। किसानों के हितों के देखते हुये इस राशि में पूर्ण रूप से छूट प्रदान कर दी गई हैं, इसके लियें सांसद ने रेलमंत्री का विशेष आभार व्यक्त किया।  सांसद श्री जोशी ने मावली-बड़ीसादडी रेलमार्ग पर रेल्वे स्टेशन वल्लभनगर व खेरोदा के मध्य भटेवर के पास जो कि राष्ट्रीय राजमार्ग सख्ंया 76 से क्रास होता वहॉ ब्रिज के पास नवीन रेलवे स्टेशन स्थापित करने की भी मांग की।
 

ग्रामीण क्षेत्र में पट्टा लेने का एक और मौका
पट्टा वितरण अभियान का मेगा फॉलो-अप शिविर 27 31 को

जयपुर,     पं. दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण पट्टा अभियान के तहत मेगा फॉलो-अप शिविर समस्त पंचायत समिति स्तर पर 27 31 जुलाई, 2017 को आयोजित किये जायेंगे। 
पंचायती राज विभाग के शासन सचिव श्री नवीन महाजन ने बताया कि ग्रामीण पट्टा वितरण अभियान के तहत ग्राम पंचायतों में लम्बित आवेदनों का निस्तारण करने के साथ अन्य पात्र व्यक्तियों को पट्टे वितरित किये जायेंगे। जो पात्र व्यक्ति पट्टा लेने से छूट गये हैं उन्हें एक और मौका दिया गया है, वो पंचायत समिति स्तर पर आयोजित मेगा फॉलो-अप शिविरों में उपस्थित होकर पट्टा बनवा सकते हैं।


पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ का 79 वां डिकॉय ऑपरेशन
मध्यप्रदेश के गुना के झोलाछाप डॉक्टर  भ्रूण लिंग परीक्षण मामले में गिरफ्तार

जयपुर    राज्य पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ ने मंगलवार को 79 वां डिकॉय ऑपरेशन करते हुए भू्रण लिंग जांच एवं अनाधिकृत रूप से गर्भसमापन में लिप्त मध्यप्रदेश के गुना जिले के विकासनगर निवासी झोलाछाप चिकित्सक इरसाद को गिरफ्तार किया। उल्लेखनीय है कि पीसीपीएनडीटी दल की यह मध्यप्रदेश में दूसरी एवं अब तक की 19वीं इंटरस्टेट डिकॉय कार्यवाही है। इस वित्तीय वर्ष में अब तक कुल 25 सफल डिकॉय ऑपरेशन कर आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा चुका है।  अध्यक्ष, राज्य समुचित प्राधिकारी एवं मिशन निदेशक एनएचएम श्री नवीन जैन के निर्देशन में इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया। श्री जैन ने बताया कि पड़ौसी राज्य मध्यप्रदेश के गुना में झोलाछाप चिकित्सक इरशाद द्वारा सीमावर्ती बारां व झालावाड़ जिले की गर्भवती महिलाओं की गर्भस्थ शिशु की लिंग जांच करवाकर अनाधिकृत रूप से गर्भ समापन करवाने की सूचना प्राप्त हो रही थी। सूचना की पुष्टि के बाद डिकॉय ऑपरेशन की रूपरेखा तैयार की गयी।  श्री जैन ने बताया कि निर्धारित रणनीति के अनुसार डिकॉय महिला और सहयोगी को बोगस ग्राहक बनाकर झोलाछाप चिकित्सक व दलाल इरशाद के निजी क्लिनिक पर भेजा गया। भू्रण लिंग जांच हेतु तय 20 हजार की राशि तय कर गुना में ही स्थित कंचन मेडिकेयर एंड रिसर्च सेंटर पर सोनोग्राफी करवाने हेतु भेजा और सोनोग्राफी करवाने के बाद वापिस अपने क्लीनिक पर बुलाया। उन्होंने बताया कि सोनोग्राफी सेन्टर के चिकित्सक द्वारा बोगस ग्राहक की सामान्य सोनोग्राफी कर सोनोग्राफी रिपोर्ट गर्भवती महिला को दे दी गयी। उन्होंने बताया कि गर्भवती महिला ने रिपोर्ट वापिस आकर दलाल झोलाछाप चिकित्सक को क्लिनिक पर दिखायी गयी और उसने भू्रण लिंग के बारे में जानकारी डिकॉय महिला को दी।  श्री जैन ने बताया कि राज्य पीसीपीएनडीटी टीम को इशारा मिलते ही दलाल झोलाछाप चिकित्सक के कब्जे से हू-बू-ह नम्बरी राशि जब्त कर 20 हजार रूपये के नोट बरामद किये गये। तथा दलाल को गिरफ्तार कर लिया। दलाल से डिकॉय टीम द्वारा विस्तृत पूछताछ के बाद बताया कि गर्भवती महिला की सामान्य सोनोग्राफी करवाकर स्वयं मनगढंत रूप से लिंग सूचना देना पाया गया। 


जोधपुर जिला प्रभारी मंत्री ने वर्षा की स्थिति की जानकारी ली 
जयपुर,   जोधपुर जिला प्रभारी व जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री श्री सुरेन्द्र गोयल मंगलवार को मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे के निर्देश पर जोधपुर पहुंचे व सर्किट हाऊस में जिला प्रशासन से वर्षा की स्थिति व व्यवस्थाओं की जानकारी ली।  श्री गोयल ने जिला कलेक्टर डा0 रविकुमार सुरपुुर से जोधपुर जिले में अब तक हुई वर्षा की जानकारी ली व जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली। प्रभारी मंत्री ने कहा कि वैसे तो जोधपुर में बारिश के हालात ठीक है, जलप्लावन की स्थिति नहीं है तो भी जिला प्रशासन बारिश के मौसम में अत्यधिक वर्षा होने की स्थिति से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम रखें।  जिला कलेक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर ने जिला प्रभारी मंत्री को बताया कि जोधपुर जिले में बारिश की स्थिति ठीक है। यहां पर अभी तक 310 एम एम वर्षा इस मानसून में हुई है। जुलाई में 135 एम एम वर्षा अब तक हुई है। यहां स्थिति सामान्य है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन अत्यधिक वर्षा की स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने प्रशासन द्वारा की गई तैयारियों की जानकारी दी। इस मौके अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री मानाराम पटेल व पी एच ई डी के मुख्य अभियंता श्री जयसिंह चौधरी व श्री आर के विश्नोई सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


प्रभावित व्यक्ति तक तुरंत पहुंचे राहत, राज्य सरकार हर जरूरी मदद के लिए तैयार

 : सिरोही जिला प्रभारी मंत्री
जयपुर,   ग्रामीण  विकास एवं पंचायती राज मंत्री एवं सिरोही जिला प्रभारी ने जिले में आपदा प्रबंधन एवं बाढ़ नियंत्रण के लिए किए गए बचाव एवं राहत कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि हर प्रभावित व्यक्ति तक तुरंत राहत पहुंचनी चाहिए। आपदा की स्थिति में कोई भी मदद के अभाव में भूखा-प्यासा नहीं रहना चाहिए। राज्य सरकार हर जरूरी मदद करने के लिए तत्पर है। श्री राठौड़ मंगलवार को सिरोही जिला कलक्ट्रेट सभागार में जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में भारी बारिश से पैदा हुए हालातों से निपटने के लिए किए गए उपायों की समीक्षा कर निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने जिला कलक्टर संदेश नायक से अब तक किए गए रेसक्यू ऑपरेशन, कार्यरत टीमों, सूचना तंत्र, बचाए गए लोगों, बांधों एवं तालाबों की स्थिति, भावी रणनीति सहित की गई सम्पूर्ण कार्यवाही की जानकारी लेते हुए संतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अतिवृष्टि प्रभावित लोगों के प्रति गंभीर एवं चिंतित है। समय रहते हर जरूरतमंद तक मदद पहुंचनी चाहिए। कोई भी जरूरत होने पर प्रशासन बताएं। सरकार हर प्रकार की सहायता करने के लिए तैयार है, लेकिन राहत एवं बचाव में किसी प्रकार की ढिलाई नहीं रहनी चाहिए। हमारी पहली प्राथमिकता जान-माल के नुकसान से बचाना है। 


शिक्षा में सामाजिक सहभागिता के लिए करें दान - श्री देवनानी
अजमेर में शिक्षा राज्यमंत्राी एवं जिला कलक्टर ने किया हस्ताक्षर अभियान व अक्षय दान पेटी का शुभारम्भ
अजमेर, (उत्कर्ष मिश्रा)    शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि भारतीय समाज प्राचीनकाल से ही शिक्षा के उत्थान के लिए सहयोग करने वाली संस्कृति को पोषित करता है। शिक्षा राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कलेक्ट्रेट में आयोजित पत्राकार वार्ता में योजना की जानकारी दी। उन्होंने जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल के साथ हस्ताक्षर अभियान एवं विद्यालयों में रखी जाने वाली दान पेटिका का शुभारम्भ किया। श्री देवनानी एवं श्री गोयल ने अक्षय दान पेटिका में 11-11 हजार रूपए का दान देकर योजना की शुरूआत की। श्री देवनानी ने कहा कि इस पोर्टल एवं कोष का मुख्य उदेश्य राजकीय विद्यालयों की मूलभूत आवश्यकताओं एवं प्राथमिकताओं के अनुसार सीएसआर, भामाशाहों, संस्थाओं व क्राउड फंडिंग के माध्यम से आवश्यक धनराशि का संग्रहण व प्रबंधन करना एवं विद्यालयों के विकास हेतु विभिन्न प्रोजेक्ट्स हेतु दानदाताओं का सहयोग प्राप्त करना एवं विद्यालयों से जुडाव पैदा करना है।उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बनाया जा रहा यह पोर्टल मूलभूत आवश्यकताओं के लिए फंडिंग गेप को कम करने मे मददगाार साबित होगा।  राजस्थान में शिक्षा, स्वास्थ्य, धर्मशाला और ऐसे ही अन्य कई सेवा क्षेत्रा है जहां लोगों ने दिल खोलकर दान दिया है। हमारे मानवीय मूल्य भी हमे सिखाते हैं कि हम शिक्षा के उत्थान के लिए अपना सर्वेश्रेष्ठ सहयोग करें। उन्होंने कहा कि दान का भाव राशि से बड़ा होता है।  इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अबु सूफियान चैहान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।                                                                                                          

 

 सशक्त लोकायुक्त, संपूर्ण शराब बंदी जरुरी है - पूनम अंकुर छाबडा
जयपुर   संपूर्ण शराब बंदी और सशक्त लोकायुक्त आन्दोलन जस्टिस फॉर छाबडा  की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबडा ने एक प्रेस नॉट जारी कर बताया की उनके पिताजी पूर्व विधायक हुतात्मा श्री गुरुशरण जी छाबडा ने जीवन भर शराब बंदी और सशक्त लोकायुक्त के लिए संघर्ष किया और बार बार सरकार को सशक्त लोकायुक्त पर सारगर्भित सुझाव दिए, जिसे सरकार आज भी नकार तो नहीं रही पर लागू न कर प्रदेश को भ्रष्टाचार में डूबो रही है। वंही संपूर्ण शराब बंदी पर भी सरकार की ढुलमुल नीति दुखदाई है और आम जन इन समस्याओं से बुरी तरह दुखी है।  प्रदेश के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे है, सरकार की गलत नीतियों और कमजोर सिस्टम के चलते भ्रष्टाचारियों के हौसंले बुलंद है, प्रदेश में ऐसा कोई दिन नहीं होता जब भ्रष्टाचार के मामले सामने न आते हो, चारों और भ्रष्टाचार रुपी नाग पैर पसार चूका है और आम जन किसी भी सरकारी विभाग में बिना रिश्वत दिये कोई काम नहीं करा सकता। आज भी एक अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ़्तार हुए है यह बड़े ही शर्म की बात है। आज कॉलेजों तक में खुलेआम शराब का प्रभाव बढ़ चूका है, कॉलेज परिसर में शराब पीना व मिलना यह सरकार की गलत नीतियों का परिणाम है और आने वाले समय में छात्र संघ चुनाव है और चुनावो में खुलेआम शराब का वितरण चुनावो में देखने को मिलता रहा है समय रहते सरकार को इस और कठोर कदम उठाने चाहिए।  मिडिया में प्रकाशित ख़बर के माध्यम से यह साफ़ हो गया है की राज्य सरकार अवैध शराब के कारोबार को रोकने में असफल है और माफ़िया के माध्यम से पुरे प्रदेश में अवैध शराब का प्रभाव बढ़ चुका है और इस सब में राज्य सरकार सहयोगी भूमिका में नजर आ रही है। राज्य सरकार के साथ हुई बैठकों में शराब बंद ना होने के प्रमुख दो कारण दिए जाते है जिनमे राजस्व व माफ़िया द्वारा अवैध शराब का कारोबार बताया जाता है जबकि आज प्रदेश के हर कोने कोने में शराब का ठेका होने के बावजूद प्रदेश सरकार अवैध शराब को नहीं रोक पा रही दूसरी तरफ़ प्रदेश्वासियों की मेहनत की कमाई से शराब रूपी ज़हर पिलाकर उससे प्राप्त होने वाले राजस्व की चिंता का व्याख्यान हमेशा करती है मगर प्रदेश्वासियों के घर परिवार की आय से सरकार को कोई सरोकार नहीं है।  जस्टिस फॉर छाबडा जी संगठन राज्य सरकार से आशा रखता है की जल्द ही प्रदेश के ख़ुशहाल भविष्य के लिए शराबबंदी व सशक्त लोकायुक्त लागू करें नहीं तो संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबड़ा के नेतृत्व में नयी रणनीति के साथ आंदोलन किया जाएगा।
 

 

खेल-जगत    
*विश्‍व तैराकी चैंपियनशिप में कनाडा की काइली मैस्‍से ने महिलाओं की 100 मीटर बैकस्‍ट्रोक में नए विश्‍व रिकार्ड के साथ स्‍वर्ण पदक जीता है। अमरीका की कैथलीन बेकर ने रजत जबकि आस्‍ट्रेलिया की एमिली सीबॉह्म ने कांस्‍य पदक जीता।

 

 27 जुलाई, 2017

 

 

बुधवार को कैसा रहा शेयर बाजार

सेंसेक्स 154 अंक बढ़कर 32382 पर बंद, मेटल इंडेक्स सर्वाधिक बढा
> बीएसई के सेंसेक्स बुधवार दिनांक 26 जुलाई, 2017 को पिछले कारोबारी दिन के 32228.27 अंकों के बंद मुकाबले 154.19 अंकों की बढ़त दर्ज की गयी। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 32255.99अंकों पर खुला जो ऊपर में 32413.63 अंकों तक जाकर तथा नीचे में 32226.08 अंकों तक आकर अंतत: 0.48 प्रतिशत बढ़कर 32382.46 अंकों पर बंद हुआ। >
> बीएसई में बुधवार को मार्केट कैपिटलाइजेशन 132.47 लाख करोड़ रु. रहा।
> एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स की 22 कंपनियां बढ़ी तथा 8 कंपनियां घटी।
> आज ब्राड बेस्ड सूचकांकों में एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 50- 0.60 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई-100 सूचकांक 0.48 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई मिडकैप- 0.18 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- स्मालकैप सूचकांक 0.28 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 200 सूचकांक 0.45 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 500 सूचकांक 0.43 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- ऑलकैप सूचकांक 0.45 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- लार्जकैप सूचकांक 0.54 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप सेलेक्ट- 0.15 प्रतिशत बढ़े जबकि एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स नेक्स्ट 50- 0.13 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई मिडकैप सेलेक्ट इंडेक्स- 0.02 प्रतिशत घटे।
> सस्टेनेबिलिटी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई कार्बनएक्स- 0.54 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई ग्रीनएक्स- 0.54 प्रतिशत बढ़े।
> थिमेटिक्स इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडेक्स 0.41 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई पीएसयू 0.07 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई सीपीएसई 0.34 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफेक्चरिंग इंडेक्स 0.71 प्रतिशत बढ़े ।
> स्ट्रेटेजी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई आईपीओ 1.05 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई एसएमई आईपीओ 0.17 प्रतिशत घटे । <br> <br>
> सेक्टरल सूचकांकों मे सर्वाधिक बढ़नेवाले 5 सूचकांक मेटल (1.74 प्रतिशत), यूटिलिटीज (0.91 प्रतिशत), कैपिटल गुड्स (0.89 प्रतिशत), हेल्थकेअर (0.80 प्रतिशत) और बैंकेक्स (0.74 प्रतिशत) रहे।।
> सेक्टरल सूचकांकों मे घटनेवाले सूचकांक टेलिकॉम (0.39 प्रतिशत), टेक (0.37 प्रतिशत) और आईटी (0.20 प्रतिशत) रहे।।
> सेंसेक्स में बढ़नेवाली कंपनियों में टाटा स्टील (2.22 प्रतिशत), सनफार्मा (2.08 प्रतिशत), आईसीआईसीआई बैंक (2.07 प्रतिशत), महिंद्रा एंड महिंद्रा (1.94 प्रतिशत), सिपला (1.82 प्रतिशत), हिंदुस्तान यूनिलीवर (1.79 प्रतिशत), एनटीपीसी (1.19 प्रतिशत), रिलायंस (1.16 प्रतिशत), मारुति (0.84 प्रतिशत), अदानी पोर्ट्स (0.83 प्रतिशत), लार्सन (0.74 प्रतिशत), आईटीसी (0.69 प्रतिशत) और डॉ. रेड्डीज लैब (0.61 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
सेंसेक्स में घटनेवाली कंपनियों में एक्सिस बैंक (2.90 प्रतिशत), एशियन पेंट्स (1.43 प्रतिशत), टीसीएस (0.62 प्रतिशत), भारती एयरटेल (0.32 प्रतिशत) और बजाज ऑटो (0.24 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> बुधवार को कुल 179 कंपनियों पर ऊपर का तथा 164 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा, जिनमें ``बी'' ग्रुप की 21 कंपनियों पर ऊपर का एवं ``बी'' ग्रुप की 13 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा।
> बीएसई पर कुल 2861 स्क्रिपों के सौदे हुए, जिनमें 1362 शेयरों के भाव बढ़े, 1324 शेयरों के भाव घटे और 175 शेयरों के भाव यथावत रहे।
आज इक्विटी में कुल 4,052.80 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें 38.79 करोड़ शेयरों के लिए 14.78 5लाख सौदे हुए।
> आज बीएसई और एनएसई में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने कुल 5,423.43 करोड़ रु. की खरीदारी की और 5,156.22 करोड़ रु. की बिकवाली की। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कुल 3,544.97 करोड़ रु. की खरीदारी की और 2,868.36 करोड़ रु. की बिकवाली की।
> बुधवार को बीएसई में करंसी डेरिवेटिव्स में कुल 16,554.38 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें यूएस डॉलर-रुपये (फ्यूचर्स) में 5,484.03करोड़ रुपये और यूएस डॉलर -रुपये (ऑप्शन्स) में 10,138.74 करोड़ रुपये का कामकाज हुआ।

 

श्री रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्‍ट्रपति बने

प्रधान न्‍यायाधीश जे एस खेहर ने संसद के केन्‍द्रीय कक्ष में भव्‍य समारोह में उन्‍हें पद की शपथ दिलाई
श्री रामनाथ कोविंद ने भारत के 14वें राष्‍ट्रपति का पदभार संभाल लिया है। उन्‍हें आज संसद के केन्‍द्रीय कक्ष में आयोजित भव्‍य समारोह में प्रधान न्‍यायाधीश जे एस खेहर ने पद की शपथ दिलाई। उन्‍हें 21 तोपों की सलामी दी गई। श्री कोविंद, श्री के आर नारायण के बाद दूसरे दलित राष्‍ट्रपति बने हैं। शपथ ग्रहण समारोह में निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्‍ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी तथा उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी, पूर्व प्रधानमंत्री-मनमोहन सिंह तथा एच डी देवगौडा, वरिष्‍ठ भाजपा नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी, भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी तथा अन्‍य दलों के नेता, सांसद और समाज के विभिन्‍न वर्गों से गणमान्‍य व्‍यक्ति उपस्थित थे। राष्‍ट्रपति श्री कोविंद ने शपथ ग्रहण के बाद अपने संबोधन में कहा कि 21वीं सदी का भारत प्राचीन मूल्‍यों का पालन करते हुए चौथी औद्योगिक क्रांति प्रोत्‍साहित करेगा । उन्‍होंने कहा कि भारत को परम्‍पराओं तथा प्रोद्योगिकी और प्राचीन भारत तथा आधुनिक भारत के वैज्ञानिक ज्ञान के साथ आगे बढ़ना होगा।  21वीं सदी का भारत ऐसा भारत होगा जो हमारे पुरातन मूल्‍यों के अनुरूप होने के साथ ही चौथी औद्योगिक क्रांति को भी विस्‍तार देगा। इसमें न कोई विरोधाभास है और न ही किसी तरह के विकल्‍प का प्रश्‍न उठता है, हमें अपनी परंपरा और प्रौद्योगिकी, प्राचीन भारत विज्ञान और समकालीन भारत के विज्ञान का साथ लेकर चलना है।  राष्‍ट्रपति ने कहा कि राष्‍ट्रों का निर्माण केवल सरकारों से नहीं होता बल्कि उसमें समाज की उद्यमशीलता और उसकी रचनात्‍मक प्रवृत्ति का भी योगदान होता है और देश का हर नागरिक राष्‍ट्र निर्माता है। उन्‍होंने कहा कि भारत का आर्थिक शक्ति और नैतिकता का आदर्श उदाहरण के रूप में करने की आवश्‍यकता है।

 

 

राष्‍ट्रपति ने कहा राष्‍ट्र निर्माण केवल सरकारों से ही नहीं होता बल्कि इसमें समाज की उद्यमशीलता और रचनात्‍मकता का योगदान होता है     

राष्‍ट्र निर्माण अकेले सरकारों द्वारा नहीं किया जाता, सरकार सहायक हो सकती है, वो समाज के उद्यमी और रचनात्‍मक प्रवृतियों को दिशा दिखा सकती है, प्रेरक बन सकती है। राष्‍ट्र निर्माण का आधार है राष्‍ट्रीय गौरव। हमें गर्व है भारत की मिट्टी और पानी पर। हमें गर्व है भारत की विविधता, सर्वधर्म सम्‍भाव और समावेशी विचारधारा पर, हमें गर्व है भारत की संस्‍कृति, परंपरा एवं अध्‍यात्‍म पर। हमें गर्व है देश के प्रत्‍येक नागरिक पर। हमें गर्व है अपने कर्तव्‍यों के निर्वहन पर। श्री कोविंद ने कहा कि देश की सफलता उसकी विवधिता में है और यह उसे अनूठा बनाती है। उन्‍होंने कहा कि भारत में विभिन्‍न राज्‍य, क्षेत्र, धर्म, भाषाएं, संस्‍कृति, जीवनशैली बहुत कुछ है। उन्‍होंने कहा कि आज दुनिया में भारत की आवाज सुनी जाती है। पूरी दुनिया आतंकवाद , मनी लांड्रिंग और जलवायु परिवर्तन जैसी अंतर्राष्‍ट्रीय समस्‍याओं के समाधान के लिए भारत की ओर देख रही है। उन्‍होंने कहा कि अब जब पूरा विश्‍व एक हो रहा है तो भारत की जिम्‍मेदारियां भी वैश्विक हो गई हैं। विश्‍व समुदाय अंतर्राष्‍ट्रीय समस्‍यों के समाधान के लिए हमारी तरफ देख रहा है। चाहे आतंकवाद हो, कालेधन का लेनदेन हो, या फिर जलवायु परिवर्तन हो। वैश्विक परिदृश्‍य में हमारी जिम्‍मेदारियां भी वैश्विक हो गई हैं। यही भाव हमें, हमारे वैश्विक परिवार से विदेश में रहने वाले मित्रों और सहयोगियों से दुनिया के अलग-अलग क्षेत्रों में रहकर अपना योगदान दे रहे प्रवासी भारतीयों से जोड़ता है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि भारत ने एक राष्‍ट्र के रूप में बहुत कुछ हासिल किया है लेकिन अभी और पाने के लिए तथा बेहतर करने के लिए तेजी से बिना रूके आगे बढने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि इस बात का हमें लगातार ध्‍यान रखना होगा कि हमारे प्रयास से समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े उस व्‍यक्ति के लिए और गरीब परिवार की उस आखिरी बेटी के लिए भी नई संभावनाओं और नये अवसरों के दरवाजे खुलें। 
हमें इस बात का लगातार ध्‍यान रखना होगा कि हमारे प्रयास से समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े उस व्‍यक्ति के लिए और गरीब परिवार की उस आखिरी बेटी के लिए भी नई संभावनाएं और नये अवसरों के द्वार खुले। हमारे प्रयत्‍न आखिरी गांव के आखिरी घर तक पहुंचने चाहिए, इसमें न्‍याय प्रणाली के हर स्‍तर पर तेजी के साथ कम खर्च पर न्‍याय दिलाने वाली व्‍यवस्‍था को भी शामिल किया जाना चाहिए। श्री कोविंद ने कहा कि तेजी से विकसित होने वाली एक मजबूत अर्थव्‍यवस्‍था और समान अवसर देने वाले शिक्षित समाज का निर्माण करना होगा। इससे पहले श्री कोविंद, निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ राष्‍ट्रपति भवन से परम्‍परागत विधि विधान के साथ संसद के केन्‍द्रीय हॉल पहुंचे। शपथ ग्रहण समारोह से पहले वे राजघाट गए और राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री कोविंद का जन्‍म एक अक्‍तूबर 1945 को उत्‍तर प्रदेश के कानपुर देहात‍ जिले के पारौख गांव में हुआ। उन्‍होंने कानपुर कॉलेज से कानून में स्‍नातक डिग्री हासिल की। श्री कोविंद ने सिविल सेवा की परीक्षा पास की लेकिन अलाइड सर्विस में चुने जाने के कारण नौकरी का इरादा छोड़कर वकालत करने लगे। वे 1991 में भाजपा में शामिल हो गए। श्री कोविंद 1998 से 2002 तक पार्टी के दलित मोर्चा के अध्‍यक्ष रहे। वे 1994 से 2006 तक राज्‍यसभा के सदस्‍य रहे।
 प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने श्री रामनाथ कोविंद को राष्‍ट्रपति पद की शपथग्रहण करने पर बधाई  देते हुए  ट्वीट संदेश में श्री मोदी ने कहा कि राष्‍ट्रपति कोविंद का संबोधन बड़ा प्रेरणादायक था। उन्‍होंने भारत की शक्ति, लोकतंत्र और विवधिता के सार को बड़े सुन्‍दर ढंग से प्रस्‍तुत किया।


राष्‍ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह के कारण

संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही दोपहर तक स्‍थगित
संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही राष्‍ट्रपति शपथ ग्रहण समारोह के कारण दोपहर तक स्‍थगित कर दी गई है। लोकसभा की कार्यवाही तीन बजे तक और राज्‍यसभा की दो बजे तक स्‍थगित की गई। लोकसभा की कार्यवाही आज सवेरे शुरू होते ही कांग्रेस सदस्‍य, भीड़ द्वारा पीट पीटकर मारे जाने की घटनाओं पर चर्चा की मांग करते हुए प्रश्‍नकाल स्‍थगित करने की मांग करने लगे। सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने स्‍थगन प्रस्‍ताव पेश किया। उन्‍होंने इसे पढ़ने की कोशिश की लेकिन अध्‍यक्ष ने इसकी अनुमति नहीं दी।


सेना के पास पर्याप्‍त साजो-सामान है: अरूण जेटली
रक्षामंत्री अरूण जेटली ने राज्‍यसभा में आश्‍वासन दिया-देश ने रक्षा से संबंधित सामान की खरीद के क्षेत्र में पर्याप्‍त प्रगति की हैऔर सेना के पास पर्याप्‍त साजो-सामान है। राज्‍यसभा में सदन के नेता और रक्षामंत्री अरूण जेटली ने आश्‍वासन दिया है कि देश ने रक्षा से संबंधित सामान की खरीद और रक्षा तैयारियों के क्षेत्र में पर्याप्‍त प्रगति की है। ऐसा प्रक्रिया को और सरल बनाने तथा अधिकारों के केन्‍द्रीकरण से संभव हुआ है। उन्‍होंने राज्‍यसभा में कहा कि सशस्‍त्र सेनाएं पर्याप्‍त रूप से और कुशलता के साथ साज-सामान से लैस हैं। श्री जेटली ने समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव के एक प्रश्‍न के उत्‍तर में यह जानकारी दी। श्री यादव ने नियंत्रक और महालेखाकार-सीएजी की रिपोर्ट का जिक्र किया, जिसमें कहा गया है कि देश में अस्‍त्र-शस्‍त्र और गोलाबारूद का केवल दस दिनों तक का भण्‍डार है। रक्षामंत्री ने कहा कि 2013 की सीएजी की रिपोर्ट का संबंध एक खास समय से है।


विपक्ष का संसद भवन परिसर में महात्‍मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना व विरोध प्रदर्शन 
लोकसभा से कांग्रेस के छह सदस्‍यों को पांच दिन के लिए निलंबित किये जाने के खिलाफ विपक्षी नेताओं ने संसद भवन परिसर में महात्‍मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना दिया। कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी उनके साथ थे और इन नेताओं ने सरकार के खिलाफ नारे लगाए। उन्‍होंने देश के विभिन्‍न भागों में भीड़ की हिंसक कार्रवाइयों के सिलसिले में सरकार की आलोचना की। जनता दल युनाइटेड के शरद यादव, समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव, राष्‍ट्रीय जनता दल के जयप्रकाश नारायण यादव, तृणमूल कांग्रेस के कल्‍याण बनर्जी और अन्‍य नेता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।


जाने- माने वैज्ञानिक और शिक्षाविद प्रोफेसर यशपाल का निधन
जाने- माने वैज्ञानिक और शिक्षाविद प्रोफेसर यशपाल का कल रात उत्‍तरप्रदेश में नोएडा में उनके आवास पर निधन हो गया। वे 90 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार उनका दाह संस्‍कार आज तीसरे पहर नई दिल्‍ली के लोधी रोड़ शवदाहग़ृह पर किया जायेगा।  प्रोफेसर यशपाल को विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में योगदान के लिए जाना जाता है। विज्ञान से जुड़ी मुश्किल बातों को आसान भाषा और सहज तरीके से समझाने के चलते व विज्ञान के छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय थे। वे दूरदर्शन पर टर्निंग प्‍वाइ्ंट नाम के विज्ञान से संबंधित कार्यक्रम में आते थे और बच्‍चों को विज्ञान के बारे में बताते थे। प्रोफेसर यशपाल को कॉस्मिक किरणों पर रिसर्च के लिए भी जाना जाता है। वे 1986 से 1991 तक विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्‍यक्ष के अलावा जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय में कुलाधिपति रहे। देश के बड़े वैज्ञानिकों में शुमार प्रोफेसर यशपाल को भारत सरकार द्वारा 1976 में पदमभूषण और 2013 में पदम विभूषण से अलंकृत किया गया था प्रधानमंत्री ने प्रोफेसर यशपाल के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है। श्री नरेन्‍द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि प्रोफेसर यशपाल के निधन से देश ने एक प्रतिभाशाली वैज्ञानिक और शिक्षाविद खो दिया है। 
कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

 


स्‍वाधीनता के बाद से भारत नई ऊचांइयों पर :  प्रधानमंत्री 
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि स्‍वाधीनता के बाद से भारत नई ऊचांइयों पर पहुंचा है और यह निश्‍चित है कि 2022 तक वह एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरेगा। श्री मोदी ने आज नई दिल्‍ली में भारतीय जनता पार्टी के संसदीय दल की बैठक में कहा है कि वे विकास के लाभ अंतिम व्‍यक्ति तक पहुंचाने का संकल्‍प लें।
संवाददाताओं से बातचीत में संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्‍वाधीनता के 70 वर्षों की भी चर्चा की और कहा कि इस अवसर पर 9 अगस्‍त से एक सप्‍ताह का समारोह होगा। श्री अनंत कुमार के अनुसार श्री मोदी ने यह भी कहा कि 15 अगस्‍त से 30 अगस्‍त तक राष्‍ट्रव्‍यापी संकल्‍प यात्रा आयोजित की जाएगी।


राजस्थान के कई जिलो में भारी वर्षा से जनजीवन अस्त-व्यस्त 

राजस्थान में जालौर, पाली, सिरोही, जोधपुर और बाड़मेर सहित कई जिलो में भारी वर्षा से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। वर्षा से जुड़ी घटनाओं में सोमवार को  चार लोगों की मृत्यु हो गई। जालौर और सिरोही में दो हजार से अधिक लोगों को बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से सुरक्षित निकाला गया। भारी वर्षा से बाड़मेर और पड़ोसी गुजरात के बीच सड़क संपर्क टूट गया है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बाढ़ प्रभावित जिलों के प्रभारी मंत्रियों और अधिकारियों को बाढ़ग्रस्त इलाकों में जाकर तुरंत राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए हैं। रेल मार्गों पर पानी भर जाने के कारण उत्तर-पश्चिम रेलवे ने तीन रेलगाड़ियां रद्द कर दी हैं और पांच के मार्ग बदले गए हैं। भारी वर्षा की चेतावनी के बाद मंगलवार को  जोधपुर में स्कूल बंद कर दिए गए।
असम में हाल में आई बाढ़ की स्थिति और भूमि कटाव से प्रभावित इलाकों का जायजा लेने के लिए गृह मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव वी शशांक शेखर के नेतृत्‍व में एक अंतर मंत्रालय केन्‍द्रीय दल मंगलवार को  गुवाहाटी गया है। यह दल शुक्रवार तक वहां रहेगा। राज्‍य के मुख्‍य सचिव वी के पेपरसेनिया ने बताया कि बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए आज यह दल उनके साथ बैठक करेगा।
मुंबई में घाटकोपर इलाके में आज सवेरे चालीस साल पुरानी एक चार मंजिला इमारत ढह गई। मलबे में 60 लोगों के दबे होने की आशंका है। चार लोगों को मलबे से निकाला जा चुका है। बृहन् मुम्‍बई महानगर पालिका फायर ब्रिगेड विभाग के प्रमुख पी एस राहंगडाले ने बताया कि बचाव दल, फायर ब्रिगेड जवान और बीएमसी के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी घटनास्‍थल पहुंच चुके हैं और बचाव कार्य युद्धगति पर चालू है। सभी आवश्‍यक एजेंसियों के साथ एम्‍बुलेंस और दमकल घटनास्‍थल पर पहुंच गए थे। सभी घायलों को राजावाडी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। आज सुबह, साईदर्शन नाम बिल्डिंग से थोड़ा धुआं उठता दिखाई दिया और उसके तुरंत बाद की पूरी बिल्डिंग ढह गयी। इस इमारत के तीन मंजिलों पर करीब 20 परिवार रहते थे। 


उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों ने निवर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को विदाई दी
उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों ने सोमवार को निवर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उनके पांच साल के कार्यकाल की समाप्ति पर सोमवार को विदाई दी। प्रधान न्यायाधीश जे.एस. खेहर और अन्य न्यायाधीशों ने उच्चतम न्यायालय परिसर में श्री मुखर्जी के सम्मान में भोज आयोजित किया।


एम वेंकैया नायडू ने भूमि के मामले में गड़बड़ी के आरोपों का खंडन किया
राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन- एनडीए के उपराष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार एम वेंकैया नायडू ने भूमि के मामले में कांग्रेस द्वारा लगाए गए  गड़बड़ी के आरोपों का खंडन किया है। श्री नायडू ने कहा है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश के आरोप पूरी तरह झूठे हैं। उन्‍होंने कहा कि उप राष्‍ट्रपति पद के चुनाव से कुछ दिन पहले इन मुद्दों को उठाया जाना ये साबित करता है कि ये राजनीति से प्रेरित और शरारत भरे हैं।


SC  का सिमी के 8 कार्यकर्ताओं की हत्या की जांच-याचिका पर केंद्र, MP सरकार और CBI को नोटिस
उच्‍चतम न्‍यायालय का भोपाल में सिमी के आठ कार्यकर्ताओं की कथित पुलिस मुठभेड़ में हत्‍या की अदालत की निगरानी में जांच कराने की याचिका पर केन्‍द्र, मध्‍य प्रदेश सरकार और सी बी आई को नोटिस। उच्चतम न्यायालय ने भोपाल में जेल तोड़कर भागे इस्लामिक स्टूडेंट मूवमेंट ऑफ इंडिया-सिमी के आठ कार्यकर्ताओं की कथित पुलिस मुठभेड़ में हत्या की जांच की मांग करने वाली याचिका पर केंद्र, मध्यप्रदेश सरकार और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो- सी.बी.आई. से जवाब मांगा है। याचिकाकर्ता ने इस मुठभेड़ की अदालत की निगरानी में विशेष जांच दल या सी.बी.आई. जैसे स्वतंत्र संगठन से जांच कराने की मांग की है।


इराक सरकार ने कहा- 39 लापता भारतीयों के बारे में कोई ठोस प्रमाण नहीं
भारत की यात्रा पर आए इराक के विदेश मंत्री इब्राहीम अल जाफरी ने कहा है कि उनका देश 2014 में इस्लामिक स्टेट आतंकवादी गुट द्वारा मोसल में बंधक बनाए गये 39 भारतीयों का पता लगाने की पूरी कोशिश करेगा। नई दिल्ली में मीडिया से बातचीत में श्री अल जाफरी ने कहा इन भारतीयों के मारे जाने या उनके जीवित होने के बारे में उनके पास कोई ठोस प्रमाण नहीं है। 

 

संघ मार्कफेड  स्‍कूलों के दोपहर के भोजन के लिए
सहकारी मंडी तुरंत 300 टन आलू की खरीद करे
पंजाब में आलू की खेती करने वाले किसानों को राहत पहुंचाने के लिए मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिन्‍दर सिंह ने राज्‍य की सहकारी मंडी संघ मार्कफेड से कहा है कि वह स्‍कूलों के दोपहर के भोजन के लिए तुरंत 300 टन आलू की खरीद करे। राज्‍यभर में किसान आलू के कम दामों की वजह से संकट का सामना कर रहे हैं।


 खबरी दुनिया 
---''"देश की आत्‍मा में सहिष्‍णुता" -राष्‍ट्रपति के रूप में देशवासियों को अंतिम संबो‍धन में प्रणब मुखर्जी का अहिंसा पर जोर जनसत्‍ता सहित कई अखबारों की सुर्खी है। अमर उजाला लिखता है- हिंसा मुक्‍त समाज हमारी असली ताकत।''---
 

---''बोफोर्स और गोरक्षा के नाम पर हिंसा के मुद्दे पर संसद में हंगामे को अधिकांश अखबारों ने अहमियत दी है। हरिभूमि का कहना है- स्‍पीकर पर उछाले कागज, छह कांग्रेसी नेता सस्‍पेंड।''---
 

---''दैनिक जागरण की सुर्खी है- आतंकी फंडिंग में अलगाववादी नेता गिलानी के दामाद सहित सात गिरफ्तार। वीर अर्जुन के शब्‍द हैं- हुर्रियत पर चला एन आई ए का डंडा।''---
 

---''चीन की फिर धमकी- पहाड़ हिलाना आसान, हमें नहीं- डोकलाम में सीमा विवाद पर चीनी रक्षा मंत्रालय के बयान को राजस्‍थान पत्रिका ने प्रमुखता दी है। वहीं हिन्‍दुस्‍तान ने तीन बार चीन की हेकड़ी ढीली कर चुके भारतीय जवानों के दमखम के बारे में बताया है। ''---
 

---''अमर उजाला ने अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्राकोष के हवाले से लिखा है- विकास की दौड़ में भारत बना रहेगा चीन से आगे।''---
 

---''निठारी कांड में कोहली और पंढेर को सी बी आई की विशेष अदालत से फांसी की सजा और लेबर सेस नहीं चुकाने पर आम्रपाली बिल्‍डर के सी ई ओ समेत दो की गिरफ्तारी की खबर नवभारत टाइम्‍स सहित ज्‍यादातर अखबारों में है।''---
 

---''देश का पहला उपग्रह आर्यभट्ट बनाने वाले वैज्ञ‍ानिक यू आर राव के निधन का समाचार दैनिक भास्‍कर में है। पत्र लिखता है- टीन से बने घर में देशभर के इजीनियरों और वैज्ञानिकों की मदद से 36 महीने में बनाया था आर्यभट्ट, नासा के लिए उपकरण भी बनाये।''---
 

---''तम्‍बाकू नियंत्रण में भारत वर्ल्‍ड लीडर- दैनिक जागरण के अनुसार विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की एक रिपोर्ट में तम्‍बाकू नियंत्रण में भारत के उपायों की सराहना की गई है।''---
 

राजस्थान समाचार विशेष

 

करगिल विजय हर भारतीय के लिए गर्व की अनुभूतमुख्यमंत्री
जयपुर,  मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने करगिल विजय दिवस (26 जुलाई) पर मातृभूमि की रक्षा के लिए न्यौछावर होने वाले अमर शहीदों को नमन करते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है। श्रीमती राजे ने अपने संदेश में कहा कि यह दिन उन जांबाज वीरों को समर्पित है जिन्होंने हमारी सरहद की सुरक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। करगिल युद्ध के वीर सिपाहियों पर हर भारतीय को गर्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस अवसर पर देश के वीर सैनिकों एवं उनके परिवारों के प्रति सम्मान को बनाए रखने का हम सभी संकल्प लें, यही करगिल शहीदों को हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।


हरियाली तीज आस्था और सौन्दर्य का त्यौहार है मुख्यमंत्री
जयपुर,  मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने हरियाली तीज के अवसर पर प्रदेशवासियों, विशेषकर महिलाओं को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि हरियाली तीज आस्था, प्रेम, सौन्दर्य व उमंग का त्यौहार है। यह पर्व महिलाओं की सांस्कृतिक मान्यताओं का प्रतीक है। साथ ही यह दिन परिवार संस्था में भारतीय जनमानस के अटूट विश्वास को और अधिक प्रगाढ़ता प्रदान करने का पर्व है। श्रीमती राजे ने इस पर्व पर सभी प्रदेशवासियों का आह्वान किया है कि वे पर्यावरण सुरक्षा के लिए कम से कम एक-एक वृक्ष जरूर लगाएं। 


मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति के शपथ-ग्रहण समारोह में भाग लिया
जयपुर,     मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने मंगलवार को नई दिल्ली में संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया। श्रीमती राजे ने श्री कोविंद को देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर अपनी तथा राजस्थान की जनता की ओर से बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए विश्वास व्यक्त किया कि राष्ट्रपति के रूप में उनका कार्यकाल ऎतिहासिक रहेगा। उन्होंने कहा कि हाल ही श्री कोविंद की राजस्थान यात्रा के दौरान उनके सरल तथा मिलनसार व्यक्तित्व से सभी प्रभावित हुए।  मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री कोविंद का सरल व्यक्तित्व, उनकी असाधारण जीवन यात्रा तथा सार्वजनिक जीवन में अर्जित उनके अनुभव सभी के लिए प्रेरणादायी हैं।


राष्ट्रपति को विधानसभा अध्यक्ष की बधाई
जयपुर,    विधानसभा अध्यक्ष श्री कैलाश मेघवाल ने देश के नये राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्री मेघवाल ने अपने संदेश में कहा है कि आपने कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में देश विकास के पथ पर निरन्तर आगे बढेगा। 


राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल भी हुए शरीक
जयपुर,   नई दिल्ली में संसद भवन के सेन्ट्रल हाल में आयोजित देश के 14 वें राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद के भव्य शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल श्री कल्याणसिंह भी शरीक हुए। राज्यपाल श्री कल्याण सिंह ने श्री कोविन्द को देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद की शपथ लेने पर बधाई और शुभकामनाये देते हुए आशा व्यक्त की कि राष्ट्रपति के रुप में श्री कोविन्द नए आयाम प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के एक छोटे से गांव से राष्ट्रपति भवन तक का उनका सफर देश के युवाओं के लिए प्रेरणादायी है।


मुख्यमंत्री ने दिए प्रभारी मंत्रियों को अतिवृष्टि प्रभावित जिलों में जाने के निर्देश
जयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने भारी बारिश से पश्चिमी राजस्थान के कुछ जिलों में उत्पन्न बाढ़ जैसे हालात से निपटने एवं प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को जल्द राहत पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।  श्रीमती राजे ने अतिवृष्टि से सर्वाधिक प्रभावित जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों के प्रभारी मंत्रियों को संबंधित जिलों में पहुंचने एवं लोगों को राहत पहुंचाने को कहा। मुख्यमंत्री ने आपदा राहत सचिव को जोधपुर में जाकर कैम्प करने एवं प्रभावित जिलों में राहत कायोर्ं की प्रभावी मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए। 


किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए राज्य सरकार पूरी तरह कृत संकल्पितकृषि मंत्री
जयपुर,    कृषि मंत्री श्री प्रभुलाल सैनी ने कहा कि राज्य सरकार किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए पूरी तरह कृत संकल्पित है। उन्होंने कहा कि सुराज संकल्प पत्र में किसानों से किए गए वादों को 80 फीसदी पूरा कर लिया गया और 20 फीसदी प्रक्रियाधीन है। श्री सैनी मंगलवार को पंत कृषि भवन में किसान महापंचायत और अन्य किसान संगठनों के पदाधिकारियों के साथ हुई कृषि से सम्बंधित विभिन्न विषयों पर हुई वार्ता के बाद मीडिया को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि किसान संगठन के पदाधिकारियों की मुख्य मांग वर्ष 2007 में भारत सरकार को सौंपी गई कृषि वैज्ञानिक श्री एम.एस.स्वामीनाथन की रिपोर्ट के क्रियान्वयन की थी। श्री सैनी ने किसान पदाधिकारियों को अवगत कराया कि इस रिपोर्ट के क्रियान्वयन के लिए राजस्थान सरकार द्वारा वर्ष 2008 में ही छह थैमिटक ग्रुप बना दिए गए थे। इस रिपोर्ट में सबसे पहले मृदा के खराब होते स्वास्थ्य के बारे में चर्चा की गई है। इस रिपोर्ट के आधार पर ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ कस्बे से सॉयल हेल्थ कार्ड स्कीम शुरू गई। राज्य में इस स्कीम के तहत प्रदेश की समस्त 68 लाख 88 हजार कृषि जोत के लिए सॉयल हेल्थ कार्ड वितरित किए जाने हैं। अब तक लगभग 50 लाख सॉयल हेल्थ कार्ड जारी किए जा चुके हैं और शेष बचे हुए कार्ड भी जल्द ही बनाकर वितरित कर दिए जाएंगे। मृदा जांच में प्रदेश में कई जगह सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी पाई गई है, जिसकी पूर्ति के लिए सूक्ष्म पोषक तत्वों के एक लाख मिनिकिट वितरित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में दूसरा बिन्दू जल प्रबंधन के लिए था। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान और प्रत्येक खेत को पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरूआत की गई है। इस रिपोर्ट का तीसरा विषय फसल बीमा था। उन्होंने बताया कि खरीफ 2016 से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू की गई है। जिसके तहत रबी फसलों का 1.50 प्रतिशत और खरीफ फसलों का 2 प्रतिशत प्रीमियम पर बीमा किया जा रहा है।  उन्होंने बताया कि इस रिपोर्ट का चौथा बिन्दू प्रसंस्करण, वेल्यू एडीशन और मार्केटिंग चैनल स्थापित करने के लिए था। उन्होंने बताया कि राजस्थान की 25 मंडियों को राष्ट्रीय कृषि बाजार से जोड़ा जा चुका है और 125 मंडियों को राजस्थान इंटीग्रेटेड मंडी मैनेजमेंट सिस्टम से जोड़ा जा रहा है। इसके साथ ही वेयर हाऊस को भी मंडी सब यार्ड बनाने पर काम चल रहा है। इसके साथ ही यहां कृषि आधारित उद्योगाें को बढ़ावा मिले, इसके लिए ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट जयपुर और कोटा में 5500 करोड़ रूपये के 49 कंपनियों के साथ एमओयू किए गए है। इसके साथ ही कई एमओयू धरातल पर आने लगे हैं। 


झालावाड़ में 97 करोड़ रुपए से अधिक लागत की सड़क निर्माण की स्वीकृति
जयपुर,    सार्वजनिक निर्माण मंत्री श्री यूनुस खान ने झालावाड़ जिले में रायपुर-मुंडला-गरवाडा-दुबलिया-करोडिया-सुनेल-सिरपोही (एमडीआर-214) को जोड़ने वाली करीब 36 किलोमीटर खस्ताहाल सड़क को उच्च गुणवत्ता की दो-लेन सीमेण्ट कंक्रीट सड़क के रूप में विकसित करने की स्वीकृति सोमवार को जारी कर दी है। केन्द्रीय सड़क निधि के अन्तर्गत स्वीकृत इस सड़क के निर्माण पर करीब 97 करोड़ 68 लाख रूपए व्यय किए जाएंगे।  सानिवि मंत्री श्री खान ने बताया कि मुख्यमंत्री श्रीमती राजे जब सुराज संकल्प यात्रा के दौरान इस सड़क के आस-पास के गांवों से गुजरीं तो उन्हें स्थानीय ग्रामीणों ने इसकी मरम्मत करवाने की मांग की थी, जिसका वायदा उसी समय श्रीमती राजे ने कर दिया था। लेकिन अब मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के निर्देश पर और स्थानीय सांसद श्री दुष्यंत सिंह की विशेष मांग पर इस सड़क की मरम्मत करने के बजाय पूरी सड़क को सीमेण्ट-कंक्रीट की दो लेन (सात मीटर) उच्च गुणवत्ता की सड़क के रूप में विकसित किया जाएगा। श्री खान ने बताया कि यह सड़क 15 माह में बनकर तैयार हो जाएगी। इस सड़क के निर्माण के लिए निविदाएं भी जारी की जा चुकी हैं और जल्द ही मौके पर काम प्रारम्भ हो जाएगा।


साथी सेवा संस्थान का पाँचवा वृक्षारोपण अभियान

साथी सेवा संस्थान के "वृक्षम" अभियान के तहत पाँचवा वृक्षारोपण कार्यक्रम आदिनाथ नगर,जेएलएन मार्ग,जयपुर पर किया गया।संस्था के अध्यक्ष मुकेश वर्मा(कुमावत) ने बताया कि आदिनाथ नगर विकास समिति के सदस्यों के साथ साथी सेवा संस्थान के सदस्यों ने आदिनाथ नगर में 101 वृक्ष लागये।संस्था अपने वृक्षम अभियान के तहत वृक्षारोपण कार्यक्रम निरंतर जारी रखेगी। इस मौके पर आदिनाथ नगर विकास समिति के अध्यक्ष श्री निर्मल संघी,श्री अनिल चपलोत(IAS),श्रीमती उमा शर्मा,नरेंद्र खंडेलवाल, श्रीमती चित्रा संघी व अन्य के साथ साथी सेवा संस्थान के श्री प्रिन्स कुमावत,श्री नंदलाल, चंद्रशेखर जैमिनी, हितेंद्र ,सुरेन्द्र व अन्य साथी मौजूद रहे।


 खेल-जगत  
*
 काठमांडू में एशियाई युवा और जूनियर भारोत्तोलन प्रतियोगिता के पहले दिन थाइलैंड के तीरपत चौमचेन ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। 16 वर्षीय तीरपत ने 50 किलोग्राम भारवर्ग में क्लीन और जर्क श्रेणी में एक सौ 27 किलोग्राम भार उठाकर यह रिकॉर्ड बनाया। भारत की कोनसाम उर्मिला देवी ने 44 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।   
*
भारत की कोनसाम देवी ने नेपाल में एशियाई युवा और जूनियर भारोत्‍तोलन प्रतियोगिता में स्‍वर्ण जीता।  भारत की कोनसाम उर्मिला देवी ने नेपाल के काठमांडु में एशियाई युवा और जूनियर भारोत्‍तोलन चैम्पियनशिप में स्‍वर्ण पदक जीता है। भारतीय भारोत्‍तोलन संघ ने कहा कि मणिपुर की भारोत्‍तोलक ने 44 किलोग्राम वर्ग में कुल 126 किलोग्राम भार उठाया। 

 

26 जुलाई, 2017

 

 

भारत की आत्‍मा का बहुलतावाद और सहिष्‍णुता में निवास:

राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी

सभी प्रकार की हिंसा मुक्‍त और वित्‍तीय समावेशी समाज का आह्वान किया
राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को अपना पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा कर लिया है। सोमवार को शाम राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए अपने विदाई भाषण में श्री मुखर्जी ने कहा कि भारत की आत्‍मा बहुलतावाद और सहिष्‍णुता में निवास करती है और राष्‍ट्र अपनी शक्ति सहिष्‍णुता से प्राप्‍त करता है। श्री प्रणब मुखर्जी ने कहा कि लोक विमर्श शारीरिक और शाब्दिक हिंसा सहित सभी प्रकार की हिंसा से मुक्‍त होना चाहिए। श्री मुखर्जी ने कहा कि केवल एक अहिंसक समाज ही लोकतांत्रिक प्रक्रिया में समाज के सभी वर्गों, विशेषकर वंचित और कमजोर वर्गों की, भागीदारी सुनिश्चित कर सकता है। श्री मुखर्जी ने यह कहते हुए कि वित्‍तीय समावेशन ही समतामूलक समाज का मुख्‍य आधार है, समावेशी समाज के निर्माण के महत्‍व पर जोर दिया। उन्‍होंने महात्‍मा गांधी का उल्‍लेख करते हुए कहा कि वे भारत को एक ऐसे समावेशी राष्‍ट्र के रूप में देखते थे जहां जनसंख्‍या का प्रत्‍येक वर्ग समानता में जीता हो और उसको समान अवसर प्राप्‍त हों। श्री मुखर्जी ने कहा कि विश्‍वविद्यालय रटी-रटाई शिक्षा देने के संस्‍थान नहीं हैं बल्कि वे जिज्ञासु छात्रों की सभा है। श्री रामनाथ कोविंद का हार्दिक स्‍वागत करते हुए श्री प्रणब मुखर्जी ने उनके लिए आने वाले समय में सफलता और प्रसन्‍नता की कामना की।  श्री मुखर्जी ने अपना भाषण यह कहते हुए समाप्‍त किया कि कल से गौरव की तरफ बढ़ते हुए देश के अन्‍य भारतीयों की तरह वे भी एक आम नागरिक बन जायेंगे।


राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि भारत का संविधान ही पिछले पचास वर्षों के उनके सार्वजनिक जीवन का पवित्र ग्रंथ रहा है।  सोमवार को राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी के चुनिंदा भाषण, नामक पुस्‍तक का विमोचन करते हुए उन्‍होंने यह बात कही। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, मनोनीत राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और अन्‍य गणमान्‍य लोग मौजूद थे। इस अवसर पर उप-राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी ने नवाचार, शिक्षा और अनुसंधान में श्री मुखर्जी की दिलचस्‍पी पर प्रकाश डाला। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपने संबोधन में नि‍वर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उच्‍चकोटि का विद्वान और अत्‍यधिक सरल व्‍यक्ति बताया। श्री मोदी ने कहा कि श्री मुखर्जी से उन्‍हें जो मार्गदर्शन प्राप्‍त हुआ है उससे भविष्‍य में उन्‍हें बहुत लाभ होगा। मेरे तीन साल के अनुभव में मेरे लिए बड़ा अचरच था कि‍ इतने साल तक सरकारों में रहे सरकारों के नि‍र्णायक पदों पर रहे लेकिन वर्तमान सरकार के किसी निर्णय को उन्‍होंने अपने उन भूतकाल के साथ न कभी तराजू से तौला और न कभी उसका उस रूप में मूल्‍यांकन किया। हर बात का उन्‍होंने वर्तमान के संदर्भ में ही मूल्‍यांकन किया। मैं समझता हूं यह बहुत बड़ी उनकी पहचान है।
वित्‍तमंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि श्री प्रणब मुखर्जी का राष्‍ट्रपति होना एक राजनेता के आसाधारण जीवन का चरमोत्‍कर्ष था। अपनी फेसबुक पोस्‍ट में श्री जेटली ने लिखा है कि श्री मुखर्जी जिस पद पर रहे उसका गौरव बढ़ाया।


लोकसभा में कांग्रेस सदस्‍यों का गोरक्षा मुद्दे पर हंगामा
लोकसभा में सोमवार को शून्‍यकाल के दौरान उस समय हंगामा हुआ जब विपक्षी सदस्‍य गौरक्षा के नाम पर लोगों को मारने की घटनाओं पर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री के मौजूद रहने की मांग करते हुए सदन के बीचोंबीच पहुंच गए। कांग्रेस सदस्‍यों ने कागज फाड़कर अध्‍यक्ष की तरफ फेंकते हुए सरकार विरोधी नारे लगाये। अध्‍यक्ष की शांति बनाये रखने की अपील के बावजूद हंगामा जारी रहने पर सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्‍थगित कर दी गई। सत्‍तारूढ़ पार्टी के सदस्‍यों ने बोफोर्स मामला फिर खोलने की मांग की।    

 

कांग्रेस के छह सांसद  पांच दिन के लिए निलंबित 
लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही में बाधा डालने के लिए कांग्रेस के छह सांसदों को पांच दिन की बैठकों से निलंबित कर दिया है। इन सांसदों पर यह कार्रवाई भीड़ द्वारा हिंसा मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन करने के दौरान सदन के बीच में आकर और अध्‍यक्ष के आसन की ओर फटे हुए कागज फेंककर घोर अव्‍यवस्‍था फैलाने के आरोप में की गई है। जिन सांसदों को निलंबित किया गया है वे हैं- गौरव गोगोई, के. सुरेश, अधीर रंजन चौधरी, रंजीत रंजन, सुष्मिता देव और एम. के. राघवन। लोकसभा की बैठक जब फिर शुरू हुई तो विपक्षी सांसद नारेबाजी करते हुए सदन के बीच में आ खड़े हुए, जिसके कारण उन्‍हें विवश होकर सदन की बैठक दिनभर के लिए  सुश्री सुमित्रा महाजन ने अपने निर्णय को यह कहते हुए उचित बताया है कि इन सांसदों ने पटल पर न केवल चार बार कागजात फेकें, बल्कि पटल पर रखे काग़जात भी फाड़े। संसद से बाहर उन्‍होंने कहा कि सदन के बीचोंबीच नारेबाजी भी अनुशासनहीनता है और सरकारी काग़जात फाड़ना अपराध है। चार बार, कागज के टूकड़े चेयर पर फेंके गए। जो टेबल ऑफिस के लोग हमारे टेबल पर बेठते हैं। वहां से फाइल उठाकर के कागज फाडे गए और वो कागज भी चेयर पर फेंके गए। वो सरकारी कागज है। आफिस के कागज को हाथ लगाने का या इस प्रकार से फेंकने का ये तो बहुत बड़ा गुनाह हो सकता है और इसलिए आज मुझे बहुत दु:खी होकर के ये सेसपेंसन कार्रवाई करनी पड़ी।  संसदीय कार्य मंत्री अनन्‍त कुमार ने लोकसभा कार्यवाही के दौरान बाधा उत्‍पन्‍न करने के लिए कांग्रेस की कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने कहा कि जिस प्रकार विपक्ष ने सदन में व्‍यवहार प्रदर्शित किया वो निदंनीय है।  संसद का अनुशासन संसद का उच्‍च परंपरा और सभाध्‍यक्ष के गरिमा, प्रतिष्‍ठा, मान और सम्‍मान और वो भी हमारे सभाध्‍यक्ष एक सम्‍मानीय महिला भी हैं। ये भी ध्‍यान में नहीं लेते हुए जो अवहेलनकारी वर्ताव कांग्रेस सदस्‍यों ने किया। वे शर्मनाक हैं, उसका पूरा निंदा हम करते हैं।  उधर, कांग्रेस ने लोकसभा अध्‍यक्ष द्वारा छह सदस्‍यों को निलंबित किए जाने की कार्रवाई को अनुचित बताया है। पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ऐसी कड़ी सजा उचित नहीं है। पार्टी मंगलवार को इस मुद्दे को उठाएगी तथा संसद परिसर में महात्‍मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष विरोध प्रदर्शन करेगी।


सरकार कर प्रणाली में पारदर्शिता और सरलता सुनिश्चित करेगी: वित्‍त मंत्री 
वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि सरकार कर प्रणाली में पारदर्शिता और सरलता सुनिश्चित करेगी तथा आयकर दाता और आयकर अधिकारियों के बीच सीधे संवाद की संभावना को कम रखने पर ध्यान देगी। आयकर दिवस पर दिल्ली में विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के सम्मेलन में श्री जेटली ने यह बात कही। श्री जेटली ने कहा कि कर बहुधा व्यापक राष्ट्रीय हित में लगाये जाते हैं। उन्होंने कहा कि कर अदा करना नागरिकों का राष्ट्रीय कर्तव्य है।


नरम आर्थिक नीत से देश के एक अरब 25 करोड़ लोगों को कोई लाभ: प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि चुनावी फायदे के लिए नरम आर्थिक नीति के निर्णय से देश को और न ही देश के एक अरब 25 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगा। राजस्‍थान के भाजपा सांसदों के साथ एक बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों ने नोटबंदी और वस्‍तु और सेवाकर लागू किए जाने का भरपूर समर्थन किया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राजस्‍थान में भारतीय जनता पार्टी के सांसदों से सोमवार को  अपने आवास पर मुलाकात की। संसद सत्र के दौरान विभिन्‍न राज्‍यों के सांसदों के साथ बैठकों में प्रशासनिक और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा सामान्‍य रूप से होती हैं।


राष्‍ट्रविरोधी गतिविधियों में सात लोग  गिरफ्तार 
राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी ने कश्‍मीर घाटी में आतंकवाद के लिए धन जुटाने और राष्‍ट्रविरोधी गतिविधियों की जांच के सिलसिले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों में अलगाववा‍दी नेता सैयद अली शाह गिलानी का दामाद अलताफ अहमद शाह शामिल है। अलताफ फंटूश के नाम से मशहूर शाह ईद के त्‍यौहार के बाद से ही जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की हिरासत में था।


लाहौर में आत्‍मघाती बम विस्‍फोट में पुलिस सहित 26 लोग मरे, 50 से अधिक घायल
पाकिस्‍तान में लाहौर मेंसोमवार को पंजाब प्रांत के मुख्‍यमंत्री शाहबाज शरीफ के आवासीय कार्यालय के पास शक्ति‍शाली आत्‍मघाती बम विस्‍फोट में पुलिस सहित 26 लोग मारे गये और 50 से अधिक घायल हुए। किसी भी गुट ने इस विस्‍फोट की जिम्‍मेदारी नहीं ली है। राष्‍ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने इस विस्‍फोट में लोगों के मारे जाने और घायल होने पर शोक व्‍यक्‍त किया है। 


नीट की विसंगतियां दूर करने पर सरकार का ध्यान  है: जे.पी. नड्डा 
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने सोमवार को राज्यसभा में बताया कि सरकार राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा- नीट की विसंगतियां दूर करने पर ध्यान दे रही है। उन्होंने बताया कि इस बारे में दो दिन पहले तमिलनाडु के कुछ लोग उनसे मिले थे। इससे पहले, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओब्रायन और ऑल इंडिया अन्ना डीएमके पार्टी के सदस्यों ने सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि केंद्र ने राज्यों को इस परीक्षा के उलटे-सीधे प्रश्नपत्र भेजे थे, जिससे पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु के परीक्षार्थियों को परीक्षा में कम अंक मिले।


जवाहर नवोदय विद्यालयों में प्रवेश  हेतु अन्‍य पिछड़े वर्गों के विद्यार्थियों को प्राथमिकता
सरकार ने कहा है कि वो देशभर के जवाहर नवोदय विद्यालयों में प्रवेश के लिए अन्‍य पिछड़े वर्गों के विद्यार्थियों को प्राथमिकता देगी। मानव संसाधन विकास राज्‍यमंत्री उपेन्‍द्र कुशवाहा ने लोकसभा में बताया कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों को पहले ही दाखिले में प्राथमिकता दी जाती है और अब यह सुविधा अन्‍य पिछड़ा वर्गों को देने पर भी विचार चल रहा है।


लोकसभा में बैकिंग नियमन संशोधन विधेयक 2017 पेश 
वित्‍तमंत्री अरूण जेटली ने सोमवार को लोकसभा में बैकिंग नियमन संशोधन विधेयक 2017 पेश किया जो इसी वर्ष मई में लाये गए अध्‍यादेश का स्‍थान लेगा। संशोधन का उद्देश्‍य बैंकिग प्रणाली में फंसे ऋणों की समस्‍या का तेजी से समाधान करना है।


जम्‍मू कश्‍मीर:

डीएसपी मोहम्‍द अयूब पंडित की हत्‍या के संबंध में अब तक 20 लोग गिरफ्तार
जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस ने डी एस पी मोहम्‍द अयूब पंडित की हत्‍या के संबंध में अब तक कम से कम 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। श्रीनगर में एक संवाददाता सम्‍मेलन को सम्‍बोधित करने हुए कश्‍मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान ने बताया कि इनमें से एक अभियुक्‍त हिजबुल आतंकवादी इस महीने की 12 तारीख को मध्‍य कश्‍मीर के बडगाम जिले में एक मुठभेड़ में मारा गया। पुलिस महानिरीक्षक ने पुलिस उपायुक्‍त की हत्‍या को गम्‍भीर मामला बताते हुए कहा कि घाटी में यह अपनी तरह का पहला मामला है।


SC  ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक  सहित अन्य  पर मुकदमा चलाने की मांग खारिज की 

उच्चतम न्यायालय ने घाटी में 1989-1990 के बीच सात सौ कश्मीरी पंडितों की हत्‍या और अन्‍य अपराधों के सिलसिले में अलगाववादी नेता यासीन मलिक और कई अन्य लोगों पर मुकदमा चलाने की मांग संबंधी याचिका खारिज कर दी है। प्रधान न्‍यायाधीश जे एस खेहर और न्‍यायमूर्ति डी वाई चन्‍द्रचूड़ की पीठ ने यह व्‍यवस्‍था देते हुए कहा कि करीब 27 वर्ष बीत चुके हैं, ऐसे में हत्‍या, लूटपाट और आगजनी की वारदातों के सबूत जुटाना मुश्‍किल होगा। याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि सात सौ से ज्‍यादा कश्‍मीरी पांडितों की हत्‍याओं के बारे में दो सौ 15 एफआईआर दर्ज कराईं गई थी, लेकिन इनमें से किसी भी एफआईआर पर फैसला नहीं हुआ।


नवगठित तेलंगाना में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 180 करोड़ रूपये मंजूर 
पर्यटन मंत्री डॉक्‍टर महेश शर्मा ने सोमवार को बताया कि केन्‍द्र सरकार ने नवगठित तेलंगाना में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 180 करोड़ रूपये मंजूर किये हैं। लोकसभा में पूरक प्रश्‍नों के उत्‍तर में श्री शर्मा ने बताया कि प्रसाद योजना का विस्‍तार किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि स्‍वदेश दर्शन योजना के तहत सरकार ने इको सर्किट, रामायण सर्किट, तटीय सर्किट और वन्‍यजीव सर्किट सहित 63 परियोजनाओं को मंजूरी दी है और इनके लिए पांच हजार करोड़ रूपये दिये हैं। प्रसाद योजना अभी 25 शहरों तक सीमित है। समय के अनुसार इसे बढ़ाया भी जा सकता है, लेकिन वर्तमान के अंदर चित्रकूट को हमने रामायण सर्किट के अंदर लिया हुआ है और स्‍वदेश दर्शन योजना इसमें हमारी बडी योजना है, जिसमें 63 प्रोजेक्‍टों में हमने पांच हजार तीन सौ तीन करोड़ रूपए की राशि जारी की है।


महिला यौन उत्‍पीड़न:  

ऑनलाइन शिकायत प्रणाली - यौन उत्‍पीड़न ई बॉक्‍स की शुरूआत 
महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने सोमवार को नई दिल्‍ली में कार्यस्‍थल पर महिलाओं के यौन उत्‍पीड़न की शिकायत दर्ज कराने के लिए ऑनलाइन शिकायत प्रणाली - यौन उत्‍पीड़न ई बॉक्‍स की शुरूआत की। मीडिया से बातचीत में श्रीमती गांधी ने कहा कि‍ शुरूआती चरण में यह ऑनलाइन पोर्टल केन्‍द्र सरकार की महिला कर्मचारियों के लिए होगा। बाद में इसमें निजी क्षेत्रों की महिलाएं भी अपनी शिकायतें दर्ज करा सकेंगी।


सेवानिवृत्‍त और कार्यरत सैन्‍यकर्मियों से धोखाधड़ी: सेना 
सेना ने सोमवार को स्‍पष्‍ट किया है कि सेना ग्रुप बीमा कोष -एजीआईएफ ने कोई फर्म या एजेंट तय नहीं किया है इसलिए सैन्‍यकर्मियों को धोखेबाजों के झांसों में आकर कोई भुगतान नहीं करना चाहिए। एक वक्‍तव्‍य में भारतीय सेना ने बताया कि कुछ फर्में खुद को एजीआईएफ का एजेंट बताकर या उससे संबंधित होने की बात कहकर सेवानिवृत्‍त और कार्यरत सैन्‍यकर्मियों से धोखाधड़ी कर रही हैं।


इसरो के पूर्व अध्‍यक्ष प्रोफेसर यू.आर. राव का निधन
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन- इसरो के पूर्व अध्‍यक्ष प्रोफेसर यू.आर. राव का सोमवार को तड़के उनके निवास पर निधन हो गया। वे 85 वर्ष के थे। इसरो सूत्रों के अनुसार , वे लंबे समय से बीमार थे। प्रोफेसर राव ने देश के पहले उपग्रह आर्यभट्ट के दिनों से भारतीय उपग्रह कार्यक्रमों में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। एक रिपोर्ट के अनुसार ,10 मार्च 1932 को कर्नाटक में जन्‍में उडुपी रामचंद्र राव को भारत की सैटेलाइट क्रांति का जनक माना जाता है। प्रोफेसर राव ने अपने करियर की शुरूआत कॉस्मिक रे वैज्ञानिक के तौर पर की और 1972 में वो भारत के उपग्रह कार्यक्रम से जुड़ गए। उनके मार्गदर्शन में भारत का पहला उपग्रह आर्यभट्ट अंतरिक्ष में भेजा गया। इसके अलावा प्रोफेसर राव के नेतृत्‍व में 18 और उपग्रह विकसित किए गए। प्रोफेसर राव ने 1985 में अंतरिक्ष विभाग की कमान संभाली और उनकी देखरेख में रॉकेट टेक्‍नोलॉजी का विकास हुआ। वो 1984 से 1994 के बीच इसरो के अध्‍यक्ष रहें। उन्‍हें 1976 में पद्मभूषण और 2017 में पद्म विभूषण से सम्‍मानित किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने प्रोफेसर यू आर राव के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है। प्रधानमंत्री ने शोक संदेश में कहा कि भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम में श्री राव का योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता।


काबुल में तालिबान के आत्‍मघाती कार बम विस्‍फोट में 35 लोगों की मौत
अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल में सोमवार को  आत्‍मघाती कार बम विस्‍फोट में कम से कम 35 लोग मारे गये और कई अन्‍य घायल हो गये। अफगानिस्‍तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्‍ता नजीब दानिश ने यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आत्‍मघाती हमलावार ने काबुल के पश्चिमी इलाके में यह विस्‍फोट किया। अभी यह पता नहीं चला कि किसे निशाना बनाकर यह हमला किया गया। पुलिस ने इलाके को घेर लिया है। यहां शिया हाज़रा समुदाय के लोग बहुतायत में रहते हैं। तालिबान ने इस हमले की जिम्‍मेदारी ली है। 

 

BJP  और BJP  के उप-राष्ट्रपति के उम्मीदवार वैंकेया नायडू से ांग्रेस के 4 सवाल 
कांग्रेस सांसद जयराम रमेश , 24 जुलाई सोमवार को ने पार्लियामेंट में   पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसा कि आप जानते हैं उप-राष्ट्रपति चुनाव होने वाले हैं, बीजेपी की ओर से वरिष्ठ नेता ,पूर्व मंत्री ,लंबे साल से सांसद रहे और तुकबंदी के उस्ताद वैंकेया नायडू जी उम्मीदवार हैं। आज कांग्रेस पार्टी वैंकेया नायडू जी से 4 सवाल करना चाहती है। वैंकेया नायडू जी कई सालों से पारदर्शिता और जवाबदेही की वकालत करते आए हैं और पिछले 3 सालों में हर एक अखबार में उन्होंने लेख लिखा है,हर विषय पर और कहा है कि सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता और जवाबदेही होना जरूरी है। इसी भावना के साथ, उन्हीं के कहे हुए भावनाओं के साथ ,पारदर्शिता और जवाबदेही की भावनाओं के साथ कांग्रेस पार्टी उनसे 4 सवाल करना चाहती है। 

 

बीजेपी से 4 सवाल और बीजेपी के माध्यम से उनके उप-राष्ट्रपति के उम्मीदवार वैंकेया नायडू जी से 4 सवाल हैं।
पहला सवाल 
यह है कि क्या यह सच नहीं कि 20 जून 2017 को तेलंगाना सरकार ने एक ऑर्डर निकाला था  जिससे एक निजी ट्रस्ट, स्वर्ण भारत ट्रस्ट ,को छूट दी गई, 2 करोड़ से भी अधिक, जो इस ट्रस्ट को हैदराबाद मैट्रोपोलिटन डेवलपमेंट अथोरिटी को देना था, डेवलपमेंट चार्ज जिसे कहते हैं। लेकिन 20 जून 2017 को एक गुप्त ऑर्डर, वह वेबसाईट पर भी नहीं है और पहली बार इसकी कोई मिसाल नहीं है। पहली बार एक प्राईवेट ट्रस्ट को छूट दी गई है और इसकी मैनेजमेंट ट्रस्टी वैंकेया नायडू जी की बेटी है। तो हमारा सवाल ये है कि स्वर्ण भारत ट्रस्ट को छूट दी गई है ,2 करोड़ से भी ज्यादा, पहली बार तेलंगाना सरकार द्वारा, क्या ये सच नहीं है? हम जवाब वैंकेया नायडू जी से और बीजेपी से चाहते हैं।


हमारा दूसरा सवाल ये है कि क्या ये सच नहीं है कि जुलाई 2014 में नई आँध्रा सरकार बनी थी, नई तेलंगाना सरकार बनी थी और नई मोदी जी की सरकार थी दिल्ली में। जुलाई 2014 में, क्या ये सच नहीं है कि तेलंगाना सरकार ने करीब 4 हजार मोटर साइकिल और गाड़ी, करीब 270 करोड़ का ऑर्डर बिना खोले टेंडर के 2 डीलरों को दिया। एक डीलर था हिमाशुं मोटर, जिसके मालिक मुख्यमंत्री जी के बेटे के.टी. रामाराव हैं और दूसरा डीलर हर्षा टोयोटा, जिसके मालिक वरिष्ठ नेता वैंकेया नायडू जी के बेटे हैं। पहला सवाल बेटी के संदर्भ में और दूसरा सवाल बेटे के संदर्भ में। करीब 270 करोड़, 4 हजार गाड़ियाँ, मोटर साइकिल, टाटा, इनोवा, अलग-अलग तरीके की गाड़ियाँ पुलिस के लिए बिना टेंडर के तेलंगाना सरकार ने हर्षा मोटर, जिनके मालिक वैंकेया नायडू जी के बेटे और हिमांशु मोटर जिनके मालिक मुख्यमंत्री जी के बेटे हैं, क्या ये सच नहीं है?


हमारा तीसरा सवाल, क्या ये सच नहीं है कि 6 अप्रैल 2011, सुप्रीम कोर्ट के 2 न्यायाधीशों के द्वारा दिए गए ek ऑर्डर जस्टिस जी.एस.सिंघवी और जस्टिस अशोक कुमार गांगुली। 6 अप्रैल 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश का एक ऑर्डर कैंसिल किया। एक जमीन का अलॉटमेंट कैंसिल किया, जिसके तहत एक ट्रस्ट को भोपाल में 20 एकड़ जमीन, करीब 600 करोड़ मूल्य था और 20 एकड़ जमीन 'Kushabhau Thakre Memorial Trust' के नाम पर दिया गया था। इस ट्रस्ट के अध्यक्ष वैंकेया नायडू जी थे। सुप्रीम कोर्ट में ये मामला था  हुआ। सुप्रीम कोर्ट का आदेश यहाँ है, जस्टिस सिंघवी और जस्टिस अशोक कुमार गांगुली ने मध्यप्रदेश सरकार की कड़ी आलोचना की और इस जमीन के अलॉटमेंट को रद्द कर दिया, 6 अप्रैल 2011 को, क्या ये सच नहीं है?


 और हमारा चौथा और अंतिम सवाल,  पहला सवाल बेटी के संदर्भ में, दूसरा सवाल बेटे के संदर्भ में, तीसरा सवाल पार्टी के संदर्भ में और चौथा सवाल खुद के संदर्भ में। क्या ये सच नहीं है कि 7 अगस्त 2002 को वैंकेया नायडू जी को नैरनोर जिले में अपने ही गाँव में 5 एकड़ जमीन वापस करना पड़ा, जिला शासन को। ये जमीन भूमिहीनों के लिए थी। वैंकेया नायडू जी भूमिहीन तो हैं नहीं और इनको ये जमीन वर्ष 1978 में मिली ,जब वो एमएलए थे। भूमिहीनों की जमीन, गरीबों की जमीन, 5 एकड़ उनके नाम पर आई। कैसे आई? वो अलग बात है लेकिन 7 अगस्त 2002 को, क्या ये सच नहीं है कि वैंकेया नायडू जी ने ये 5 एकड़ जमीन जिला शासन को वापस लौटाई ? तो ये 4 सवाल हैं।    

 

(स्वर्ण भारत ट्रस्ट को छूट 2 करोड़ से भी अधिक, जिनकी अध्यक्ष वैंकेया नायडू जी की बेटी है, तेलंगाना सरकार द्वारा, 20 जून 2017 को। दूसरा सवाल जुलाई 2014 में करीब 270 करोड़ का ऑर्डर 4 हजार साइकिल के लिए, तेलंगाना पुलिस के लिए, बिना टेंडर के, 2 कंपनी, 2 डीलर को। एक डीलर का मालिक मुख्यमंत्री का बेटा और दूसरे डीलर का मालिक वैंकेया नायडू जी का बेटा। तीसरा सवाल 6 अप्रैल 2011 को सुप्रीम कोर्ट का आदेश, 'Kushabhau Thakre Memorial Trust' को, जो 20 एकड़ जमीन दी गई थी भोपाल में, उसको रद्द कराया गया कोर्ट के आदेश से, कड़ी आलोचना की गई मध्यप्रदेश सरकारki  द्वारा कि कैसे ये जमीन दी गई, कैसे लैंडयूज बदला गया और कैसे ऐसी कीमती जमीन भोपाल में इस प्राइवेट ट्रस्ट को दी गई चौथा सवाल 7 अगस्त 2002 को वैंकेया नायडू जी को उनके गाँव में 5 एकड़ जमीन उनके नाम पर दी गई, जो गरीबों के लिए थी, भूमिहीन के लिए थी, कैसे वो जिला प्रशासन को वापस लौटाना पड़ी?) वैंकेया नायडू जी वरिष्ठ नेता हैं, सभी पार्टियों से तालमेल है , अनुभवी नेता हैं, कई मंत्रालय संभाले हैं और जैसा मैंने कहा कि शब्दों के कवि भी हैं, तुकबंदी के उस्ताद भी हैं। लेकिन वही पारदर्शिता की बात करते हैं, ईमानदारी की वकालत करते हैं, हम उन्हीं के शब्दों के माध्यम से पारदर्शिता, जवाबदेही, ईमानदारी के साथ ये 4 सवाल उठाना चाहते हैं क्योंकि वो बीजेपी की तरफ से उप-राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हैं और देश को ये जानने का अधिकार है कि जो सवाल कांग्रेस पार्टी ने उठाए हैं, क्या ये सच नहीं है? इन सवालों के जवाब में इन मुद्दों पर वैंकेया नायडू जी को क्या कहना है, वो जल्द कहें।

 

 



मौसम   
गुजरात के कई हिस्‍सों में भारी वर्षा से जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त। वर्षा और बाढ़ प्रभावित इलाकों में राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल के छह अतिरिक्‍त दल भी लगाये गये हैं।प्राप्त समाचारों के अनुसार, उत्‍तरी और मध्‍य गुजरात में रविवार को शाम से हो रही भारी बारिश के कारण ज्‍यादातर इलाके पानी में डूब गये हैं और बाढ़ जैसी स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई है। राज्‍य में नए सिरे से भारी बारिश शुरू होने से प्रशासन को हाई अलर्ट पर रखा गया है। बनासकांठा जिले में भारी वर्षा के चलते एनडीआरएफ के अतिरिक्‍त दल भेजे गए हैं। भारी बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में स्‍थानीय प्रशासन द्वारा ऐतिहयात के तौर पर स्‍कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है। बनासकांठा और पाटन जिले के निचाई वाले क्षेत्रों से दो हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया है। राज्‍य में 33 बांध पानी से लबालब भर जाने से उन्‍हें हाई अलर्ट पर रखा गया है। 
इधर, उत्‍तर प्रदेश के कई इलाको में भारी वर्षा हो रही हैऔर  बुंदेलखंड क्षेत्र में पिछले चौबीस घंटे में हो रही बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है।
बुंदेलखंड के उरई जिले में बीते चौबीस घंटों में सबसे ज्‍यादा बारिश हुई है। प्रदेश के दूसरे हिस्‍सों में भी बारिश लगातार हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार अगले चार से पांच दिनों तक ऐसे ही बारिश प्रदेश भर में होती रहेगी। प्रदेश की सभी प्रमुख नदियां खतरे के निशान के करीब बह रही है। चालीस दिनों में पहले ही बाढ़ का अलर्ट जारी किया जा चुका है। प्रशासन को नदियों के किनारे और बाढ़ की आशंका वाले इलाकों में खास चौकसी बरतने को कहा गया है। 
ओड़िसा में उत्तरी जिलों में भारी वर्षा की आशंका व्‍यक्‍त की गई है। राज्य सरकार ने बैतरणी, सुबर्णरेखा, बुढ़ीबलंग और ब्राहमणी नदियों में बाढ़ के कारण छह जिलों के जिलाधीशों को सतर्क किया है।
पश्चिम बंगाल में गांगेय क्षेत्र पर बने चक्रवाती दबाव के कारण कोलकाता और दक्षिण बंगाल के विभिन्न इलाकों में पिछले 24 घंटे से भारी वर्षा हो रही है।
असम में बाढ़ में नौका डूबने से तीन लोगों के मरने की आशंका
असम में रविवार को  बराक घाटी के कछार जिले में नौका डूबने से तीन लोगों के मरने की आशंका है। खबरों के अनुसार जिले के लखीपुर उपमंडल में नौ लोगों को ले जा रही नौका बाढ़ में डूब गई।
 


खबरी दुनिया  
---''
विदाई समारोह में राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी का सम्‍बोधन अखबारों की अहम खबर है। राष्‍ट्रीय सहारा की सुर्खी है, मौद्रिक मामलों में न लाएं अध्‍यादेश। जाते-जाते राष्‍ट्रपति सरकार को दे गए सीख।''---
---''
दैनिक जागरण की विशेष खबर है-निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों की होगी मंत्रालयों में नियुक्ति। निदेशक और संयुक्‍त सचिव पद पर आई ए एस अफसरों की लेंगे जगह। नीति आयोग का प्रस्‍ताव, देश की अर्थ व्‍यवस्‍था के दूरगामी योजनाओं के लिए निजी क्षेत्र के विशेषज्ञ होंगे बेहतर।''---
---''
दैनिक भास्‍कर की सुर्खी है -टैंक और सैन्‍य साजो सामान के कलपुर्जों का आयात आधा होगा। देश में ही तैयार करेगी सेना। हर साल दस हजार करोड़ रुपये के खरीदे जाते हैं, कलपुर्जे।''---
---''
दैनिक जागरण कहता है-मोदी के कड़े संदेश के बाद सी ए के खिलाफ कार्रवाई शुरू। इंस्‍टीट्यूट ऑफ चार्टड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया धन शोधन में मदद करने वाले चार्टड अकाउंटेंट के खिलाफ कार्रवाई के लिए हुआ सक्रिय।''---
---''
अमर उजाला की बड़ी खबर है-जेवर गैंग रेप के चार दरिन्‍दे गिरफ्तार। पुलिस मुठभेड़ में दो अपराधी भागने में सफल।''---
---''
राजस्‍थान पत्रिका की बड़ी सुर्खी है, मॉनसून में सड़कों के गडढे बने जानलेवा। हर 50 मिनट में हादसा। मध्‍य प्रदेश की हालत खराब-बड़ों राज्‍यों में ज्‍यादा गडढे।''---
---''
आई सी सी महिला वर्ल्‍ड कप क्रिकेट में भारतीय टीम के प्रदर्शन पर देश बंधु की टिप्‍पणी है-हार कर भी दिल जीती लड़कियां।''---
---''
महिला और बाल विकास मंत्रालय के प्रस्‍ताव पर हिन्‍दुस्‍तान कहता है- स्‍कूली लड़कों के लिए गृह विज्ञान विषय होगा अनिवार्य। प्रस्‍ताव मंजूरी के लिए केबिनेट के पास भेजा गया।''---
 


राजस्थान समाचार विशेष  


सीएलजी सदस्य साइबर क्राइम को रोकने के लिए आमजन को जागरूक करें
जयपुर,   पुलिस उपायुक्त (उत्तर) श्री सत्येंद्र सिंह ने ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के सीएलजी सदस्यों को साइबर क्राइम रैकी के बारे में आमजन को जागरूक करने की आवश्यकता बताई। 
उन्होंने बताया कि कोई भी स्थानीय सरकारी या गैरसरकारी संस्था कभी भी फोन पर आपसे किसी प्रकार की निजी जानकारी नहीं ले सकती है यदि कोई ऎसा करता है तो उसके बारे में तुरंत स्थानीय पुलिस थाने को सूचित करें। उन्होंने सीएलजी सदस्यों को भारी बारिश में मीटिंग में उपस्थित होने के लिए धन्यवाद दिया और क्षेत्र की समस्याओं के बारे में अति शीघ्र सुधारने का आश्वासन दिया। एडिशनल डीसीपी श्री समीर दुबे ने कहा कि थाना सीएलजी, सीएलजी के कार्य के अतिरिक्त जो सामाजिक कार्य करती है उसके लिए वह धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने सीएलजी के कार्य जैसे साइबर क्राइम रेकी इत्यादि को रोकने के लिए किए गए प्रयासों की भूरि भूरि प्रशंसा की। सहायक पुलिस आयुक्त श्री प्रताप मल केड़िया ने क्षेत्र में चोरी की वारदातों को रोकने के लिए सी.सी.टीवी. कैमरा लगाने का सुझाव दिया। उन्होंने सीएलजी सदस्यों को अभय कमांड रूम देखने का भी आमंत्रण दिया। 
ब्रह्मपुरी थाना अधिकारी श्री रामकृष्ण विश्नोई ने थाना सीएलजी सदस्यों के सहयोग की सराहना करते हुए भावी कार्यक्रमों के बारे में अवगत कराया तथा उपस्थित सभी थाना सीएलजी सदस्यों ने सहयोग करने का आश्वासन दिया। मीटिंग के प्रारंभ में ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के सीएलजी संयोजक श्री मधुसूदन शर्मा ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। 


मुख्यमंत्री से जुड़ी सभी घोषणाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ समय रहते पूरा किया जाए 
-जलदाय मंत्री
जयपुर,   जलदाय मंत्री श्री सुरेंद्र गोयल ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बजट घोषणा, मुख्यमंत्री के दौरों के दौरान की गई घोषणा और सुराज संकल्प की घोषणाओं को समय रहते पूर्ण होना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि घोषणा के क्रियान्वयन में किसी भी तरह की देरी हो तो उसका कारण जानकर तुरंत और अविलंब समाधान करने की व्यवस्था करें। श्री गोयल सोमवार को शासन सचिवालय के मंत्रालय भवन में विभागीय अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री और सुराज संकल्प यात्रा से जुड़ी घोषणाओं की समीक्षा बैठक ले रहे थे। इस दौरान उन्होंने पूरे तीन साल में की गई घोषणाओं की एक-एक प्रगति रिपोर्ट देखी और संबंधित अधिकारियों से व्यक्तिगत चर्चा की। उन्होंने कहा इस समयावधि में करीब 107 घोषणाएं की गई, जिनमें से 37 पूरी तरह सम्पन्न हो चुकी हैं, वहीं 53 घोषणाएं प्रगतिरत हैं और समायावधि में पूरी हो जाएंगी। शेष घोषणाएं इस वर्ष की हैं वे भी क्रियान्वयन के लिए प्रक्रियाधीन हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चल रही घोषणाओं पर काम चल रहा है। उसे और अधिक गति देने व समय पर पूरा करवाने के लिए ही समीक्षा बैठक ली गई है। बैठक में एस्को मॉडल, स्काडा सिस्टम, हैंडपंप अभियान, डिग्गी परियोजना, जनता जल योजना, सोलर, आरओ प्लांट, राजस्व वसूली, विशेष परियोजना, ईसरदा बांध, जल की गुणवत्ता, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान, एनआरडब्ल्यू सहित कई बिंदुओं पर अधिकारियों से विस्तृत चर्चा की गई। विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री रजत कुमार मिश्र ने घोषणाओं की संपूर्ण प्रगति की जानकारी जलदाय मंत्री को दी। बैठक में प्रदेश भर में लगाए सोलर पंप, आरओ, डीएफयू लगाने जैसे कई विषयों पर भी चर्चा की गई। बैठक में विशिष्ट सचिव श्री महेश शर्मा, श्री आईडी खान, श्री डीएम जैन, श्री बनेसिंह, श्री महेश कराल, वित्तीय सलाहकार श्री मोहन सिंह सहित उच्चाधिकारी उपस्थित रहे। 


दिव्यांगों के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय पर दिशा एवं घरौंदा केन्द्र खोलने का लक्ष्य

जयपुर,    भारत सरकार नेशनल ट्रस्ट के कार्यकारी निदेशक श्री मुकेश जैन ने कहा कि राजस्थान में दिव्यांगों के लिए प्रत्येक जिले में एक साल में स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से दिशा एवं घरौंदा का एक-एक केन्द्र स्थापित करने का लक्ष्य है।  श्री जैन सोमवार को अम्बेडकर भवन के सभागार में विशेष योग्यजन एवं दिव्यांगों के क्षेत्र में कार्य करने वाली स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर नेशनल ट्रस्ट द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बेसहारा व लावारिस दिव्यांगों को पालने के लिए कानूनी तौर पर गार्जियन नियुक्त करने के लिए राज्य के समस्त जिलों में जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में स्थानीय स्तरीय समिति का गठन होगा जिसके दो सदस्य और होंगे। समिति की प्रत्येक तीन माह में एक बार बैठक होगी जो स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से दिव्यांगों को कानूनी तौर पर गार्जियन नियुक्त करने की कार्यवाही कर नेशनल ट्रस्ट को भेजेंगे।  श्री जैन ने बताया कि 0 से 6 साल तक मानसिक विमंदित व दिव्यांगों के लिए प्रत्येक जिले में दिशा के स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से एक एक दिशा केन्द्र स्थापित किया जायेगा। प्रत्येक दिव्यांग के लिए नेशनल ट्रस्ट द्वारा 3 हजार 500 रुपये दिये जाते हैं। इसी प्रकार 18 साल से अधिक आयु के दिव्यांगों के लिए घरौंदा केन्द्र स्थापित करने की योजना है। इसमें प्रत्येक दिव्यांग की परवरिश पर प्रतिमाह 10 हजार रुपये की राशि दी जायेगी।  श्री जैन ने बताया कि नेशनल ट्रस्ट को भारत सरकार द्वारा 1999 में स्थापित किया जो सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से जुड़ा है। नेशनल ट्रस्ट दिव्यांगों के मानसिक व बौद्धिक विकास के साथ साथ उनकी परवरिश के क्षेत्र में कार्य करता है। नेशनल ट्रस्ट दिव्यांगों के मानसिक व बौद्धिक विकास के क्षेत्र में कार्य करने वाली स्वयंसेवी संस्थाओं को आर्थिक सहयोग प्रदान करने का काम करता है। बैठक में उप निदेशक श्री कनिष्क सैनी, उप निदेशक विशेष योग्यजन श्रीमति अंजना मानव, सहायक निदेशक श्री संदीप कुमार व दिव्यांगों के क्षेत्र में कार्य करने वाली स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।


वर्ष 2022
तक सबको आवास का वायदा दिवास्वप्न - गहलोत

जयपुर,    पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस महासचिव श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि भाजपानीत केन्द्र सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक सबको आवास उपलब्ध कराने का वायदा किया है, जो एक दिवास्वप्न है। इस दिशा में योजनाबद्ध एवं समयबद्धता के साथ कोई कार्यक्रम तय नहीं किये गये हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी का कार्य निजी क्षेत्र के बिल्डरों के भरोसे छोड़ दिया गया है, जिसका लाभ कमजोर, अल्प एवं मध्यम वर्गों के लोगों को नहीं मिल पा रहा है। इसी तरह प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण भी आमजन के लिए कारगर सिद्ध नहीं हो रही है।    पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा प्रदेश में बीपीएल परिवारों के आवास की समस्या के समाधान के लिए राज्य स्तर पर सबसे बडी आवास योजना लागू की गई, जिसकी राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई। उन्होंने कहा कि यूपीए चेयरपर्सन श्रीमती सोनिया गांधी ने 3 जून, 2011 को बांसवाड़ा में मुख्यमंत्री ग्रामीण बीपीएल आवास योजना को लागू किया। इस योजना के लिए राज्य सरकार ने हुडको से 3400 करोड़ रूपये का ऋण सहयोग जुटाया और इंदिरा आवास योजना को सम्मिलित करते हुए 10 लाख ग्रामीण बीपीएल परिवारों को आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया था।   श्री गहलोत ने कहा कि इस सर्ववृह्द योजना में सितम्बर, 2013 तक साढे चार लाख से अधिक आवासों का निर्माण किया गया। वर्ष 2011-12 से 2015-16 के दौरान राज्य में स्वीकृत आवासों में से 1.60 लाख से अधिक आवास अभी भी निर्माणाधीन हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार ने इस योजना को भी अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं की तरह ठप कर दिया है।   पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी बीपीएल परिवारों के लिये मुख्यमंत्री शहरी बीपीएल आवास योजना लागू की गई, जिसे राष्ट्रीय स्तर पर एक विशिष्ट पहल माना गया। प्रतिवर्ष एक लाख बीपीएल परिवारों को आवास उपलब्ध कराने के लक्ष्य की इस योजना के अन्तर्गत 1.22 लाख आवासों की प्रशासनिक व 97906 आवासों की वित्तीय स्वीकृति जारी की गई, जिनमें से 65897 आवास निर्माणाधीन रहे। वित्तीय वर्ष 2012-13 में लागू की गई इस योजना के तहत शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले बीपीएल परिवारों को 75,000 रूपये प्रति ईकाई शोचालय सहित देने का प्रावधान किया गया था।
श्री गहलोत ने कहा कि आर्थिक दृष्टि से कमजोर व अल्प आर्य वर्ग के परिवारों को आवास उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अर्फोडेबल हाउसिंग पोलिसी लागू की गई, जिसके तहत 5 मॉडल तैयार किये गये। इस पोलिसी के तहत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिये फ्लेट की अधिकतम लागत 2.40 लाख रूपये, अल्प आय वर्ग के लिए 3.75 लाख तथा मध्यम आय वर्ग के लिए अधिकतम 5.00 लाख रूपये निर्धारित की गयी। इस पोलिसी के तहत सितम्बर, 2013 तक 37509 इकाईयों का निर्माण किया गया एवं 45400 मकानों का निर्माण प्रगतिरत रहा। इस प्रकार 82909 मकानों का निर्माण कराया गया।   पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपानीत केन्द्र सरकार द्वारा विकास के बढ़-चढ़कर दावे किये जा रहे हैं और आमजन को अच्छे दिन आने की तरह ही सबको आवास का स्वप्न दिखाया जा रहा है जबकि धरातल पर ऐसा कुछ नहीं है। 

 

अमित शाह का दावा - 26 लाख बेरोजगारों को रोजगार दिया

ईपीजीपी ने बताया दशक का सबसे बड़ा मज़ाक 
जयपुर,   इंडियन पीपल्स ग्रीन पार्टी के प्रवक्ता द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञपति के अनुसार, इंडियन पीपल्स ग्रीन पार्टी ने बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह द्वारा 26 लाख को रोजगार दिए जाने के दावे को इस दशक का सबसे बड़ा मजाक बताया है। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव इंजीनियर गौरव ने इसे बेरोजगारों और युवाओं के साथ एक भद्दा जोंक बताते हुए कहा की सत्तारूढ़ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का बयान निराशाजनक और दुःखद है। चार साल बीत जाने के बाद भी 15 लाख को रोजगार देने का वादा दस प्रतिशत भी पूरा नहीं किया गया है। इंजीनियर गौरव ने सरकार से मांग की है की जिन लाखों युवाओं को रोजगार दिए जाने की बात की जा रही है उनकी लिस्ट पब्लिक में जारी की जाये।     

                
दलितों के घरों पर जाकर खाना खाया या करी नौटंकी

जयपुर     राजस्थान प्रदेश काग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के सम्भागीय संयोजक एंवम बुंन्दी के पूर्व जिला प्रमुख राकेश बोयत ने आरोप लगाया हैं कि भाजपा के नेता दलितों के घरों पर जाकर खाना खाने की नौटंकी कर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की चेष्टा कर रहे हैं जबकि हकीकत यह हैं कि ना तो दलित के घर बना खाना होता है और ना दलित के घर के बर्तन। भाजपा नेताओं का यह कृत्य दलितों का सम्मान करने वाला नही अपितु दलितों का अपमान करने वाला हैं। अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के सम्भागीय संयोजक एंवम बुंन्दी के पूर्व जिला प्रमुख राकेष बोयत ने कहा कि भाजपा के राष्टीय अध्यक्ष अमित षाह भी अपनी प्रदेश यात्रा के दौरान दलित के घर पर खाना खाने गये पर वह खाना दलित के घर पर बना ही नही था अपितु वह बडी होटल से पार्टी के नेताओं ने मंगाया था तो दलित के घर पर पत्तल दोने में खाया गया। पिछले माह प्रदेश यात्रा पर आये गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी दलित के घर पर खाना खाने गये पर वह खाना दलित के घर पर बना ही नही था अपितु वह भी होटल से पार्टी के नेताओं ने मंगाया था।  राकेष बोयत ने कहा कि भाजपा की सोच दलित विरोधी हैं वह आरक्षण की समय समय पर मुखालात करती हैं भाजपा षासन में दलितों पर अत्याचार की घटनाए बढ जाती हैं उन्हौने कहा कि भाजपा के नेता दलितों के घरों पर जाकर खाना खाने की नौटंकी कर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने तथा दलितों को गुमराह करने की चेष्टा कर रहे हैं लेकिन दलित अब भाजपा की असलियत समझ चुका है।
 

खेल-जगत

छठे राष्ट्रमंडल युवा खेलों में भारत चार स्वर्ण पदक सहित कुल 11 पदक जीतकर सातवें स्थान पर रहा। भारत ने कल संपन्न हुए इन खेलों में चार स्वर्ण, एक रजत और छह कांस्य पदक जीते। 
 * बाहामास में राष्‍ट्रमंडल युवा खेलों में मुक्‍केबाज सचिन सिवाच ने स्‍वर्ण पदक जीता।   राष्‍ट्रमंडल युवा खेलों में भारत के मुक्‍केबाज सचिन सिवाच ने स्‍वर्ण पदक अपने नाम किया। 49 किलोग्राम भार वर्ग में सचिन ने वेल्‍स के मुक्‍केबाज जेम्‍स नैथन प्रोबर्ट को खिताबी मुकाबले में चार एक से हराकर स्‍वर्ण पदक जीतने में सफलता पाई। सचिन ने पिछले वर्ष विश्‍व युवा खेलों में भी स्‍वर्ण पदक जीता था।
 *  एच.एस. प्रणय ने पी. कश्यप को हरा कर अमरीकी ओपन ग्रां-प्री गोल्ड बैडमिंटन खिताब जीता।  एच.एस. प्रणय ने अमरीकी ओपन ग्रां प्री गोल्‍ड बैडमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया है। कल रात कैलिफोर्निया के एनाहाइम में प्रणय ने भारत के ही पी. कश्‍यप को 21-15, 20-22, 21-12 से हराया।                                                

महिला सिंगल्‍स फाइनल में जापान की अया ओ होरी ने कनाड़ा की मिशेल ली को हराकर खिताब जीता।

 

25  जुलाई, 2017

 

 

 

सोमवार को कैसा रहा शेयर बाजार

सेंसेक्स 216 अंक बढ़कर बंद, टेलिकॉम और आईटी इंडेक्स सर्वाधिक बढे
>
बीएसई के सेंसेक्स सोमवार दिनांक 24 जुलाई, 2017 को पिछले कारोबारी दिन के 32028.89 अंकों के बंद मुकाबले 216.98 अंकों की बढ़त दर्ज की गयी। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 32100.22 अंकों पर खुला जो ऊपर में 32320.86 अंकों तक जाकर तथा नीचे में 32058.33 अंकों तक आकर अंतत: 0.68 प्रतिशत बढ़कर 32245.87 अंकों पर बंद हुआ।
> बीएसई में आज मार्केट कैपिटलाइजेशन 131.89 लाख करोड़ रु. रहा जो पिछले कारोबारी दिन 131.40 लाख करोड़ रु. था।
> एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स की 17 कंपनियां बढ़ी तथा 13 कंपनियां घटी।
> आज ब्राड बेस्ड सूचकांकों में एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 50- 0.53 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स नेक्स्ट 50- 0.22 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई-100 सूचकांक 0.48 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई मिडकैप- 0.27 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- स्मालकैप सूचकांक 0.27 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 200 सूचकांक 0.45 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 500 सूचकांक 0.43 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- ऑलकैप सूचकांक 0.44 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- लार्जकैप सूचकांक 0.51 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप सेलेक्ट- 0.11 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई मिडकैप सेलेक्ट इंडेक्स- 0.29 प्रतिशत बढ़े।
> सस्टेनेबिलिटी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई कार्बनएक्स- 0.48 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई ग्रीनएक्स- 0.28 प्रतिशत बढ़े।

> थिमेटिक्स इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडेक्स 0.42 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई पीएसयू 0.29 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफेक्चरिंग इंडेक्स 0.40 प्रतिशत बढ़े जबकि एसएंडपी बीएसई सीपीएसई 0.18 प्रतिशत घटे।
> स्ट्रेटेजी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई आईपीओ 0.21 प्रतिशत घटे और एसएंडपी बीएसई एसएमई आईपीओ 0.62 प्रतिशत बढ़े।
> सेक्टरल सूचकांकों मे सर्वाधिक बढ़नेवाले 5 सूचकांक टेलिकॉम (1.39 प्रतिशत), आईटी (1.05 प्रतिशत), टेक (1.05 प्रतिशत), एफएमसीजी (0.95 प्रतिशत) और एनर्जी (0.80 प्रतिशत) रहे।।
> सेक्टरल सूचकांकों मे घटनेवाले सूचकांक मेटल (0.58 प्रतिशत), हेल्थकेअर (0.42 प्रतिशत), रियल्टी (0.19 प्रतिशत) और बेसिक मेटेरियल (0.03 प्रतिशत) रहे।।
> सेंसेक्स में बढ़नेवाली कंपनियों में भारती एयरटेल (2.20 प्रतिशत), रिलायंस (1.89 प्रतिशत), विप्रो (1.89 प्रतिशत), एचडीएफसी बैंक (1.83 प्रतिशत), टीसीएस (1.68 प्रतिशत), आईटीसी (1.63 प्रतिशत), अदानी पोर्टस (1.53 प्रतिशत), स्टेट बैंक (1.41 प्रतिशत), इंफोसिस (1.15 प्रतिशत) और पॉवर ग्रिड (0.65 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> सेंसेक्स में घटनेवाली कंपनियों में डॉ. रेड्डीज लैब (2.44 प्रतिशत), एक्सिस बैंक (1.09 प्रतिशत), टाटा स्टील (0.93 प्रतिशत), सनफार्मा (0.92 प्रतिशत), ओएनजीसी (0.82 प्रतिशत), कोटक बैंक (0.71 प्रतिशत), एचडीएफसी (0.40 प्रतिशत) और कोल इंडिया (0.34 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> आज कुल 212 कंपनियों पर ऊपर का तथा 168 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा, जिनमें ``बी'' ग्रुप की 21 कंपनियों पर ऊपर का एवं ``बी'' ग्रुप की 13 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा।
> बीएसई पर कुल 2909 स्क्रिपों के सौदे हुए, जिनमें 1303 शेयरों के भाव बढ़े, 1413 शेयरों के भाव घटे और 193 शेयरों के भाव यथावत रहे।
> आज इक्विटी में कुल 3,736.50 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें 37.80 करोड़ शेयरों के लिए 14.67 5लाख सौदे हुए।
> आज बीएसई और एनएसई में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने कुल 4,789.38 करोड़ रु. की खरीदारी की और 5,156.22 करोड़ रु. की बिकवाली की। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कुल 3,149.51 करोड़ रु. की खरीदारी की और 2,480.64 करोड़ रु. की बिकवाली की।
> आज बीएसई में करंसी डेरिवेटिव्स में कुल 19,148.58 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें यूएस डॉलर-रुपये (फ्यूचर्स) में 7,783.41 करोड़ रुपये और यूएस डॉलर -रुपये (ऑप्शन्स) में 11,306.73 करोड़ रुपये का कामकाज हुआ।

 

 

संसद ने निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को विदाई दी 

श्री मुखर्जी ने कहा अध्‍यादेश का रास्‍ता विशेष परिस्थितियों में ही अपनाया जाना चाहिए

GST  सहकारी संघवाद का शानदार उदाहरण
निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा, संसद बहस विचार-विमर्श और असहमति व्‍यक्‍त करने की जगह है और इसमें बाधा से सरकार की तुलना में विपक्ष को ज्‍यादा नुकसान होता है। उन्‍होंने कहा कि इससे विपक्ष को आम जनता के सरोकारों को संसद में उठाने का अवसर नहीं मिल पाता। श्री मुखर्जी ने रविवार को शाम संसद के केंद्रीय कक्ष में अपने विदाई समारोह में कहा कि संसद के प्रत्‍येक सदस्‍य के विचार महत्‍वपूर्ण हैं और यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि विधायी कार्यों के लिए नियत संसदीय समय में कमी आ गई है। किसी भी कानून के बनने से पहले पूरी छानबीन और पर्याप्‍त चर्चा पर बल देते हुए उन्‍होंने कहा कि जब संसद कानून बनाने के अपने कर्तव्‍य में विफल होती है या बिना चर्चा के कानून बनाए जाते हैं तो संसद पर लोगों का भरोसा टूटता है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि अध्‍यादेश बनाने का मार्ग केवल बाध्‍यकारी परिस्थितियों में ही अपनाया जाना चाहिए और मौद्रिक मामलों में तो अध्‍यादेश कतई नहीं लाना चाहिए श्री मुखर्जी ने कहा कि अध्‍यादेश उन मामलों में भी नहीं लाना चाहिए जिन पर संसद में या संसदीय समितियों में विचार हो रहा हो। 
राष्‍ट्रपति ने वस्‍तु और सेवा कर वि‍धेयक के पारित होने को शानदार बताया और कहा कि यह सहकारी संघवाद का सुंदर उदाहरण है।
श्री मुखर्जी ने कहा कि उन्‍हें महान भारत के उदय के भागीदार होने और प्रत्‍यक्षदर्शी बनने का विशेष अवसर प्राप्‍त हुआ है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि उनकी सलाह और सहयोग से उन्‍हें लाभ हुआ है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि श्री मोदी बदलाव के लिए पूरे जोश और ऊर्जा के साथ जुटे हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि श्री मोदी के साथ उनके संबंध उन्‍हें आने वाले समय में भी याद रहेंगे।   

उप राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी ने इस अवसर पर कहा कि राष्‍ट्रपति मुखर्जी के कार्यकाल में राष्‍ट्रपति कार्यालय की प्रतिष्‍ठा और गरिमा बढी है।
श्री अंसारी ने कहा कि श्री मुखर्जी का लंबा राजनीतिक जीवन सांसदों और लोगों के लिए एक सबक है तथा आने वाली पीढिया उससे प्रेरणा लेगी। 

लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि श्री मुखर्जी ने अपनी संवैधानिक जिम्‍मेदारियां गरिमा और प्रतिष्‍ठा के साथ निभाई हैं। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रपति ने मानव विकास के लिए शिक्षा और अनुसंधान की आवश्‍यकता तथा उच्‍च शिक्षा में सुधार की जरूरत पर बल दिया है। श्रीमती महाजन ने इस अवसर पर श्री मुखर्जी को एक कॉफी टेबल पुस्तिका भी भेंट की। इस पर सांसदों के हस्‍ताक्षर भी हैं।
विदाई समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ मौजूद थे। इनके अलावा विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं ने भाग लिया। इनमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एच डी देवेगौडा, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी, जनता दल युनाइटेड के नेता शरद यादव और समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक नेता मुलायम सिंह यादव शामिल थे। श्री प्रणब मुखर्जी का पांच वर्ष का कार्यकाल सोमवार को समाप्‍त हो रहा है। नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद मंगलवार को पद की शपथ लेंगे।


सेना ने नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश में लगे आतंकवादी को मार गिराया

जम्‍मू कश्‍मीर में कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्‍टर में नियंत्रण रेखा के पास सेना ने आज घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया। नियंत्रण रेखा पर तैनात सैनिकों ने संदिग्‍ध गतिविधि देखी और घुसपैठियों को चुनौती दी। गोलीबारी में एक आतंकवादी मारा गया।


मौसम
मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे के दौरान गुजरात और पश्चिम बंगाल में भारी वर्षा की चेतावनी दी।

मौसम विभाग ने गुजरात और पश्चिम बंगाल में अगले 48 घंटे के दौरान भारी वर्षा की चेतावनी दी है। गुजरात में इसे देखते हुए राज्‍य प्रशासन हाई अलर्ट पर है।
इस बीच वहां बाढ की स्थिति में सुधार हो रहा है।  बाढ़ का पानी कम होने के कारण दो हजार से अधिक लोग अपने घरों को लौट गये हैं। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सबसे अधिक प्रभावित चोटिला तालुका को छोड़कर अधिकतर सभी गांवों में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है। शनिवार को  भारी जलभराव की वजह से बंद किए गए राजकोट और भुज के राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर यातायात फिर से बहाल हो गया है। हांलाकि मालिया मियाना के पास रेलवे ट्रेक पर भारी जलभराव के चलते भुज अहमदाबाद का रेल यातायात अभी भी बंद है और अनेक ट्रेन या तो रद्द की गई है। या तो ई-‍शड्यूल की गई है। भारी वर्षा से सौराष्‍ट्र के अधिकतम हिस्‍सों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है। सबसे अधिक प्रभावित जिलों में सुरेन्‍द्रनगर, मोरबी, राजकोट, जामनगर और अमरेली शामिल हैं। एनडीआरएफ के 10 और एसडीआरएफ के 12 दल सेना और वायु सेना के जवानों के साथ बचाव और राहत कार्य में सक्रिय है। पिछले 24 घंटों में 319 लोगों को बाढ़ के पानी से बचाया गया है। राज्‍य प्रशासन भी प्रभावित क्षेत्रों में सड़क संपर्क और बिजली की आपूर्ति बहाल करने में व्‍यस्‍त है। 
पश्चिम बंगाल में कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर
पश्चिम बंगाल में कल से तेज वर्षा हो रही है। दक्षिणी और पश्चिमी जिलों में कुछ नदियां उफान पर हैं, लेकिन प्रशासन ने बाढ़ की आशंका से फिलहाल इंकार किया है।
उधर, बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने कम दबाव के कारण पूरे झारखण्‍ड में भारी वर्षा हुई । घाटशिला जिले में कापागोरा नदी का जल स्‍तर बढ़ने के कारण ओडि़शा और पश्चिम बंगाल के बीच सड़क यातायात पर असर पड़ा है। निचले इलाकों के लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है। पिछले दो दिनों से कोलकाता में लगातार हो रही वर्षा से कई सड़कों पर पानी भर गया है। लगभग पूरे दक्षिण बंगाल में पीने के पानी की कमी है। बारिश के कारण राज्‍य के कई हिस्‍सों में बाढ़ आ गई है। दक्षिण बंगाल का इलाका ज्‍यादा प्रभावित हुआ है। तटवर्ती इलाकों के मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है।                                                                         

महाराष्‍ट्र के सतारा, सांगली, कोल्‍हापुर, मालेगांव और अहमदनगर में वर्षा की कमी 
महाराष्‍ट्र के मुम्‍बई में पिछले 15 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। राज्‍य में मॉनसून के सामान्‍य से अधिक रहने के बावजूद सतारा, सांगली, कोल्‍हापुर, मालेगांव और अहमदनगर में कम बारिश हुई है। मुम्बई में पिछले चौबीस घंटों में भारी बारिश से कई निचले इलाकों में जल भरा हुआ है और कई स्थानों पर यातायात की समस्या भी उत्पन्न हुई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि सभी जगहों पर समान बारिश न होने की वजह से कुछ स्थानों पर अभी भी कम बारिश दर्ज हुई है। आईएमडी डेटा के मुताबिक 20 जुलाई तक राज्य के अट्ठारह जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई थी। इस बीच मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में थाणे और नवी मुम्बई इलाके में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। 


भारत ने नेपाल को छह करोड साठ लाख से अधिक नेपाली रुपये की सहायता दी
भारत ने नेपाल में स्‍कूल भवनों के निर्माण के लिए छह करोड साठ लाख से अधिक नेपाली रुपये की सहायता दी है। यह सहायता शिक्षा के आधारभूत ढांचे के विकास के लिए लघु विकास कार्यक्रम योजना के तहत दी गई है। नेपाल में भारत के राजदूत मंजीव सिंह पुरी ने एक स्‍कूल के भवन का उद्घाटन किया है और एक अन्‍य भवन की आधारशिला रखी है।


भारत और बांग्‍लादेश को जलमार्गों से जोड़ने के लिए  संधि 
भारत और बांग्‍लादेश को जलमार्गों से जोड़ने के लिए एक संधि की गई है। इन जलमार्गों से बांग्‍लादेश औरभारत के पूर्वोत्‍तर राज्‍यों तथा पश्चिम बंगाल के बीच यात्रियों और सामान की आवाजाही हो सकेगी। केन्‍द्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और जहाजरानी राज्‍यमंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि इसके लिए बांग्‍लादेश, पश्चिम बंगाल और असम में ब्रह्मपुत्र जैसी प्रमुख नदियों पर बुनियादी सुविधाओं की व्‍यवस्‍था की जाएगी। उन्‍होंने बताया कि यह सेवा इस साल के अंत शुरू होने की उम्‍मीद है।


रूस, ईरान, उत्‍तर कोरिया पर नये प्रतिबंद लगाने के मसले पर

अमरीका में रिपब्लिकन और डेमोक्रेट पार्टी के बीच सहमति
रूस, ईरान और उत्‍तर कोरिया पर नए प्रतिबंधों संबंधी वि‍धेयक पर अमरीका में रिपब्लिक और डेमोक्रेट पार्टी के बीच सहमति बन गयी है। प्रस्‍तावित विधेयक के अनुसार, राष्‍ट्रपति ट्रम्‍प को संभावित कार्रवाई के संबंध में कांग्रेस को एक रिपोर्ट देनी होगी, जिससे रूस के प्रति अमरीकी विदेशनीति में एक बड़ा बदलाव आएगा। इस विधेयक पर मंगलवार को विचार किया जाएगा। इसे पारित करने के लिए दो तिहाई बहुमत की जरूरत है और इस पर वीटो नहीं किया जा सकेगा।


करगिल के शहीदों की पत्नियां सम्‍मानित 
उप-राष्‍ट्रपति पद के प्रत्‍याशी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन-एनडीए के वेंकैया नायडू ने कहा है कि भारत एक शांतिप्रिय देश है, लेकिन शांति को खतरा होने पर हमारे सैनिक माकूल जवाब देते हैं। रविवार को  नई दिल्‍ली में इंडिया गेट पर आयोजित करगिल पराक्रम रैली को संबोधित करते हुए उन्‍होंने करगिल युद्ध में सैनिकों के बलिदान का स्‍मरण किया। 26 जुलाई को क‍रगिल विजय दिवस से पूर्व, श्री नायडू ने कहा कि लोगों को अपने बहादुर सैनिकों के शौर्य और बलिदान को याद रखना चाहिए, जिनके कारण करगिल की पहाडियों पर फिर से भारत का नियंत्रण स्‍थापित हो सका। इस मौके पर उन्‍होंने शहीदों की पत्नियों को सम्‍मानित किया।


SC को केन्‍द्र ने बताया

आयकर विभाग ने 3 वर्षों में 72 हजार करोड़ रूपए की अघोषित आय का पता लगाया
आयकर विभाग ने पिछले तीन वर्ष के दौरान देश में लगभग 72 हजार करोड़ रूपए की अघोषित आय का पता लगाया है। वित्‍त मंत्रालय ने उच्‍चतम न्‍यायालय में दायर हलफनामे में कहा है कि पिछले वर्ष नौ नवंबर से इस वर्ष दस जनवरी तक नोटबंदी के दौरान 5 हजार चार सौ करोड़ रूपए से ज्‍यादा की अघोषित आय का पता चला है और तीन सौ तीन किलोग्राम से ज्‍यादा सोना जब्‍त किया गया। आयकर विभाग ने 2 हजार 27 से ज्‍यादा समूहों की तलाशी ली, जिसमें 36 हजार इक्‍यावन करोड़ रूपए से अधिक की अघोषित आय का पता चला। इसके अलावा दो हजार आठ सौ 90 करोड़ रूपए की अघोषित परिसंपत्ति जब्‍त भी की गई। पहली अप्रैल, 2014 से इस वर्ष 28 फरवरी तक आयकर विभाग ने 15 हजार से अधिक सर्वेक्षण किए, जिनसे 33 हजार करोड़ रूपए से अधिक की अघोषित आय का पता चला।


अर्धकुशल स्‍तर पर रोजगार पैदा करना सबसे बड़ी चुनौती : अरविन्‍द पानगढिया 
नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष अरविन्‍द पानगढिया ने कहा है कि मौजूदा वित्‍त वर्ष में देश की आर्थिक वृद्धि दर साढ़े सात प्रतिशत रहने की संभावना है। न्‍यूयार्क में उन्‍होंने कहा कि इस वित्‍त वर्ष की आखिरी तिमाही में वृद्धि दर आठ प्रतिशत के आसपास रहेगी, लेकिन पूरे वर्ष के लिए औसत लगभग साढे सात प्रतिशत होगा।  श्री पानगढिया ने कहा कि अर्धकुशल स्‍तर पर रोजगार पैदा करना सबसे बड़ी चुनौती है। उन्‍होंने इस स्थिति को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया कि ऑटोमोबाइल, ऑटो कल-पुर्जों, इंजीनियरिंग सामानों, पेट्रोलियम तेलशोधक, दवा निर्माण और सूचना प्रौद्योगिकी-आधारित सेवाओं में भारत का प्रदर्शन अच्‍छा होने के बावजूद इन क्षेत्रों में अधिक रोजगार पैदा नहीं हुआ। उन्‍होंने कहा कि भारत के आर्थिक विकास को रोजगार विहीन विकास बताये जाने के मीडिया के एक वर्ग से वे सहमत नहीं हैं। 


देश में रेडियो प्रसारण के नब्‍बे वर्ष पूरे हुए 
देश में रेडियो प्रसारण  रविवार को 90 वर्ष पूरे कर रहा है। 23 जुलाई 1927 को एक निजी कंपनी- इंडियन ब्राडकांस्‍टिंग कंपनी ने पहली बार तत्‍कालीन बॉम्‍बे स्‍टेशन से रेडियो प्रसारण किया था। 8 जून, 1936 को इंडियन स्‍टेट ब्रॉडकास्टिंग सर्विस, ऑल इंडिया रेडियो के रूप में परिणत हो गई। 1956 में इसका नाम आकाशवाणी रख दिया गया। अपनी स्‍थापना के साथ ही ऑल इंडिया रेडियो अपने आदर्श वाक्‍य - बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय पर बखूबी कार्य कर रहा है और आम लोगों तक व्‍यापक रूप से सूचना, शिक्षा और मनोरंजन पहुंचा रहा है। पिछले 90 वर्षों में देश में रेडियो प्रसारण ने लंबी दूरी तय की है। 8 जून 1936 को इंडियन स्‍टेट ब्रोडकास्टिंग सर्विस को ऑल इंडिया रेडियो का नाम दिया गया। तभी से यह लोगों को जानकारी देने, शिक्षित करने और मनोरंजन करने का दायित्‍व निभा रहा है। दुनिया में इसकी पहचान एक महत्‍वपूर्ण प्रसारण सेवा के रूप में है और इसका समाचार सेवा प्रभाग देश और विदेशों में श्रोताओं को समाचारों और विचारों से लगातार अवगत करा रहा है। ऑल इंडिया रेडियो 23 भाषाओं और 146 बोलियों में कार्यक्रमों का प्रसारण करता है। पूरे देश में इसके 420 केन्‍द्र हैं जिसके माध्‍यम से इसकी पहुंच 99 प्रतिशत से अधिक जनसंख्‍या और 92 प्रतिशत क्षेत्रफल तक है। 


IRCTC ने खान-पान सेवाओं में सुधार के लिए नई केटरिंग नीति बनाई
आईआरसीटीसी ने सीएजी की रिपोर्ट में भोजन की गुणवत्‍ता पर प्रश्‍न उठाने के बाद रेल गाड़ियों और स्‍टेशनों पर खान-पान सेवाओं में सुधार के लिए नई केटरिंग नीति बनाई है। इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड-आई.आर.सी.टी.सी. ने रेल गाड़ियों पर मौजूदा खान-पान सेवाओं को तर्कसंगत बना कर नई केटरिंग नीति बनाई है। नियंत्रक और महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट में रेलवे स्टेशनों और रेल गाड़यों में परोसे जाने वाले भोजन की आलोचना के बाद ऐसा किया गया है। सीएजी की रिपोर्ट में कहा गया है कि रेल गाडियों में परोसे जाने वाला भोजन यात्रियों के खाने योग्य नहीं है और रेलवे की केटरिंग यूनिटों में साफ सफाई की गुणवत्ता मानक स्तर से बहुत कम है। दो करोड़ से ज्यादा यात्री हर दिन ट्रेन में सफर करते हैं और लगभग ग्यारह लाख यात्रियों को रेलवे भोजन मुहैया करवाता है। खाने की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए आईआरसीटीसी ने एक नई कैटरिंग नीति तैयार की है। जिसके तहत आई.आर.सी.टी.सी. नये किचेन लगायेगा और पुराने किचेन को अपग्रेड करेगा। रेलमंत्रालय के अनुसार नये कैटरिंग नीति के तहत सभी मोबाइल यूनिट्स पर आई.आर.सी.टी.सी. द्वारा चलाए जा रहे किचन से ही खाना लिया जाएगा। रेलवे ने यह भी कहा है कि ट्रेन में खान-पान की सप्लाई का अधिकार और स्वामित्व सिर्फ आई.आर.सी.टीसी. के पास है। ऐसे में खान-पान संबंधी शिकायतों के लिए अब वही जिम्मेदार होगा। 
 
इसके अलावा  सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 24 राज्यों में मरीजों के लिए आवश्यक दवाएं उपलब्ध नहीं हैं। मरीजों को बिना गुणवत्ता जांच और दवाओं के उपयोग की अंतिम तिथि देखे बिना दवाएं दी जाती हैं जिससे उनका स्वास्थ्य बिगड़ने का खतरा बना रहता है। सीएजी की रिपोर्ट शुक्रवार को संसद के पटल पर रखी गई।                          

एक अन्‍य रिपोर्ट में सीएजी ने सेना में गोलाबारूद की उपलब्धता में अत्यधिक कमी के लिए आयुध कारखाना बोर्ड की आलोचना की है।
 

शिमला में नाबालिग बालिका के साथ दुष्‍कर्म और हत्‍या के आरोप में दो प्राथमिकी दर्ज

घटना की जांच के लिए तीन सदस्‍यीय जांच दल गठित।
केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो ने हिमाचल प्रदेश के शिमला में एक नाबालिग बालिका के साथ दुष्‍कर्म और हत्‍या के आरोप तथा एक अभियुक्त की पुलिस हिरासत में मौत का मामला दर्ज किया है। हिमाचल प्रदेश उच्‍च न्‍यायालय के निर्देश पर सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है। सीबीआई ने  शनिवार को  इस मामले में दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कीं और पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में तीन सदस्यों के विशेष जांच दल का गठन किया। विशेष जांच दल जांच के लिये घटनास्थल रवाना हो गया है। इस मामले में पुलिस ने छह अभियुक्‍तों को गिरफ्तार किया है। घटना के बाद भारतीय जनता पार्टी और कई अन्य सामाजिक संगठनों ने राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ व्यापक विरोध प्रदर्शन किये। इस बीच, राज्य सरकार ने मृत बालिका के गांव में मिडल स्कूल का दर्जा बढ़ाकर तत्काल प्रभाव से सीनियर सेकेंडरी स्कूल बना दिया है।


नगालैंड में सत्‍तारूढ़ एनपीएफ में आपसी कलह  बढ़ा, 19 विधायक निष्‍कासित
नगालैंड में नगा पीपुल्स फ्रंट- एन.पी.एफ. ने 19 विधायको को पार्टी से निष्कासित कर दिया है और दस अन्य को निलंबित कर दिया है। इन विधायकों ने शुक्रवार को विश्वास मत के दौरान विधानसभा में टी.आर. जेलियांग के पक्ष में वोट दिया था। नये मुख्यमंत्री टी.आर. जेलियांग ने शनिवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर इसमें दस नए मंत्री शामिल किये। इनमें से अधिकांश पार्टी से निष्कासित या निलंबित विधायक हैं।  एन पी एफ के अध्यक्ष ने  शनिवार को  कहा कि पार्टी के 19 विधायकों को अनुशासन समिति की सिफारिशों के आधार पर अनिश्चितकाल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि ये सदस्य, पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल थे। इन विधायकों ने पार्टी अध्यक्ष और तत्कालीन मुख्यमंत्री शुरुहोजेलि लिजित्सु के त्यागपत्र की मांग की थी। श्री लिजित्सु, विधानसभा में अपना बहुमत सिद्ध करने के लिए उपस्थित नहीं हुए थे। इसके बाद उनकी सरकार बर्खास्त कर दी गई थी। अब निष्कासित किए गए विधायकों ने शुक्रवार को टी.आर. जेलियांग द्वारा रखे गए विश्वास प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया था, हालांकि एन.पी.एफ ने इस प्रस्ताव के विरोध में वोट डालने का फैसला किया था। एन.पी.एफ. ने विधासभा अध्यक्ष इमतिवापांग एइर को छोड़कर केवल पांच विधायकों पर कोई कार्रवाई नहीं की। नगालैंड विधानसभा के साठ सदस्य हैं।                                                                                                          


खबरी दुनिया  

---''
अखबारों ने बिहार में महागठबंधन में तनातनी जारी रहने के बीच तेजस्वी विवाद पर राहुल गांधी के नितीश कुमार से मुलाकात को अहमियत दी है। दैनिक जागरण लिखता है- तेजस्वी के इस्तीफे का अध्याय अभी बन्द नहीं।''--- 
 

---''देशबंधु ने वित्तमंत्री का वक्तव्य शीर्षक बनाया है- अदृश्य पैसों पर पल रहा है भारतीय लोकतंत्र। राष्ट्रीय सहारा ने खबर दी है, कारोबारियों के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 16 अगस्त तक बढ़ाई।''---
 

---''हिन्दुस्तान के पहले पन्ने की खबर है कि बेनामी संपत्ति पर आधार से वार, भूमि सौदे पर आधार की अनिवार्यता की तैयारी। रजिस्ट्रेशन अधिनियम के प्रावधानों में संशोधन से खरीद फरोख्त का खेल पकड़ा जाएगा। ''---
 

---''राष्ट्रीय सहारा ने लिखा है सरकार ने आंगनवाडी कर्मियों का वेतन दोगुना किया।''---
 

---''क्रिकेट के महत्वपूर्ण मैदान लार्डस में आज भारत की बेटियों के उतरने को सभी अखबारों ने उत्सुकता के साथ प्रकाशित किया है। अमर उजाला के शब्द हैं- बारह साल बाद फाइनल में टीम इंडिया। नवभारत टाइम्स लिखता है- इस बार जादुई प्रदर्शन, बस एक कदम दूर।''---
 

---''अमर उजाला और जनसत्ता ने रविवारीय परिशिष्ट में समूचे पन्ने के आलेख में 1927 में शुरू हुए रेडियो के 90 साल के सफर को समर्पित किए हैं।''---
 

 

 राजस्थान समाचार विशेष 


राजस्थान को दो पर्यटन अवार्ड मिले

जयपुर,  सरकारी विज्ञप्ती के अनुसार, राजस्थान को पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए दो राष्ट्रीय अवार्ड मिले है। ये अवार्ड बेंगलुरु में आयोजित तीन दिवसीय इंडिया इंटरनेशनल ट्रैवेल मार्ट में दिये गए। राजस्थान को यह अवार्ड हेरिटेज डेस्टिनेशन ऑफ ईयर और बेस्ट डेस्टिनेशन प्रमोशन श्रेणियों में मिले है। ट्रैवेल मार्ट में राजस्थान का स्टॉल आकर्षण का केन्द्र रहा। प्रतिभागियों ने विश्व पर्यटन नक्शे पर राजस्थान की जबर्दस्त उपस्थिति को सराहा और कहा कि देश विदेश का हर पर्यटक अपने जीवन मे बार बार राजस्थान की सैर पर आना चाहता है। मार्ट में राजस्थानी साहित्य का भी वितरण किया गया।


लगभग 10 हजार समितियों में होंगे निर्वाचन

जयपुर सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने रविवार को बताया कि राज्य में लगभग 34 हजार से अधिक सहकारी संस्थाएं हैं और उनमें से लगभग 10 हजार समितियों का निर्वाचन उनके स्तर से ही करवाया जाएगा। जिसके लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य की कोई भी प्राथमिक संस्था केन्द्रीय या अपेक्स संस्था के निर्वाचन में अपने मताधिकार या प्रतिनिधित्व से वंचित न रहे इसके लिए हमने सर्वप्रथम प्राथमिक संस्थाओं में निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण करने का निर्णय किया है। उन्होंने बताया कि राज्य के विकास में सहकारी आंदोलन महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है और उसकी व्यापक भूमिका को देखते हुए सहकारी नियमों में बदलाव किए हैं, जो 10 जुलाई से लागू हो गए हैं। उन्होंने बताया कि सहकारिता के माध्यम से लोगों में अधिक से अधिक शिक्षा के प्रसार के साथ-साथ नेतृत्व का विकास हो सके, के लिए सहकारी सोसायटियों में निर्वाचन हेतु न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता को निर्धारित किया गया है। श्री किलक ने बताया कि हमारा उद्देश्य सहकारी संस्थाओं में अधिक से अधिक स्वायत्ता को बनाए रखते हुए लोकतांत्रिक प्रबंधन को सुनिश्चित करना है। इसके लिए हमने नियमों में अपेक्स संस्थाओं, केन्द्रीय संस्थाओं, जीएसएस, पीएलडीबी, अरबन बैंक, उपभोक्ता समिति, डेयरी समिति, बुनकर समिति, गृह निर्माण सहकारी समिति, क्रेडिट समिति आदि में निर्वाचन हेतु शैक्षणिक योग्यता का निर्धारण कर दिया है। उन्होंने बताया कि इन समितियों में मतदाताओं की संख्या अधिक होने एवं उनका कार्य क्षेत्र विस्तृत होने के कारण इनका निर्वाचन राजस्थान राज्य सहकारी निर्वाचन प्राधिकरण द्वारा करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शेष प्राथमिक समितियों का निर्वाचन उनके स्तर से ही होगा। उन्होंने बताया कि सभी खण्डीय अतिरिक्त रजिस्ट्रार एवं इकाई उप रजिस्ट्रार को निर्देश जारी कर दिए हैं कि वे अपने अध्यधीन उन सभी प्राथमिक संस्थाओं में निर्वाचन की प्रक्रिया को पूर्ण करा लें जिनमें निर्वाचन ड्यू हो गए हैं। सहकारिता मंत्री ने बताया कि राज्य निर्वाचन प्राधिकरण के स्तर से भी नए नियमों के तहत निर्वाचन की कार्यवाही प्रारम्भ कर अरबन बैंकों के निर्वाचन का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है।


बेस लाइन सर्वे के अनुसार 15 दिन में प्रस्ताव बनाएं
- महरिया
 फतेहपुर पंचायत समिति फतेहपुर की ग्राम पंचायत गारिण्डा की राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में रात्रि चौपाल का आयोजन क्षेत्रीय विधायक नन्द किशोर महरिया, जिला कलेक्टर नरेश कुमार ठकराल के सानिध्य में हुआ। इस दौरान विद्यालय के सर्वागीण विकास के लिए अक्षय पेटिका की शुरूआत की गई, जिसमें ग्रामीण जन, जन प्रतिनिधिगण,अधिकारियों, शिक्षकों एवं समाज सेवियों द्वारा इच्छानुसार सहयोग किया गया। रात्रि चौपाल को सम्बोधित करते हुए विधायक नन्दकिशोर महरिया ने कहा कि उनके द्वारा गोद लिए गए गांव गारिण्डा में विभिन्न विभागों के 13 कार्यों के बेस लाईन सर्वे के अनुसार 15 दिन में प्रस्ताव बनाकर उसके अनुसार सभी विभाग जिम्मेदारी के साथ विकास कार्य की शुरूआत करें। जिला कलेक्टर ठकराल ने भी मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत आदर्श पंचायत आदर्श पैमाने के मानक के अनुसार पेयजल, चिकित्सा, सड़कें, बिजली आदि विभागों के अधिकारियों को प्रस्ताव बनाकर भिजवाने के निर्देश दिये ताकि गांव का सर्वागीण विकास हो सके। उन्होंने गारिण्डा से जलालसर तक 5 किलोमीटर सड़क मार्ग को एक माह में पूर्ण करने के निर्देश पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों को दिये।        

                                                                                           

गहलोत ने वैष्णव एवं गोदारा के निधन पर शोक- संवेदनाएं व्यक्त की
 जयपुर,    पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस महासचिव श्री अशोक गहलोत ने जोधपुर देहात जिला कांग्रेस के महामंत्री श्री भंवरलाल वैष्णव के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि श्री वैष्णव कांग्रेस के एक निष्ठावान एवं प्रतिबद्ध कार्यकर्ता थे, जिन्होंने जीवन पर्यन्त जनसेवा और पार्टी की मजबूती के लिए कार्य किया। उनकी सेवाऐं सदैव याद की जाती रहेंगी।  
श्री गहलोत ने रविवार को प्रातः पाली में हुए भीषण सड़क हादसे में जोधपुर के एस.एल.बी.एस.ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के संचालक श्री जितेन्द्र गोदारा सहित चार लोगों के निधन पर भी गहरा दुःख व्यक्त किया है।उन्होंने कहा कि श्री गोदारा व्यवहार कुशल, मृदुभाषी एवं युवा समाजसेवी थे। मेरा उनके साथ स्नेहपूर्ण सम्बन्ध रहा। उनके द्वारा जोधपुर क्षेत्र में शिक्षा क्षेत्र में दिये गये योगदान सदैव किया जायेगा। श्री गहलोत ने परमपिता परमेश्वर से दिवंगतों की आत्मा की शांति एवं शोकाकुल परिजनों को इस यह आघात सहन करने की प्रार्थना की है।     

                                                                                                                            

'साथी सेवा संस्थान'  ने और 251 वृक्ष लगाये

जयपुर,साथी सेवा संस्थान के "वृक्षम' अभियान के तहत चलाये जा रहे वृक्षारोपण का अभियान आज श्रीराम गौशाला,खेजड़ावास, कालवाड़ रोड, जयपुर पर रहा।संस्था के अध्यक्ष मुकेश वर्मा(कुमावत) ने बताया कि रविवार  गौशाला में 251 वृक्ष लगाये गये।साथी सेवा संस्थान ने वृक्षम अभियान के तहत 1लाख वृक्ष लगाने का लक्ष्य रखा है उसी क्रम में संस्था लगातार वृक्षारोपण अभियान चला रही है।यह अभियान तब तक जारी रहेंगें जब तक 1लाख वृक्ष नहीं लग जाते।संस्थान का वृक्षम अभियान पर्यावरण को समर्पित है।साथी सेवा संस्थान के रविवार के वृक्षारोपण कार्यक्रम में साथी सेवा संस्थान के संपत कासट,नंदलाल,रोशन वर्मा,गणेश परिहार,अमित,विजय खुड़िया, अजय सैनी व अन्य के साथ श्रीराम गौशाला के अध्यक्ष दूर्गा लाल कुमावत, सचिव श्योजीराम कुमावत, धन्ना लाल कुमावत,नारायण लाल,सुरेश व अन्य स्थानीय लोगों ने हिस्सा लिया।


जयपुर रनर्स और दिल्ली के रनर्स ने साथ लगायी देओली से बूंदी की दौड़

जयपुर,     प्राप्त समाचारों के अनुसार दिल्ली और जयपुर के रनर्स ने बालिका शिक्षा को प्रमोट करने के लिए आई आई टी दिल्ली के रिसर्च स्कोलर गगन दीप के साथ देओली से बूंदी तक की पचास किलोमीटर की दोड लगायी। रास्ते में बारिश , कीचड़ , और टूटी सडके भी रनर्स के ज़ज्बे को कम ना कर पायी।  एयू जयपुर मेराथन के सीईओ मुकेश मिश्रा ने बताया की टीम जयपुर मेराथन और गर्ल एजुकेशन फाउंडेशन की पहल पर आयोजित इस रन की शुरुआत सुबह पांच बजे हुई जिसमे जयपूर से धर्मेश , गणेशा ,कृष्णा ,मोहनीश और सोरभ इस रन का हिस्सा दिल्ली के रनर्स के साथ बने . पचास किलोमीटर कि इस दोड में ग्रामीणों से हर दस किलोमीटर के बाद बालिका शिक्षा की जरूरत और महत्ता के बारे में बताया गया , रन को लीड कर रहे गगन दीप ने कहा की रनिग के एक नोबल कॉज को प्रमोट करने का अनुभव एक अनूठा अनुभव है जिससे के जरिये हम अपनी बात ग्रामीणों को समझा पाए।

 

उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद गरीब व्यापारियों को किया बेदखल : आकाश सचान 
जयपुर,     इंडियन पीपल्स ग्रीन पार्टी के प्रदेश महामंत्री आकाश सचान ने राज्य सरकार की विभिन्न एजेंसियों द्वारा फुटकर व्यवसायियो को परेशान किये जाने की निंदा की है। सचान ने बताया कि राजस्थान उच्च न्यायालय ने इन गरीब व्यापारियों को यथास्थिति के आदेश दिए हुए है और निर्देश दिए हुए है कि जब तक वेंडिंग ज़ोन के लाइसेंस नही मिलते तब तक इन गरीब हाट कारोबारियों को व्यवसाय करने दिया जाए। दूसरी ओर स्थानीय पुलिस और नगर निगम भट्टा बस्ती, ईदगाह और संजय बाजार जैसी जगहों पर काम नही करने दे रही। उन्होंने बताया कि पार्टी की मजदूर यूनियन ने हाल में अवमानना याचिका लगा कर फिर से न्यायालय से गुहार लगाई है।   

                                     

विधानसभा में स्व. मदेरणा को श्रद्धांज​लि
जयपुर, 23 जुलाई। विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष स्व. परसराम मदेरणा को रविवार को  यहां विधानसभा में उनकी जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। स्व. मदेरणा को पूर्व विधायक श्री नवरंग सिंह, विधानसभा सचिव श्री पृथ्वीराज, उपसचिव श्री हनुमान कुमार सैनी, उप सचिव श्री गिरिराज बागंड, सहायक सचिव श्री महेश चन्द्र शर्मा सहित विधानसभा के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। 


खाद्य आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति

आवेदन की तिथि 28 जुलाई तक बढ़ाई 
जयपुर,   एक सरकारी विज्ञप्ती के अनुसार ,खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्तियों के संबंध में आवेदन करने की अवधि जो 21 जुलाई, 2017 थी, इसे बढ़ा कर 28 जुलाई, 2017 कर दी गई है।  विभाग के उपायुक्त एवं संयुक्त श्री आकाश तोमर ने इस संबंध मे जानकारी दी कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा नियम, 2013 की धारा 16 की उपधारा (1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए विभाग द्वारा दिनांक 10 जुलाई को जारी अधिसूचना के तहत अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्तियों के संबंध में विज्ञप्ति जारी की गई थी। जिसके अनुसार इच्छुक,योग्य व्यक्ति अपना आवेदन मय विस्तृत बायोडाटा विभागीय ई-मेल आई डी secy-food-rj@nic.in खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के कमरा न. 7022 शासन सचिवालय जयपुर डाक द्वारा 28 जुलाई तक भेज सकते है। 
 

खेल-जगत    
लंदन में विश्‍व पैरा-एथलीटिक चैंपियनशिप में भारत ने ऊंची कूद में रजत और कांस्‍य पदक जीते।    लंदन में विश्‍व पैरा-एथलीट चैंपियनशिप में ऊंची कूद प्रतियोगिता-टी 42 में कल रात भारत ने दो पदक जीते। इस प्रतियोगिता में अब भारत के पदकों की संख्‍या पांच हो गई है।

 

24 जुलाई, 2017