प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्‍वविद्यालयों में नवाचार और रचनात्‍मकता पर बल दिया

नए प्रयोगों की तरफ स्‍वामी विवेकानंद के रूझान का उल्‍लेख करते हुए श्री मोदी ने कहा -सरकार उनके आदर्शों पर चल रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि लोगों की क्षमता और शक्ति के कारण विश्‍व मंच पर भारत का गौरव बढ़ रहा है। श्री मोदी सोमवार को नई दिल्‍ली के विज्ञान भवन में छात्र सम्‍मेलन- "युवा भारत नया भारत" को संबोधित कर रहे थे। यह आयोजन विश्‍व धर्म संसद में स्‍वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक और गौरवशाली शिकागो संबोधन की 125वी वर्षगांठ पर किया गया था। सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि रचनात्‍मकता के बिना जीवन का कोई अर्थ नहीं है। क्रिएटिविटी के बिना जिंदगी नहीं है। हम रोबोट नहीं बन सकते। हमारे भीतर का इंसान हर पल उजागर होते रहना चाहिए। लेकिन वो करें जिससे देश की ताकत बढ़े। देश का सामर्थ्‍य बढ़े और देश की जो आवश्‍यकता है, पूर्ति हो। जब तक हम इन चीजों से अछूत रहेंगे, हम धीरे धीरे सिमट जाएंगे। हम तो जय जगत वाले लोग है। पूरे विश्‍व को अपने भीतर समाहित करना है और हमी एक चोचले में बंद हो जाएंगे। ये कोई हम लोगों की सोच नहीं हो सकती। श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि स्‍वामी विवेकानंद ने प्रयोग और नवाचार पर बल दिया था और उनकी सरकार उनके आदर्शों के अनुरूप काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि छात्र संगठनों को विश्‍वविद्यालय चुनाव के लिए प्रचार करते समय स्‍वच्‍छता को अधिक महत्‍व देना चाहिए। मैं पूरे हिन्‍दुस्‍तान को पूछता हूं कि क्‍या हमें वंदे मातरम कहने का हक है क्‍या। वंदे मातरम बोलने का इस देश में सबसे पहला किसी को हक है तो देश भर में सफाई का काम करने वाले भारत मां के उन सच्‍चे संतानों को है, जो सफाई करते हैं। हम ये जरूर सोचे कि हम सफाई करें या न करें। गंदा करने का हक हमें नहीं है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सन 1893 के 11 सितम्‍बर का दिन सिर्फ भारत नहीं, बल्कि पूरे विश्‍व के लिए महत्‍वपूर्ण था, जब स्‍वामी विवेकानंद ने प्रेम, भाईचारे और शांति का संदेश दिया था, लेकिन इस मूल संदेश को भुला देने का परिणाम ही 2001 के 11 सितम्‍बर को अमरीका में हुई त्रासदी के रूप में सामने आया। 21वीं सदी के प्रारंभ का वो नाइन इलेवन जिसमें मानव जात के विनाश का मार्ग, संहार का मार्ग। उसी अमेरिका की धरती पर एक नाइन इलेवन को प्रेम और अपनत्‍व का संदेश दिया जाता है। दुनिया को समझ आया कि भारत से निकली हुई आवाज नाइन इलेवन को किस रूप में इतिहास में जगह देती है। प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि स्‍वामी विवेकानंद ने कहा था कि विश्‍व की समस्‍याओं का समाधान एशिया से ही संभव होगा। आज विश्‍व भी यह मान रहा है कि 21वीं सदी एशिया की सदी है।

श्री मोदी ने कहा कि जहां स्‍वामी विवेकानंद ने शिकागो भाषण में भारत और धर्म के प्रति भारतीय अवधारणा को महान बताया, वहीं उन्‍होंने देश में व्‍याप्‍त सामाजिक बुराइयों पर तीखा प्रहार भी किया था। ऐसा एक महापुरूष पल दो पल में पूरे विश्‍व को अपना बना लेता है। पूरे विश्‍व को अपने अंदर समाहित कर लेता है। हजारों साल की विकसित हुई भिन्‍न-भिन्‍न्‍ा मानव संस्‍कृति को वो अपने में समेट करके विश्‍व को अपनत्‍व की पहचान देता है। विश्‍व को जीत लेता है। वो नाइन इलेवन था। विश्‍व विजयी दिवस था वो। स्‍वच्‍छता का उल्‍लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कस्‍बों और शहरों में गंदगी फैलाने वालों को वंदे मातरम् के उद्घोष का अधिकार नहीं है। मैं पूरे हिन्‍दुस्‍तान को पूछता हूं कि क्‍या हमें वंदे मातरम कहने का हक है क्‍या। वंदे मातरम बोलने का इस देश में सबसे पहला किसी को हक है तो देश भर में सफाई का काम करने वाले भारत मां के उन सच्‍चे संतानों को है, जो सफाई करते हैं। हम ये जरूर सोचे कि हम सफाई करें या न करें। गंदा करने का हक हमें नहीं है।
भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने आज कोलकाता में स्‍वामी विवेकानंद के पैतृक निवास पर उन्‍हें पुष्‍पांजलि अर्पित की। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने भी स्‍वामी विवेकानंद को श्रद्धाजंलि अर्पित की।


भारत, अफगानिस्‍तान को मानवीय और विकास सहायता देता रहेगा: प्रधानमंत्री 

दोनों देशों ने स्‍वास्‍थ्‍य और परिवहन सहित चार समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने शांतिपूर्ण, एकजुट, लोकतांत्रिक और खुशहाल अफगानिस्‍तान के निर्माण के लिए मानवीय और विकास सहायता के रूप में भारत के पूरे समर्थन को फिर दोहराया है। आज शाम नई दिल्‍ली में अपने निवास पर अफगान विदेश मंत्री सलाहुद्दीन रब्‍बानी के साथ बातचीत के दौरान श्री मोदी ने यह बात कही। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अफगानिस्‍तान के साथ अपने संबंधों को सर्वोच्‍च प्राथमिकता देता है। श्री मोदी ने आतंकवाद से निपटने में अफगानिस्‍तान को भारत के पूरे समर्थन का भी आश्‍वासन दिया। बातचीत के दौरान अफगान विदेशमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को अफगानिस्‍तान की स्थिति से अवगत कराया। दोनों नेता इस बात पर भी सहमत थे कि अफगान शांति प्रक्रिया का नेतृत्‍व, नियंत्रण और स्‍वामित्‍व अफगानिस्‍तान के लोगों के हाथों में रहना चाहिए।

 

कश्‍मीर मे मुद्दों के समाधान के लिए
सरकार खुले दिल और दिमाग से अलगाववादियों सहित किसी से भी वार्ता करेगी 

केन्‍द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने फिर कहा है कि केन्‍द्र जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति, गरिमा, सम्‍मान और सभी लोगों का विकास सुनिश्चित करने के लिए राज्‍य से जुड़े सभी मुददों और समस्‍याओं के समाधान के लिए प्रतिबद्ध है।  गृह मंत्री ने कश्‍मीर घाटी में सुरक्षा स्थिति में हुए महत्‍वपूर्ण सुधार पर संतोष व्‍यक्‍त किया है। राजनाथ सिंह ने घोषणा की कि मोदी सरकार खुले दिलो दिमाग से मुद्दो को हल करने के लिए अलगाववादियों सहित सभी हितधारकों से बात करने के लिए हमेशा तैयार हैं। उन्‍होंने आश्‍वासन दिलाया कि सरकार संविधान की धारा 35ए के तहत जम्‍मू कश्‍मीर के विशेष दर्जे की संरक्षण के मुद्दों पर लोगों की भावनाओं के खिलाफ नहीं जाएगी। उन्‍होंने घोषणा की कि केन्‍द्र सरकार 80 हजार करोड रूपये के प्रधानमंत्री विकास पैकेज के तहत लागत में वृद्धि को समायोजित करेगी जो एक लाख करोड से अधिक की सीमा पार कर चुकी है। उन्‍होंने कश्‍मीरी युवाओं को सलाह दी कि वे पत्‍थरबाजी और मिलिटेंट्सी से दूर रहें। श्रीनगर में संवाददाता सम्‍मेलन में गृहमंत्री ने कहा कि वे कश्‍मीर समस्‍या के समाधान के इच्‍छुक हर पक्ष से मिलने को तैयार है। उन्‍होंने कहा कि इसके लिए किसी औपचारिक या अनौपचारिक आमंत्रण का सवाल नहीं है। अलगाववादियों के साथ वार्ता के लिए सरकार के तैयार होने के सवाल पर श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वार्ता के इच्‍छुक लोगों को आगे आना चाहिए। बार-बार आने से इंटेंशन क्‍लीयर है कि हम जम्‍मू कश्‍मीर की प्राब्‍लम को रिजॉल्‍व करना चाहते हैं और यहां के हालात को समझने के बाद मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूं कि पहले से स्थिति काफी बेहतर हुई है । मैं सेना के बीच भी जाऊंगा । उन लोगों से भी मैं मिलूंगा । मैं किसी को छोड़ना नहीं चाहता, जिसके साथ कि हमारा संवाद ना हो, जिसके साथ हमारा कोई डॉयलाग न हो।  श्री सिंह ने कहा कि कश्‍मीर मुद्दे के स्‍थायी समाधान के लिए करूणा, संपर्क, सह-अस्तित्‍व, भरोसा बहाली और तालमेल जरूरी है। उन्‍होंने कहा कि सरकार सभी संबंधित पक्षों के साथ वार्ता करना चाहती। श्री सिंह ने कहा कि भारत पाकिस्‍तान के साथ दोस्‍ताना रिश्‍ते चाहता है लेकिन पाकिस्‍तान को जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ रोकनी चाहिए। श्री राजनाथ सिंह ने देशवासियों और देश के बाहर रहने वाले लोगों से कश्‍मीर की यात्रा करने की अपील भी की।उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार कश्‍मीर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विशेष पर्यटन अभियान शुरू करेगी। और कश्‍मीर के हालात को देखने के बाद मैं भारत और दुनिया के सारे जितने टूरिस्‍ट हैं और जितने टूरिस्‍ट आर्गनाइजेशन हैं, मैं उनसे अपील करना चाहता हूं, कश्‍मीर के लोग आपका इस्‍तकेबाल करने के लिए तैयार हैं । कश्‍मीर के लोग फिर से इस कश्‍मीर को जन्‍नत बनाना चाहते हैं। दहशत गर्दों से बाहर करना चाहते हैं। आप आइए टूरिजम के परपस से आइए, बिजनेस के पर्पस से आइए।


SC  ने रेयान में एक बच्‍चे की हत्‍या

CBI से जांच कराने की याचिका पर केंद्र और हरियाणा सरकार से जवाब मांग
उच्‍चतम न्‍यायालय ने निजी स्‍कूलों में बच्‍चों की सुरक्षा और इस बारे में प्रबंधकों की जिम्‍मेदारी तय करने के दिशा-निर्देशों के बारे में केन्‍द्र सरकार और हरियाणा सरकार से तीन सप्‍ताह के भीतर जवाब मांगा है। न्‍यायालय, हरियाणा में गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्‍कूल में सात साल के एक बच्‍चे की हत्‍या के मामले में मृत बच्‍चे के पिता की याचिका की सुनवाई कर रहा था। प्रधान न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अध्‍यक्षता वाली तीन न्‍यायाधीशों की खंडपीठ ने केन्‍द्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड और हरियाणा सरकार से इस बारे में जवाब मांगा है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्‍कूलों की सुरक्षा को लेकर सख्‍त निर्देश जारी करेगा। केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने आज नई दिल्‍ली में कहा कि केन्‍द्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा मान्‍यता प्राप्‍त स्‍कूलों को मंत्रालय की ओर से सुरक्षा सम्‍बंधी निर्देश भेजे जा रहे हैं। स्‍कूलों की सेवा में ज्‍यादा से ज्‍यादा कर्मचारी है वो अगर महिलाएं ज्‍यादा उसमें होगी तो निश्चित रूप से एक और सुरक्षा का माहौल बन सकता है। और साथ ही साथ यह कह सकते हैं कि बार-बार जो एहतियाती कदम उठाने के लिए जो एडवाइजरी देते है वैसे एडवाइजरी सीबीएसई डिटेल में फिर से एक बारी जारी करेगा। पेरेंटस से भी बात करूंगा और सभी स्‍कूल व्‍यवस्‍था प्रबंधकों को भी बुलाएंगे कि कैसे एहतियाती कदम और अच्‍छे उठा सकते हैं।


SC का, जेपी इन्‍फ्राटेक को 27 अक्‍तूबर तक दो हजार करोड़ रूपये जमा करने का निर्देश 
उच्‍चतम न्‍यायालय ने आज बिल्‍डर जे पी इंफ्राटैक लिमिटेड के खिलाफ दीवालिया घोषित करने संबंधी कार्रवाई को फिर से शुरू करने का आदेश दिया। अदालत ने कंपनी के प्रबंध निदेशक और निदेशकों को बिना अनुमति विदेश यात्रा न करने का भी निर्देश दिया है। अदालत ने कंपनी से दो हजार करेाड़ रुपए अदालत की रजिस्‍टरी में 27 अक्‍तूबर तक जमा कराने को भी कहा है ताकि मकानों की खरीद करने वालों के हितों की सुरक्षा की जा सके। उच्‍चतम न्‍यायालय ने जे पी इंफ्राटैक लिमिटेड को भवन निर्माण संबंधी कुछ दस्‍तावेज जमा कराने के निर्देश भी दिये हैं।


SC कार्ति चिदम्‍बरम के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर पर रोक लगाने, CBI की अपील पर 18 सितम्‍बर को सुनवाई करेग
उच्‍चतम न्‍यायालय पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्‍बरम के बेटे कार्ति चिदम्‍बरम के खिलाफ भ्रष्‍टाचार मामले में सरकार के लुकआउट सर्कुलर पर रोक लगाने के मद्रास उच्‍च न्‍यायालय के आदेश को चुनौती देने वाली सीबीआई की अपील पर 18 सितम्‍बर को सुनवाई करेगा। 15 मई को दर्ज सीबीआई की प्राथमिकी में 2007 में आई एन एक्‍स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी में अनियमितताओं का आरोप लगाया गया था।


उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए सीबीएसई अध्‍यापक पुरस्‍कार 2016-17 प्रदान किए
केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्‍य मंत्री उपेन्‍द्र कुशवाहा ने देशभर के 33 अध्‍यापकों को शिक्षा की गुणवत्‍ता बढ़ाने में उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए सीबीएसई अध्‍यापक पुरस्‍कार 2016-17 प्रदान किए। इन पुरस्‍कारों में पचास हजार रुपये की नकद धनराशि और एक शॉल दी जाती है। इस अवसर पर श्री कुशवाहा ने कहा कि अध्‍यापक अपने दायित्‍वों का पूरी निष्‍ठा और नवीन तकनीक के प्रयोग से निर्वहन करते हैं। और हमको संकल्‍प लेना है अगले पांच वर्षों में। हिन्‍दुस्‍तान को आतंकवाद से मुक्‍त, गरीबी से मुक्‍त, भ्रष्‍टाचार से मुक्‍त । सबसे मुक्‍त भारत बनाना है और अंत तक नया भारत बनाना है। इस नए भारत का निर्माण शिक्षकों के योगदान के बिना नहीं हो सकता। शिक्षक योगदान कर रहे हैं। निश्चित रूप से हमारा विश्‍वास है कि नया भारत बनेगा। आप सब लोगों की कोशिश की बदोलत बनेगा। जहां भी कमी है उन कमियों को दूर करने की दिशा में हमारा विभाग मंत्रालय भी प्रयत्‍नशील है।


स्वामी विवेकानंद और मोदी के भारत का अंतर

स्वामी जी भारत सच, प्रगतिशीलता, उदारवादी सोच, शांति और सद्भावना वाला था, आपसी वैमनस्य का नहीं 
डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि, दुर्भाग्य की बात है कि मोदी जी जिस भारत के निर्माण की बात कर रहे हैं और प्रभावशाली वक्ता तो वो हैं ही, उस प्रभावशाली वक्ता के रुप में जो आपने आज भी सुना और हर वर्ष और बल्कि हर हफ्ते आप सुनते हैं, जिस भारत का वो निर्माण वो कर रहे हैं, ये दुखद प्रसंग है और दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि वो भारत विवेकानंद जी की सोच और विचारों से कोसों दूर था, कोसों मीलों दूर था। महापुरुष विवेकानंद जी का भारत सच, प्रगतिशीलता, उदारवादी सोच, शांति और सद्भावना वाला भारत था, आपसी वैमनस्य से मिलों दूर था।  आज का भारत मोदी जी का भारत या भविष्य का जो भारत बनाना चाह रही है मोदी सरकार, उतना ही दुर्भाग्यपूर्ण है वो संकीर्णता का भारत, वो आडम्बर और झूठ का भारत, वो संकुचित सोच का भारत, घृणा, कट्टरता और हिंसा के वातावरण से ओत-प्रोत भारत और मोदी जी ने आज भी चर्चा की युवा भारत की, नए भारत की, लेकिन युवा भारत, नया भारत सच में बेरोजगारी वाला भारत बन गया है, उसकी चर्चा उन्होंने नहीं की।  हम नतमस्तक हैं ऐसे स्वामी विवेकानंद जैसे महापुरुष के विषय में। हम 1893 वाले उनके शिकागो के address के सामने नतमस्तक हैं, हर भारतीय की छाती गौरव से बढ़ जाती है और भगवत गीता से स्वामी विवेकानंद जी ने quote किया था, उसको मैंने अंग्रेजी में quote किया था।  ये किसी समयकाल का संदेश नहीं है, ये सर्वकालिक है, टाईम न्यूट्रल है। कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस अध्यक्ष, कांग्रेस उपाध्यक्ष इस 1893 के वर्ष की शुभता पर नतमस्तक हैं। ये एक बहुत ही जबरदस्त शुभ अवसर है कि एक ही तिथि पर एक ही दिन पर 3 ऐसी चीजें मिल रही हैं, इंटरसेक्शन हो रहा है। पहली बार इस दिन 1906 में महात्मा गाँधी जी ने सत्य पर आग्रह शब्द “सत्याग्रह” का प्रयोग किया Johannesburg में, भारतीयों से बात करते हुए, वार्तालाप करते हुए और आज ही आचार्य Vinobha Bhave जी की Birth Anniversary है, जो आप जानते हैं Bhoodan से किस प्रकार से उसका निर्माण किया, उसकी सोच की और जैसा माननीय प्रधानमंत्री जी ने सही कहा कि महापुरुष विवेकानंद जी का भी दिवस आज है, दुर्भाग्य की बात है माननीय प्रधानमंत्री जी आपके शब्दों, कथनी और करनी में जमीन-आसमान, आसमान और पाताल का फर्क है, सच्चाई ये है कि आपकी सरकार स्वामी विवेकानंद जी के शब्दों, उनकी आत्मा, उनके जो शब्दों का Spirit है, उसके ठीक विपरीत काम कर रही है। आज प्रतिशोध की भावना, आपसी वैमनस्य की भावना, संकीर्णता द्वारा और साम्प्रदायिकवाद और एक सोच के द्वारा, विभाजन की राजनीति के द्वारा, दोषारोपण की राजनीति के द्वारा पूरा माहौल विवेकानंद जी के विचारों के बिल्कुल विपरीत किया जा रहा है, 180 डिग्री विपरीत।

                                                                                                                                                                                     

सच्चाई ये है कि आज मोदी सरकार, मोदी सरकार के समर्थकों, उनकी संस्थाओं के फलसफे के अंतर्गत हम क्या पहनते हैं, क्या खाते हैं, कहाँ जाते हैं, किससे बातचीत करते हैं, क्या बातचीत करते हैं, कैसे रहते हैं, अपने जीवन को कैसे व्यतीत करते हैं, उस विषय में स्वतंत्र सोच, स्वतंत्र कार्य असंभव है। असहमति, एक खुली सोच, rationalist का पूरा समुदाय, उनको फांसी दी जा रही है दिन-प्रतिदिन और इसके कई सारे उदाहरण – गौ-माता के नाम पर lynching से लेकर, हाल में जो मैंगलोर में हुआ उसका हमने विस्तार से आपके सामने विवरण रखा था, कुछ दिनों पहले इसी मंच से। 
दूसरा उदाहरण महिलाओं का आदर, जो माननीय प्रधानमंत्री जी ने जिक्र किया, मैं नहीं समझता कि इस मुद्दे पर कोई दो राय हो सकती है, लेकिन आज जो भय का वातावरण है। आज आप बाहर जाईए, सैर कीजिए तो आपको अंजाने लोग आकर कहेंगे कि हम घबरा रहे हैं, अपने बच्चों को स्कूल भेजने से। दिल्ली को छोडिए, अभी आपने पढ़ लिया, इतनी भयानक भर्त्सना वाली चीज है कि बोलने में तकलीफ होती है, आपके कैमरों और सब चैलन पर देखने में, हमें तो तकलीफ होती है देखने में, हम तो चैनल बदल लेते हैं, इतनी ज्यादा तकलीफ की बात है। अभी दुमका, झारखंड में क्या हुआ - एक बहुत छोटी लड़की का 12 व्यक्तियों द्वारा बलात्कार किया गया, इन चीजों का आपके सामने विवरण करना पड़ता है, लेकिन दुख होता है और देश विचलित है इससे, देश प्रश्न कर रहा है, पूछ रहा है। 
तीसरा उदाहरण “मेक इन इंडिया”, मैं समझता हूं आपके और हमारे कान पक गए ये phrase सुन-सुन कर। 3 वर्ष में ये और 3-4 ऐसे phrase बार-बार सुने। “मेक इन इंडिया” का अगर पर्यायवाची शब्द दूं तो मैं रोजगार होगा। दो चीज तो है ही नहीं, एक ही चीज है। अब “मेक इन इंडिया” हमने तो, हम इतने अच्छे नहीं है जुमलों में, वास्तविकता है ये, मैं सही कह रहा हूं, हमें तो लगता है कि हमारी रोजगार की वृद्धि इनसे कई गुना ज्यादा थी, हमें तो “मेक इन इंडिया” के पार करना चाहिए था। तो हमारे पास तो टेलेंट नहीं है, उसके लिए मैं आपके सामने गलती मान रहा हूं, लेकिन माननीय मोदी जी ने इतना सुनाया आपको “मेक इन इंडिया” के बारे में, CMIE के published डाटा, एक क्वार्टर में जनवरी से मार्च के बीच में 15 लाख रोजगार गए हैं। सबसे पुरानी एक संस्था है जो सिर्फ आंकड़ों पर जाती है, जिसे राजनीति से मतलब नहीं। 1 लाख पिछले क्वार्टर में रोजगार बढ़ा है और 15 लाख पहले क्वार्टर में कम हुआ और मैं अभी समझता हूं कि आपने पूरी कहानी देखी नहीं है, ट्रैलर से भी कम देखा है देश में। 
स्वच्छ भारत मिशन एक और जबरदस्त जुमला है, आपको बताया गया कितना और कितना अभियान किया और सही अभियान होना चाहिए टॉयलेट के विषय में, लेकिन क्या ये बताया गया कि 51% से ज्यादा जो टॉयलेट के नाम पर अभियान चलाया गया है, वहाँ पर Sanitation नहीं है, ‘dry-pit’ है। ‘dry-pit’ का मतलब कि बीमारी, अब सबसे ज्यादा जिसकी हमने भर्त्सना की है, जिसके बारे में हमने मृत्यु देखी हैं manual scavenging जिसमें होती हैं, वो ऐसे टॉयलेट हैं। तो सिर्फ आपको मोदी जी को प्रसन्न करना है, बीजेपी सरकार का आंकड़ा Full-Fill करना है और black board पर लिख दें कि मैंने इतने टॉयलेट बनाए हैं और टॉयलेट की सत्य अगर ये है तो ये कैसा स्वच्छ भारत अभियान है? स्वच्छता भारत की बहुत अहमियत है और हम उसके लिए प्रधानमंत्री जी का समर्थन करते हैं, लेकिन किसी फोटो कैमरे के सामने झाडू लेकर सफाई करने से भारत स्वच्छ थोड़े होता है
अंत में वही रोजगार, मेक इन इंडिया से संबंधित एक और जुमला, Skill India, Start-up India, Stand up India मैं नहीं समझता कि कितने सारे जुमले हैं इसमें। अब मैं नहीं चाहता भारत के बारे में बोलना लेकिन आंकड़ों पर जाएं तो Skill India, Start up India, Stand up India, fall flat India हो गया है। अगर जुमलों के आधार पर चलिए, Manufacturing यानि उद्योग की ग्रोथ 9 साल में न्यूनतम है। 9.2 और अधिकतम साढे 8% से 7% हो गई है और इस क्वार्टर में नहीं, कई क्वार्टर में और लगभग पिछले 6 क्वार्टर में न्यूनतम ग्रोथ है। अगर ग्रोथ नहीं होगी तो रोजगार कहाँ होगा और अभी इसका पूरा प्रकोप कृषि में नहीं जोड़ा है। कृषि की हालत आप जानते हैं, कुछ मंत्री बदले गए हैं लेकिन जुमलेबाजी वैसी ही चलती है, भाषणबाजी वैसी ही चल रही है। तो मैं हाथ जोड़ कर निवेदन करुंगा कि ऐसे विवेकानंद जी जैसे महापुरुष के शब्दों का, शब्दों का नहीं तो अंतरआत्मा का पालन करें, ना कि ऐसे जुमलों का।

राजनाथ सिंह जी द्वारा दिए बयान पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में डॉ. सिंघवी ने कहा कि देखिए माननीय गृहमंत्री एक बहुत बड़े संवैधानिक पद पर हैं और मैं निजी रुप से उनके बारे में कुछ नहीं बोलना चाहता। लेकिन 2-3 पहलूओं पर मैं टिप्पणी करना चाहता हूं- पहला ये कि आज पालिवाला का एक बड़ा प्रसिद्ध वाक्य है कि जब आपके घर में आग लगी हो तो ये औचित्य नहीं होता है कि आप बैठकर ये निर्णय लें कि आपको बेडरुम को ड्राईंग रुम बनाना है या ड्रांईग रुम को कीचन बनाना है, आप पहले आग से लड़िए। आज जो कश्मीर में नाजूक हालात है, उस दौरान क्या आपने देश के समक्ष कोई भी व्यापक, दूरगामी हल रखा है, तो हम आपके साथ खड़े हैं, पूरी तरह से समर्थन करते हैं। आप हल का विपरीत कर रहे हैं। इससे आप सहमति बना रहे हैं, इससे आप लोगों को जोड़ रहे हैं, इससे आप लोगों को पास ला रहे हैं और इससे क्या आप कोई भी लगी हुई आग को बुझा रहे हैं, अगर ये है तो हमारा पूरा समर्थन हैं। हम समझते हैं विनम्रता से कहेंगे कि इसका विपरीत हो रहा है। ऐसे मुद्दों की बात करना इस वक्त जब आपकी केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार में कोई तालमेल नहीं हैं, coalition के दलों में कोई तालमेल नहीं है और जब जम्मू-कश्मीर में 3 वर्षों में तुलनात्मक रुप से उससे पहले 10 वर्षों के हिसाब से सबसे खराब आंकड़े प्रकाशित हे। चाहे वो मृत्यु के हों, आतंकवाद के हों, चाहें civilian casualties हों, आर्मी और सेना के हों, उस दौरान आपके पास ठोस हल शब्द नहीं सुनते हैं हम और हम 35-A की बात सुनते हैं, क्या ये जिम्मेवारी की चीज है

एक अन्य प्रश्न पर कि जिस तरह से एक बच्चे की हत्या कर दी गई, अभिभावकों पर लाठी चार्ज किया गया और जो हालात पैदा हुए, उसको कैसे देखते हैं आप, डॉ. सिंघवी ने कहा कि मैंने तो कह दिया है कि ये ऐसा माहौल है कि सुबह उठकर हम चाय नहीं पी सकते हैं, अखबार पढ़कर। आपके चैनलों के माध्यम से व्यापक रुप से आपने जांच की है, हम चैनल नहीं देख पाते, क्या बच्चों के माता-पिता की हालत हुई है, कोई सोच नहीं सकता। ये क्या हो रहा है भारत की राजधानी के करीब? गुरुग्राम राजधानी के करीब ही है। मैं इस पर राजनीतिक दोषारोपण की बात नहीं कर रहा हूं लेकिन बात सही है कि असुरक्षा का जो माहौल है। आप सैर पर जाईए बाहर, कई लोग आते हैं और कहते हैं कि आप लोग सरकार में है, शासन में हैं, राजनीति में हैं, तो हमको भय है कि हमारे बच्चे स्कूल कैसे जाएंगे? दुमका, झारखंड में क्या हुआ, आप जानते हैं, दिन-दहाड़े एक ऐसी घटना हुई उस लड़की के साथ, तो ये प्रश्न है जिस पर प्रधानमंत्री जी की चुप्पी है। एकजुट होकर वातावरण बदलना, जोड़ना लोगों को, साथ लाना सहिष्णुता की तरफ वो बात नहीं हो रही है और मैं समझता हूं कि दुर्भाग्य है इस देश का कि एक तरफ इतनी बड़ी बातें होती हैं विवेकानंद जी जैसे महापुरुष के बारे में और दूसरी और सच्चाई में स्थिति दयनीय है, इतनी दुखद है और इतनी दर्दनाक है।

एक अन्य प्रश्न पर कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में हरियाणा सरकार, केन्द्र सरकार, प्रशासन सबको नोटिस जारी किया है, डॉ. सिंघवी ने कहा कि वो एक अलग प्रक्रिया है और ये एक अलग प्रक्रिया है। उच्चतम न्यायालय की कुछ सीमाएँ होती हैं, कोर्ट-कचहरी की सीमाएं हैं, वो जांच कर सकते हैं, तथ्य ला सकते हैं, Supervision कर सकते हैं, भय भी कर सकते हैं, प्रशासनिय यंत्र-तंत्र को, लेकिन पहली बात तो ये है कि तुंरत दिनों में, घंटों में जो सही कुसुरवार है और जो सही मल्टीपल कुसुरवार है, उनको पकड़ कर दंड करने की प्रक्रिया की शुरुआत और उसका 6 महीने में अंत। इससे कोई शांति नहीं होने वाली है उन मृत बच्चों के माता-पिता को लेकिन कम से कम ये तो न्यूनतम है और दूसरा उससे ज्यादा, बहुत ही महत्वपूर्ण है preventive, आज हर माता-पिता, राजनीतिक रंग का कोई मायने नहीं है इसमें, हर माता-पिता को भय लगा हुआ है आज, बड़े लोगों को सुरक्षा मिल जाती है, लेकिन आम आदमी को भय लगा हुआ है इसमें तुरंत दिखा कर एक्शन लेना होगा और जो भी मांगे हैं पूरी करनी चाहिए इसमें।

तीन तलाक पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में डॉ. सिंघवी ने कहा कि देखिए अब इस मामले का अंत होना चाहिए। इसमें अब कोई विवाद का स्कोप नहीं है। जो उच्चतम न्यायालय ने विषय किया है, जो विषय है -सीमित ट्रीपल तलाक एक तरीके से, ट्रीपल तलाक के और तरीके की बात नहीं हुई है जो मुख्य रुप से केस है, वो सीमित है, Focussed है और व्यापक है एक मुद्दे पर। उस मुद्दे पर मैं समझता हूं कि विवाद, जिरह बंद हो गई है। वो असंवैधानिक है, हमारे कानून के अंतर्गत है, संविधान के अंदर असंवैधानिक है और उसमें आपकी और मेरी कोई निजी राय मायने नहीं रखती। आप विवाद करते रहें, मैं समझता हूं लोग आपके साथ नहीं हो सकते हाँ ये आवश्यक है कि उच्चतम न्यायालय के निर्णय को जमीन पर परिवर्तित करना है क्योंकि कई चीजें आपकी पीठ के पीछे होती हैं, आपको मालूम ही नहीं पड़ती हैं और वही एक चुनौति हैं, हमें वहाँ देखना चाहिए, भविष्य में देखना चाहिए।

एक अन्य प्रश्न पर कि राहुल गाँधी जी यूएस के दौर पर हैं, क्या ये 2019 के चुनावों की तैयारी है, डॉ.सिंघवी ने कहा कि आपको इसका जवाब तब दिया जाएगा जब आप ये calculate करेंगे कि माननीय प्रधानमंत्री की तुलना में विपक्ष के उपाध्यक्ष .000 % से भी कम बाहर जाते हैं, लेकिन जैसे क्योंकि ये आदत हो गई है कुछ लोगों की इस पर टिप्पणी करना, मजाक उड़ाना, तो मैं आवश्यकता नहीं समझता इस पर जवाब देने की। प्रधानमंत्री जी तो लगता है दौरे पर ही रहते हैं। अगर एक बहुत उच्चस्तरीय चर्चा पर कोई व्यक्ति स्वतंत्रता अपनी जता कर पार्टी का पक्ष रखना, भारत का आईडिया बताना, विपक्ष की तरफ से भारत की क्या सच्चाई है, उसको प्रकाशित करने जाता है, तो मैं समझता हूं कि इस प्रकार से खिल्ली उडाना, टिप्पणी करना, बीजेपी वाले माहिर है इसमें। लेकिन हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के बयान पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में डॉ. सिंघवी ने कहा कि उनका ये निजी मत हो सकता है, आप उनसे पूछिए क्या इसका अभिप्राय है। संवैधानिक पदाधिकारी हैं, उन्होंने सोच समझ कर कुछ कहा होगा, इसमें दो राय नहीं कि जो अलग-अलग विषयों में हम सुधार ला सकते हैं और कोई सकारात्मक सुझाव है तो हम बिल्कुल तैयार हैं, लेकिन आप जो पूरा नकारात्मक रुप से निकाल रहे हैं, वो आप पूछ कर आएं कि क्या है।

एक अन्य प्रश्न पर कि चुनाव से पहले अगर कोई मुख्यमंत्री सामूहिक तौर पर कुछ कहता है, तो इसका क्या मायने हैं, डॉ. सिंघवी ने कहा कि इन मुद्दों पर पार्टी ने बहुत गंभीरता से और बहुत गहराई में अभी हाल में उपाध्यक्ष की अध्यक्षता में ये चर्चा हो चुकी है और सब मामले शिंदे जी की रिपोर्ट के आधार पर भी चर्चित हो चुके हैं और निर्णय ले चुके हैं।

नीतीश कुमार जी के खिलाफ जनहीत याचिका दायर हुई है, क्या कहेंगे, डॉ.सिंघवी ने कहा कि मैं कोई विस्तार से टिप्पणी नहीं करुंगा क्योंकि ये कोर्ट के अंदर है और अभी हाल में नोटिस हुआ है और एक्टिव है। निश्चित रुप से जो मापदंड सब पर लागू होता है, वो बाकि सब पर भी लागू होना चाहिए। ये अलग बात है कि उत्तर प्रदेश और गुजरात में सैंकड़ों रैली के बाद हमने आज तक कोई आईटी नोटिस नहीं देखा, बीजेपी पर और ये अलग बात है कि लालू जी की रैली के एक हफ्ते बाद एक आईटी नोटिस आ गया। लेकिन जहाँ तक उच्चतम न्यायालय का सवाल है, सबका समान अधिकार है आरोप लगाने का और सबका समान अधिकार है परिणाम पाने का। और उच्चतम न्यायालय के अंतर्गत एक प्रक्रिया है और इस पर हमें कोई टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। 


बैंकों की कर्ज वसूली में बड़े कर्जदारों का ऋण न चुकाना है भारी: वित्‍त मंत्री

वित्‍तमंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि बैंकों की कर्ज वसूली न होने का प्रमुख कारण बड़े कर्जदार हैं जो ऋण वापस नहीं करते। पुणे जिला केन्‍द्रीय सहकारी बैंक के शताब्‍दी वर्ष के अवसर पर एक समारोह में श्री जेटली ने कहा कि इनसे पैसा वसूलना बहुत बड़ी चुनौती बन गई है। उन्‍होंने कहा कि कृषि या छोटे व्‍यापार की ऋण वसूली की समस्या कम है। मुद्रा योजना में भी ऋण न चुकाने वालों की संख्‍या बहुत कम है। श्री जेटली ने कहा कि सरकार पहली बार इन बड़े कर्जदारों को दिवालिया घोषित करने के कदम उठा रही है ताकि इनसे ऋण वसूला जा सके और उस पैसे को ग्रामीण विकास के कार्यों में लाया जा सके। आज अगर दो-तीन लाख करोड़ रुपया हर साल का देश के ग्रामीण क्षेणों में हम अर्न डालने की स्थिति में होते हैं तो कोई ताकत नहीं है कि इन क्षेत्रों की पूरी तस्वीर बदल सके और जो रोज की चुनौती आती है वह अपने आप में कमजोर हो सकता है।


जम्‍मू-कश्‍मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर
जम्‍मू कश्‍मीर में कुलगाम जिले में रविवार को देर रात सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो स्‍थानीय अज्ञात आतंकवादी मारे गए। पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की पुख्‍ता सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया। तलाशी के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाईं जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई। पुलिस ने कहा है कि आतंकवादियों की पहचान और उनके संगठन का पता लगाया जा रहा है। कुलगाम जिले के खुदावनी क्षेत्र में मुठभेड़ समाप्‍त हो गई है लेकिन तलाशी अभियान अब भी जारी है। 


उत्‍तर प्रदेश में फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले 10 लोग गिरफ्तार
उत्‍तर प्रदेश के विशेष कार्यबल ने नकली आधार कार्ड बनाने के सिलसिले में कानपुर में दस लोगों को गिरफ्तार किया है। ये लोग उंगलियों के निशान के जरिये भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण की बायोमैट्रिक सैटिंग को हैक करके नकली आधार कार्ड बनाते थे। अधिकारी ने बताया कि गिरोह के सदस्‍यों ने अपनी ही उंगलियों के निशान और आंखों के चित्र लेकर नकली आधार कार्ड बनाये। छापे के दौरान विशेष कार्यबल ने उंगलियों के नकली निशानों वाले दस्‍तावेज और आंखों और उंगलियों के चित्र लेने वाले स्‍कैनर बरामद किये।


हरियाणा सरकार ने डाक्‍टरों की प्रस्‍तावित हड़ताल पर लगाया आवश्‍यक सेवा अधिनियम 
हरियाणा सरकार ने स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के डॉक्‍टरों की किसी भी तरह की हड़ताल पर अगले छह महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि राज्‍य के डाक्‍टरों की आज से प्रस्‍तावित हड़ताल को देखते हुये यह निर्णय लिया गया है। ये प्रतिबंध हरियाणा इसेंसियल सर्विसेज मेंटिनेंस एक्ट की धारा चार ए की उपधारा-एक के तहत लगाया गया है। चिकित्सकों ने सोमवार  से हरियाणा सिविल मेडिकल सेवा संघ के बैनर तले हड़ताल पर जाने की घोषणा की थी। डॉक्टर केंद्र की तर्ज पर विशेषज्ञ चिकित्सकों के लिए विशेष पैकेज और भत्ते सहित कई सुविधाओँ की मांग कर रहे हैं। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि उनकी मांगें जायज नहीं हैं और लोगों का इलाज करना ज्यादा जरूरी है। 


सुप्रीम कोर्ट के नोटिस  के बाद हरियाण  सरकार ने बदला रुख

इसे बोलते हैं खिसयानी बिल्ली खंबा नोचें : कांग्रेस 
णदीप सिंह सुरजेवालाडॉ .  कांग्रेस प्रवक्ता ने सोमवार को  नई दिल्ली में  आयोजित संवाददाता सम्मलेन में  पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि, 7 वर्ष के प्रद्दुमन ठाकुर की रायन इंटरनेशनल में हुई जघन्य हत्या ने पूरे देश की आत्मा को दहला दिया है। 

विशेष तौर से गुडगांव हरियाणा में और आम तौर से निजी और सरकारी स्कूलों में देश के भविष्य यानि देश के बच्चों की सुरक्षा को लेकर ना केवल उनके अभिभावक यानि माता-पिता चिंतित है, परंतु देश का हर जागरुक नागरिक आज बच्चों पर किए जा रहे हमले, चाहें sexual offence हों या शारीरिक तौर से उन्हें चोट या हत्या की साजिश हो जो बार-बार हो रहे हैं, उसको लेकर चिंतित है। रायन इंटरनेशनल स्कूल गुडगाँव में जिनकी मैनजमेंट भारतीय जनता पार्टी की महिला मौर्चा की एक पदाधिकारी भी हैं, उन पर जिस प्रकार से भाजपा की हरियाणा सरकार ने कार्यवाही करने की बजाए ढूलमूल रवैया अपनाया और उल्टा विरोध कर रहे बच्चों के माता-पिता और प्रैस के साथियों पर लाठिय़ाँ भांजी उनको सड़क पर डाल कर आम अपराधियों से भी बूरी तरह से मारा और पिटा, ये भाजपा और खासतौर से हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर की नाकामी को दर्शाता है। रायन इंटरनेशनल स्कूल के बारे में कई चौंकाने वाले तथ्य और प्रद्दुमन ठाकुर की हत्या के बारे में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने हैं। पहला स्कूल के स्टाफ के पास आईडिंटी कार्ड भी नहीं था, दूसरा स्कूल का सीसीटीवी कैमरा काम भी नहीं कर रहे थे, जिससे अपराधी की पहचान भी नहीं हो पाई, तीसरा स्कूल में विजिलेंस अधिकारी, सुरक्षा के जुम्मेवार अधिकारी तथा स्कूल के मैनजमेंट कोताही के लिए सीधे-सीधे जिम्मेवार हैं। अगर ऐसा ना होता तो प्रद्दुमन ठाकुर की जान ना जाती। 7 साल के अबोध बच्चे का 3 बार गला, एक तेज हथियारे से रेता गया या काटा गया परंतु किसी व्यक्ति को स्कूल के अंदर पता नहीं चला ये कैसे हो सकता है? पाँचवा प्रद्दुमन ठाकुर के पिता 15 मिनट पहले बच्चे को स्कूल में छोड़ते हैं और 15 मिनट के अंदर बच्चे की हत्या होकर वापस उन्हें सूचना भी मिल जाती है और परंतु सभी अनभिज्ञ हैं कि ये हत्या किसने की, कैसे हुई और किस कारण से हुई, ये स्कूल की मैनजमेंट की नालायकी, निक्कमेपन और कहीं ना कहीं एक साजिश की ओर इशारा करता है। स्कूल की चारदिवारी, पीछे से टूटी पाई गई और वहाँ शराब की बोतलें आज भी पड़ी हैं। ये दर्शाता है कि ऑफ टाईम या ऑन टाईम किस प्रकार से रायन इंटरनेशनल स्कूल के premises का गैर सामाजिक तत्वों के द्वारा दुरुपयोग किया जा रहा था और बच्चों की सुरक्षा को लेकर कैसे कोताही बरती जा रही थी। इन सबके बावजूद हरियाणा सरकार के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री राव नरवीर सिंह जी ने पहले दिन जब बच्चों के अभिभावक सीबीआई जांच की मांग को लेकर गए तो ना केवल उस मृत बच्चे के माता-पिता परंतु सभी अभिभावकों का क्रूर मजाक बनाया और कहा कि सीबीआई की जांच मांगना अब फैशन बन गया है। प्रदेश के शिक्षा मंत्री ने सरेआम रायन इंटरनेशनल स्कूल की मैनजमेंट को क्लीन चिट सर्टिफिकेट बिना जांच के दे ड़ाली और कहा कि हरियाणा की खट्टर सरकार कोई कार्यवाही रायन इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ नहीं करेगी।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक बार फिर कानून व्यवस्था पर ना नियंत्रण कर पाने के लिए अब देश में एक चिन्ह बन गए हैं उन्होंने सरेआम ये कह दिया कि वे कोई सीबीआई जांच इस मामले में ऑर्डर नहीं करेंगे और ना ही रायन इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ कार्यवाही करेंगे और जब अभिभावकों ने कल विरोध किया तो अभिभावकों और किस निर्दयता और निर्ममता से मारा गया इस मंजर को पूरे देश ने देखा। एक तरफ बच्चा खोया और दूसरी तरफ पुलिस से लाठिय़ाँ भी खाई, ये केवल बच्चों की क्रूर सरकार और निर्दयी रवैये के चलते ही हो सकता है और अब आज सुबह सुप्रीम कोर्ट ने ना केवल हरियाणा सरकार को परंतु सीबीएससी और भारत सरकार को, उन सबको प्रद्दुमन ठाकुर के माता-पिता के याचिका पर नोटिस जारी किया, सीबीआई जांच का भी और उसके साथ एक detailed गाईलाईन जारी करने के बारे में, जिससे बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित हो तो लगभग तीसरे दिन हरियाणा सरकार ने एक बार फिर अपना रुख बदल कर कहा कि अगर बच्चे के माता-पिता चाहें तो हम सीबीआई जांच के लिए भी तैयार हैं। तो आज तक मनोहर लाल खट्टर जी और भारतीय जनता क्या छुपा रहे थे? क्या वो रायन इंटरनेशनल स्कूल को इसलिए संरक्षण दे रहे थे कि उनकी मैनजमेंट की मुखिया जो हैं वो भाजपा के महिला मौर्चा की प्रमुख नेता हैं और उनके मोदी जी और राजनाथ सिंह जी के साथ कई बार उनके चित्र भिन्न-भिन्न कार्यक्रमों में अब सार्वजनिक पटल पर आ गए हैं।
तो पिछले 48 घंटे में सुप्रीम कोर्ट के नोटिस जारी करने के बाद आज क्या बदल गया कि सरकार अब अपना रुख बदलने लगी है इसे बोलते हैं खिसयानी बिल्ली खंबा नोचें। अगर वो ये सब कार्यवाही पहले दिन करते तो ये सब हालात पैदा नहीं होते और सबसे चौंकाने वाला तथ्य जो आज सामने आया है कि 2014 में गुरुग्राम पुलिस ने सभी अभिभावकों की एसोसियेशन के साथ मिलकर यानि जिनके बच्चे गुरुग्राम के स्कूलों में पढ़ते हैं उन माता-पिता के एसोसियेशन के साथ मिलकर, स्कूल के साथ बैठकर, एनजीओ के साथ बैठकर, सिविल और पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन के साथ बैठकर, चाईल्ड सेफ्टी के एक्सपर्ट के साथ बैठकर एक और कुछ मीडिया के दोस्तों के साथ बैठकर एक व्यापाक इन्सट्रक्शन यानि की सैफ्टी गाईडलाईन जारी की जो 2014 से आज तक लागू हैं। जिसकी अनुपालना रायन इंटरनेशनल स्कूल और सभी स्कूल के लिए अनिवार्य हैं। इसके कुछ, जब इसकी कॉपी हम आपको रिलिज कर रहे हैं, लेकिन इसमें से 6 या 7 बातें अगर आप पढ़े तो बहुत चौंकाने वाली हैं और वो ये दिखाता है कि कैसे रायन इंटरनेशनल स्कूल सिविल और पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन के साथ मिलकर इन सारी गाईडलाईन को खुद ही flagrantly violate, वॉयलेंट यानि खुल्लआम इनका उल्लंघन कर रहे थे। अगर इनकी तरफ मैं आपका ध्यान आकर्षित करुं तो इनसे पहले ही इन्ट्रक्शन 1.1 में साफ लिखा है कि हर बच्चे की सुरक्षा की जिम्मेवारी स्कूल की सीनियर मैनजमेंट, डॉयरेक्टर और स्कूल की प्रिंसिपल की होगी।
“Prevention reporting and handling of child abuse and other safety related accidents during the time children are entrusted to the care of the School, the School Board of Directors, Principal and the senior management team have primary responsibility for the care and welfare of the students.
रायन इंटरनेशनल स्कूल के मैनजमेंट कहते हैं कि हम पीड़ित हैं और ये इन्सट्रक्शन कहते हैं कि मैनजमेंट बच्चे की सुरक्षा के लिए जिम्मेवार हैं। इसके बारे में हरियाणा की पुलिस, हरियाणा का सिविल प्रशासन, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और रायन इंटरनेशनल स्कूल के मैनजमेंट का क्या कहना है, हम उनका जवाब जरुर जानना चाहेंगे।
Clause 1.2 – And they have specifically said one of the principal objectives is to prevent physical harm and abuse of the child. The specific objective that these guidelines aim to achieve is the safety of children at schools, specifically safety in each of the following aspects –
Clause (B) says that from abuse be it verbal, physical or sexual by any Member of the staff, be it teaching/non teaching contractual, older students or any other person while in on the premises or even on the transportation route. बच्चा अगर स्कूल में है तो चाहे कोई अजनबी आए, चाहे स्टाफ का सदस्य हो, चाहे अध्यापक हो, चाहे कोई और व्य़क्ति स्कूल में आए उसके लिए सुरक्षा की जिम्मेवारी मैनजमेंट होगी।
Shri Surjewala said, what is the coverage – the document is applicable to the following Institution. All schools Educational Institutions - pre-schools in Gurgaon whether Government, Private or Public or for girls or boys.
रायन इंटरनेशनल स्कूल इसकी परिधि में आता है, इस इन्सट्रक्शन की 1.3.1 के मुताबिक। Again 1.4 says – the safety of children at school is the responsibility of School Management. And therefore, it falls squarely on the School Management to prevent report and handle any case of mishap or abuse.
बच्चे की सुरक्षा की जिम्मेवारी सिर्फ और सिर्फ जब वो स्कूल में है तो मैनजमेंट की है और उसको रोकना और अगर हो तो उस पर कार्यवाही करना, ये मैनजमेंट की जिम्मेवारी है। बच्चे को सिक्योर कैसे रखेंगे स्कूल में, इसके लिए भी इसमें विस्तृत प्रावधान है। उसमें ये है कि कोई अगर बाहर से विजिटर आएगा तो उसकी बकायादा रिसेप्शन पर एंट्री होगी, उसको एक आईडी कार्ड जारी किया जाएगा और वो स्कूल के इंटरनल premises में नहीं जा सकता, सिलेक्टिड़ एरिया से आगे नहीं जाएगा। दूसरा विजिटर पास जब जारी होगा तो उसकी proper वैरिफिकेशन होगी। ये दो बातें 2.1.3 और 2.1.4 में लिखी हैं।
स्कूल के पैरामिटर को कैसे secure करेंगे, यानि उसकी परिधि को कैसे secure करेंगे, उसके लिए दो जरुरी बातें लिखी हैं इसमें।
There should be only one entry and exist point to the premises of the School. 
एक से ज्यादा एंट्री एक्सेस प्वाईंट नहीं हो सकता, ताकि कोई बच्चे की सुरक्षा पर हमला ना कर सके और दूसरा
2.2.2 - walls around the School must be high enough to prevent any scaling; schools with lower walls must increase height of walls as decided in consultation with School Safety Committee.
जो जहाँ छोटी हैं, वहाँ बड़ी करनी पडेंगी नहीं तो दिवारें ऊंची होंगी, इस केस में दिवार टूटी हुई थी, शराब की बोतले वहाँ पड़ी थी। क्या वो इंस्ट्रक्शन follow हुई?
सीसीटीवी के बारे में बकायदा पैरा 2.3 में विस्तृत इन्सट्रक्शन जारी की हुई हैं। टॉयलेट पर भी कैसे सीसीटीवी लगेगा, इसके बारे में भी और उसके सिर्फ हिस्से पढ़कर सुनाउँगा।
2.3 says cameras must cover all official areas of the premises. They must also be covering all corridors and staircases. यानि पूरे स्कूल के अंदर आपको सीसीटीवी कैमरा लगाना अनिवार्य है।
They must be covering 2.3.1.2 - all corridors and staircases. प्रद्दुमन ठाकुर जिस कॉरिडोर से गुजरा वहाँ का सीसीटीवी कैमरा काम नहीं कर रहा था, तो सब कॉरिडोर के ऊपर कैमरा लगाना जरुरी है।
2.3.1.7 - Entry to the toilet – बच्चा जब टॉयलेट के अंदर जाए और बाहर आए, टॉयलेट के अंदर कैमरा नहीं लग सकता लेकिन बच्चा किस समय गया और किस समय गया, उसकी सुरक्षा के लिए आपको सीसीटीवी कैमरा लगाने की आवश्यकता है, इस रायन इंटरनेशनल स्कूल में टॉय़लेट की एंट्री पर कोई कैमरा नहीं लगाया गया।
2.3.11 – entry and exit point of premises  ताकि पता चले कि स्कूल के premises में कौन आया और कौन बाहर गया। 
2.3.1.11 – any point to the outer perimeter wall which is vulnerable and which could show footage of the person attempting to gain entry to the premises.
ये भी रायन इंटरनेशनल स्कूल में पूरी तरह से मिसिंग है। दो हिस्से और महत्वपूर्ण हैं। इन सारे कैमरों का कंट्रौल पैनल कहाँ लगेगा और ये कहा कि इसका कंट्रौल पैनल किसी सिक्रेट कमरे में नहीं, रिसेप्शन पर लगाना अनिवार्य है क्योंकि वहाँ पर सेफ्टी ऑफिसर स्कूल का और विजिलेंस ऑफिसर दोनों वहाँ पर बैठेगा, जिनकी नियुक्ति की जाएगी, वो और पब्लिक का कोई आदमी, कोई अभिभावक जो रिसेप्शन पर बैठा है ताकि वो देख सके कि ये मालूम हो कि स्कूल का चप्पा-चप्पा कैमरे से covered है तो किसी भी व्यक्ति को जो स्कूल के किसी बच्चे के साथ कोई गलत हरकत या साजिश करना चाहता है तो वो रुक सकती है, दुर्भाग्य से रायन इंटरनेशनल स्कूल में इसका कोई प्रावधान नहीं था।
2.3.3.5 – all CCTV equipment must be maintained regularly. जो दो या तीन सीसीटीवी कैमरा था, वे भी काम ना करते पाए गए, यहाँ इस बात के लिए विशेष प्रावधान है कि स्कूल की मैनजमेंट की ये जिम्मेवारी है कि स्कूल के सीसीटीवी कैमरा सब काम करते हों। एक विजिलेंस ऑफिसर की नियुक्ति का भी प्रावधान इस रुल 2.4 में है जो ये सुनिश्चित करेगा कि बच्चे की सुरक्षा का पूरा प्रावधान हो और एक सेफ्टी ऑफिसर की नियुक्ति का प्रावधान है, ये दोनों भी करना आवश्यक है। इसके साथ-साथ जो स्टाफ है, उसमें किस प्रकार की वैरिफिकेशन और नियुक्तियाँ होगी, उसका इसके अंदर पूरा प्रावधान किया गया है।
Last, I want to bring to your notice how each child is to be trained to ensure his/her safety. It is covered in Para 4.5 which says other measures for safety of children while at School.
वो बड़ा महत्वपूर्ण है, उसमें ये कहा गया है कि अगर कोई भी बच्चा कक्षा से बाहर जाए तो 15 मिनट से कम में ये अध्यापक की जिम्मेवारी होगी कि सुनिश्चित करना कि कोई घटना ना हुई हो।  4.5.3 Says if a child has gone out of the scheduled class for more time than required, the Teacher should enquire within the first 15 minutes to make sure there is no mishap. And then the school must demarcate a curtailed area for immediate emergency in case Sick Room is not available. This area should also be on the radar for regular supervision by the Administration In-charge.
ये सब बातें और ये सब बातों का निर्णय गुरुग्राम पुलिस के द्वारा किया गया और अभिभावकों की एसोसियेशन, एनजीओ, स्कूल एसोसियेशन, सिविल और पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन, मैंबर ऑफ ज्यूडशरी, मैंबर ऑफ मीडिया और इसके बाद इन्हें बकायदा सर्क्यूलेट किया गया और उसके बावजूद भी दर्दनाक हत्या एक बच्चे की होती है और जिस प्रकार से लीपापोती की इंतहा खट्टर सरकार कर देती है, जिस प्रकार से खट्टर सरकार लाठी चार्ज कर विरोध करने वाले और न्याय मांगने वाले माता-पिता और पत्रकारों को पीटती है, ये दर्शाता है कि भाजपा के अंहकार सर चढ़ कर बोल रहा है और पिछले 24 घंटों में दो बड़ी घटनाएं, दो अलग-अलग बच्चों के साथ हुई, जो उतनी ही दर्दनाक हैं जितनी की प्रद्दुमन ठाकुर के साथ हुई। रोहतक में एक बच्चे की हत्या हुई, 3 किलोमीटर दूर उसका शव झाडियों में मिला, जब माँ-बाप मुकदमा दर्ज करवाने गए तो वहाँ का प्रशासन और पुलिस प्रशासन कहता है कि पहले बच्चे के 16 फोटो लेकर आओ, तब मुकदमा दर्ज करेंगे। शव की रिकवरी तो दूर की बात है, जिसका बच्चा चला गया आप उससे 16 फोटो मांग रहे हैं, फिर शव का पोस्टमार्टम करेंगे, उसके बाद पुलिस का मुकदमा दर्ज करेंगे, उसके बाद कार्यवाही करेंगे, ये खट्टर सरकार की निर्दयता का सबसे बड़ी पराकाष्ठा क्या हो सकती है?
इतना ही नहीं पीजीआई रोहतक के अंदर कल एक औऱ बच्चा चोरी हो गया। 200 रुपए बच्चा चोरी होने के बाद प्रशासन ने जमा करवाए माँ से, बधाई दी, 200 रुपए जब जमा कर लिए तो बोले आपका बच्चा चोरी गया, मुकदमा दर्ज नहीं करेंगे। क्या खट्टर सरकार ये समझ सकते हैं कि प्रद्दुमन ठाकुर के माता-पिता की पीड़ा क्या रही होगी? क्या खट्टर सरकार और भारतीय जनता पार्टी, प्रधानमंत्री, देश के शिक्षा मंत्री और प्रदेश के शिक्षा मंत्री ये समझ सकते हैं कि वो माता-पिता जो विरोध करने और न्याय मांगने गए थे, वो ना बदमाश हैं, ना गुंडे हैं, वो गुरुग्राम और हरियाणा के जिम्मेवार नागरिक हैं जो न्याय की गुहार लेकर गए थे, उन पर लाठी बरसाना और उनकी बात को उठाने वाले पत्रकारों को मारना, क्या ये प्रजातंत्र के लिए सुखद संदेश है, किसी का बच्चा मर जाए, आप उसको कहें कि 16 फोटो लाएं, फिर मैं मुकदमा दर्ज करुंगा, किसी का बच्चा पैदा होने के 3 मिनट के अंदर प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल से बच्चा चोरी हो जाए, आप उसकी माँ से 200 रुपए जमा करवाते हैं, बधाई देते हैं और फिर कहते हैं बच्चा नहीं मिल सकता क्योंकि बच्चा चोरी हो गया है।
किसी ने सही कहा है गोरखपुर हो या फरुखाबाद हो, वो झारखंड हो, महाराष्ट्र हो, राजस्थान हो आए दिन एक और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ जी, जब बच्चे मरे तो उनको ये दु:साहस करते हैं ये कहने का कि लोग बच्चे पैदा करके छोड़ देते हैं कि सरकार जिम्मेवारी लें। एक मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी को फुरसत ही नहीं मिलती कि वो प्रद्दुमन ठाकुर के घर जाकर उसके माता-पिता के आँसू पोंछ सकें, कम से कम ढांढस ही बधां दे, दो बोल सांत्वना के ही बोल दें। राजस्थान के अंदर 100 बच्चे मर जाते हैं, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जी को वहाँ जाने की फरसत नहीं मिलती और आए दिन भाजपा शासित राज्यों के अंदर बच्चों पर हमला हो रहा है, बचपन को लूटा जा रहा है। आज जब 125 वीँ शिकागो में जो इस देश के सबसे बड़े आध्यात्मिक गुरु हैं स्वामी विवेकानंद जी, जब उनकी शिकागो address की 125वीं वर्षगांठ हम मना रहे हैं तो क्यों कहना पड़ रहा है कि भाजपा से बच्चे बचाओ, जो किसी साधारण व्यक्ति ने कहा था अब इस देश का मूल मंत्र बन जाएगा। तो क्या भाजपा की सरकारों से बच्चे बचाने के लिए और इस देश का यौवन और भविष्य बचाने के लिए आम जनमानस को लाठियाँ खानी पडेंगी और संघर्ष करना पडेगा। क्या यही जिम्मेवारी है खट्टर सरकार हो, आदित्यनाथ सरकार हो, वसुंधरा सरकार हो या डॉ.रमन सिंह की सरकार हो, क्या यही उनकी जिम्मेवारियाँ हैं?
इससे ज्यादा शर्मसार करने वाली दूसरी कोई घटना हो नहीं सकती, हम जितने कड़े शब्दों में हो सके भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मंच से निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि रायन इंटरनेशनल स्कूल की मैनजमेंट के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो और उनके खिलाफ निर्णायक कार्यवाही कानून के अनुरुप हो। क्यों प्रद्दुमन ठाकुर के माता-पिता को सुप्रीम कोर्ट में भेजने पर मजबूर है, हरियाणा सरकार ये सुनिश्चित करे कि बगैर देर के ये मामला सीबीआई को रैफर किया जाए और केन्द्र सरकार इस मामले को सीबीआई को देकर दोषियों को सजा दिलवाने का कार्य जल्द से जल्द करे।
तीसरी हमारी ये मांग है कि ये गाईडलाईन जिनमें बच्चों की सुरक्षा का व्यापक प्रावधान किया गया है, इसमें जो-जो गाईडलाईन का हिस्सा हमने प्वाईंट ऑउट किया है, जो वॉयलेट हुई हैं, उनको लेकर रायन इंटरनेशनल स्कूल की मैनजमेंट को दंडित किया जाए, क्योंकि इसका प्रावधान इस गाईडलाईन में भी है और कानून में भी हैं।
चौथापूरे हरियाणा के निजी और सरकारी स्कूलों में ये और पूरे देश के निजी और सरकारी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर व्यापक मापदंड़ केन्द्रीय और प्रांतीय सरकारें सुनिश्चित करें और उन्हें एक सीमित समय के अंदर लागू करवाए ताकि इस देश के बचपन को दिन-दहाड़े लूटने से बचाया जा सके।

रायन इंटरनेशनल स्कूल द्वारा स्वयं को पीड़ित बताए जाने के संबंध में पूछे गए प्रश्न के उत्तर में श्री सुरजेवाला ने कहा कि दुर्भाग्य से पहले चोरी फिर सीना जोरी, जैसा हमने बताया रायन इंटरनेशनल स्कूल की एक हिस्से की दिवार टूटी पड़ी है, शराब की बोतलें वहाँ आज भी मौजूद हैं, जैसा कई टेलिविजन चैनलों ने दिखाया है। रायन इंटरनेशनल स्कूल के जो ड्राईवर हैं उनके आईडिंटी कार्ड भी जारी नहीं किए गए, रायन इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरा काम नहीं कर रहे, स्कूलों के लिए जो भी गाईडलाईन हैं, उनका कोई मापदंड, कॉरिडोर, टॉयलेट सुरक्षा ऑफिसर, सेफ्टी ऑफिसर, विजिलेंस ऑफिसर, स्कूल सेफ्टी कमेटी उन सबको रायन इंटरनेशनल स्कूल द्वारा खुलेआम उल्लंघन किया गया। उसके बाद भी कोई अगर कहे कि मैं स्वयं पीड़ित हूं तो ईश्वर उनको सद्बुद्धि दे और ऐसी सरकार जो उनको संरक्षण दे उनको भी सद्बुद्धि दें। हम केवल ये कह सकते हैं और इसलिए इस देश के लोग अब ये कहने लगे हैं कि भाजपा से बच्चे बचाओ।

एक अन्य प्रश्न पर कि रायन इंटरनेशनल स्कूल से संबंधित जो गाईडलाईनस हैं इनका खुल्ला उल्लंघन किया गया, क्या आप मानते हैं कि इसके आधार पर स्कूल की मान्यता रद्द होनी चाहिए, श्री सुरजेवाला ने कहा कि इसके अंदर बकायादा जो इस इन्सट्रक्शन को वॉयलेट करेगा, जो सबकी सहमति से बनाई हैं, उसमें दंडित करने का प्रावधान है। दंडित दो प्रकार से आप हो सकते हैं। पहला स्कूल जिन मान्यताओं को मानें, उन मान्यताओं का उल्लंघन करे, तो उसके लिए स्कूल को दंडित किया जा सकता है, प्रांतीय सरकार द्वारा भी और सीबीएससी के द्वारा भी। मैं कहूंगा कि दोनों appropriate अथोर्टी को बगैर किसी पक्षपात के जो आज तक करते आए हैं, निष्पक्ष तरीके से, निष्पक्ष निर्णय लेकर दंडित करना चाहिए ताकि वो उदाहरण बन जाए देश के स्कूलों के लिए। दूसरा अपराधिक जिम्मेवारी बनती है, तो जो अपराधिक जिम्मेवारी बनती है निष्पक्ष तौर से कानून काम करे और उस अपराध के लिए उनको दंडित किया जा सके। 

एक अन्य प्रश्न पर कि जिस तरह से पत्रकारों पर लाठिय़ाँ बरसाई गई हैं, क्या कहेंगे, श्री सुरजेवाला ने कहा कि मैंने शुरुआत ही वहाँ से की कि अभिभावकों और अभिभावकों की आवाज उठाने वाले पत्रकारों को मारने, बेईज्जत करने, दंडित करने, शारीरिक चोट पहुंचाने की बजाए खट्टर साहब अगर प्रद्दुमन ठाकुर और दूसरे माता-पिता की पीड़ा को 1% भी आत्मसात कर लेते तो स्थिति इतनी विस्फोटक ना बनती। सच यह कि हरियाणा सरकार हो या केन्द्र सरकार हो अब वो fourth estate यानि मीडिया के साथियों के लिए, उनकी आजादी के लिए, उनकी स्वतंत्रता के लिए, उनकी निष्पक्षता के लिए अब कहीं ना कहीं एक व्यापक खतरे की घंटी बनती जा रही है। जिस प्रकार से तीन साल में मोदी जी के शासन में 10 पत्रकारों की हत्या हुई, 143 पत्रकारों पर जघन्य हमले हुए और हरियाणा में आए दिन सरकार की नाक के नीचे पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं, वो पंचकूला हों या हरियाणा जो सबसे बड़े शहर हैं, जब उसमें पुलिस पत्रकारों पर हमले का कोपभाजन बनने दे रही हैं तो छोटे कस्बों के अंदर जो पत्रकार साथी हैं, उनके साथ क्या व्यवहार हो रहा होगा, आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं।

एक अन्य प्रश्न पर कि पूरे देश में इस हादसे से लोग चिंतित हैं, क्या कहेंगे, श्री सुरजेवाला ने कहा कि मैंने ये बात व्यापाक तौर से इसलिए कही कि ना केवल गुरुग्राम और हरियाणा में, परंतु पूरे देश में हमारे बच्चों की, इस देश के बच्चों की, भविष्य की, यौवन की सुरक्षा कैसे हो ताकि वो एक सुरक्षित माहौल में इस देश की प्रगति का मील पत्थर बन सकें और इस देश को बड़ी ताकत के तौर पर आगे ले जा सकें। इसके बारे में आवश्यक गाईड़ लाईन केन्द्रीय और प्रांतीय सरकारों को एक सीमित समय के अंदर जल्द लागू करनी चाहिएं। अब दुर्भाग्य से जब सुप्रीम कोर्ट ने जब भारत सरकार को, प्रदेश सरकार को राज धर्म याद दिलाया है तो फिर उन्हें राजधर्म की याद आई है। देर आएं, दुरस्त आएं, आज भी जाग जाएं और इस पर व्यापक मंत्रणा करें, ये हमारी मांग है।
पत्रकारों को पुलिस द्वारा पीटे जाने संबंधित एक अन्य प्रश्न के उत्तर में श्री सुरजेवाला ने कहा कि अनुशासनिक कार्यवाही की मांग हम कर चुके हैं और मैं उसे दुबारा दोहराता हूं कि बगैर कारण के निहत्थे पत्रकारों और अभिभावकों पर जिस प्रकार से हमला किया गया, उनके साथ मारपीट की गई, उन्हें कोपभाजन बनाया गया, ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए और इन सबकी जिम्मेवारी मनोहर लाल खट्टर और उनके मंत्रियों की है, क्योंकि सत्ता का अहंकार उनके सर चढ़ कर बोल रहा है।
On the statement of the Central Government that we should have more staff in the Bus, Shri Surjewala said, if Haryana Government had read and Central Government had also read the set of instructions, then they would not be making such myopic and parochial statements. Elaborate arrangements have been made here and these instructions were issued by Police but were drafted by the Civil Society, Members of Associations of the Parents, Members of the Judiciary interested in welfare of the child, and by Members of the Media interested in ensuring that the safety of children is ensured and protected. They can become model guidelines to be implemented everywhere. But the important issue is BJP and BJP needs to first rise above political partisanship of saving its Party members who are guilty and then proceed to implement these guidelines in letter and spirit. 
 

खबरी दुनिया  
---'' गुरुग्राम में रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दूसरी कक्षा के एक छात्र की हत्या के मामले में स्कूल संचालन और प्रबंधन पर मुकदमा अखबारों की बड़ी खबर है। हिंदुस्तान की सुर्खी है - किशोर न्याय अधिनियम के तहत कार्रवाई। स्कूल के बाहर लाठी चार्ज में घायल हुए कई अभिभावक। इधर, दिल्ली के गांधीनगर में एक प्राइवेट स्कूल में पांच वर्षीया बच्ची के साथ दुष्कर्म पर दैनिक भास्कर की टिप्पणी है - दुष्कर्म के बाद सिस्टम ने दिया दर्द। अस्पताल का एम्बुलेंस देने से इन्कार। सामने आया चाचा नेहरू अस्पताल का अमानवीय चेहरा।''--- 
 

---'' जनसत्ता की अहम खबर है - गरीबों की गाढ़ी कमाई लूट रहे सरकारी बैंक। अकेले स्टेट बैंक ने ही न्यूनतम रकम खाते में रखने के प्रावधान के तहत एक तिमाही में खाताधारकों से वसूले 235 करोड़। दो हजार रुपये की सारी रकम चार सौ रुपये महीने के अर्थदंड में हो गई समाप्त।''--- 
 

---'' हाईकोर्ट के जज के रूप में प्रस्तावित नामों की सूची पर दैनिक जागरण की सुर्खी है - सरकार खुद जांचेगी कलेजियम की सिफारिश वाले नामों का रिकॉर्ड। पहली बार केंद्र सरकार ने शुरू की जांच पड़ताल।''--- 
 

---'' जम्मू कश्मीर में अनंतनाग में सीआरपीएफ सम्मेलन के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बयान को हिंदुस्तान ने सुर्खी दी है - शहीद के परिजन को एक करोड़ रुपये देने पर विचार। सरकार ने शहीदों के परिजन की मदद के लिए चलाया है - भारत के वीर कार्यक्रम।''--- 
 

 

राजस्थान समाचार विशेष  


अवैध आम्र्स लाईसेंस बनाने व बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश
अपराध शाखा द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में हुए और भी खुलासे
जयपुर   अतिरिक्त महानिदेशक अपराध श्री पंकज कुमार सिंह ने बताया कि प्रदेश में अपराध उन्मूलन हेतु चलाये जा रहे विशेष एवं सघन अभियान के तहत अन्तर्राज्यीय अवैध एवं फर्जी आम्र्स लाईसेंस बनाने वालों एवं अन्य राज्यों से होने वाले अवैध हथियारों खरीद-फरोख्त के विरूद्ध एक बड़ी सफलता हासिल की है। उन्होंने बताया कि राज्य की अपराध शाखा ने प्रदेश के करौली जिले के श्रीमहावीर जी में एक बड़ी कार्यवाही कर दो अवैध हथियार तस्करों को 15 पिस्टल एवं 20 जिंदा कारतूस के गिरफ्तार किया है।
अतिरिक्त महानिदेशक अपराध श्री पंकज कुमार सिंह एवं ए.टी.एस. राजस्थान के अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, श्री उमेश मिश्रा आज पुलिस मुख्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि श्रीमहावीरजी रेल्वे स्टेशन के पास स्थित अण्डर ब्रिज से मध्यप्रदेश के धार जिले के निवासी संजय पुत्र सरदया (19) आदिवासी भील एवं महेश पुत्र दुर्गा (25) आदिवासी भील को गिरफ्तार कर उनसे 15 पिस्टल एवं 20 जिन्दा कारतूस बरामद करने में सफलता हासिल की है।  उन्होंने बताया कि वे गंगापुर निवासी लखन मीणा और फिरोज को हथियार बेचने के लिये आये थे। इन दोनों को वे पूर्व में भी अनेक बार हथियार सप्लाई कर चुके हैं। दोनों आरोपियों के पास से बरामद अवैध हस्त निर्मित सभी पिस्टलों पर मैड इन स्पेन एवं यूएसए मुद्रित है, इनमें से कुछ पिस्टलों पर साईलेन्सर भी लगे हुए हैं।  अतिरिक्त महानिदेशक अपराध ने बताया कि आरोपियों का मुख्य सरगना बल्लू सरदार है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने बल्लू सरदार के भाई श्योदान सिंह को भी गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि उसका चचेरा भाई ईश्वर सिंह भी इसी व्यवसाय में लिप्त है। दिल्ली पुलिस ने 14 अगस्त को उसे दिल्ली में मय 20 पिस्टलों के गिरफ्तार किया है। ईश्वर सिंह को सन् 2009 में जयपुर पुलिस ने भी 5 पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था। श्री सिंह ने बताया कि इन लोगों से और भी हथियार जब्त होने एवं वारदातें खुलने की संभावना है। उन्होंने बताया कि सिकलीगर जाति के लोग भारत के समस्त राज्यों में बड़ी तादाद में अवैध हथियार सप्लाई करने का कार्य करते है।  ए.टी.एस. राजस्थान के अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, श्री उमेश मिश्रा ने बताया कि एटीएस राजस्थान की विभिन्न 12 टीमों ने राजस्थान, पंजाब, जम्मू, मध्यप्रदेश में अलग-अलग जगहों पर दबिश देकर भारी मात्रा में हथियार लाईसेंस व अवैध हथियारों को जप्त किया है। उन्होंने बताया कि एटीएस को 04 माह पूर्व इस बात की पुख्ता सूचना मिली थी कि एक संगठित गिरोह अवैध रूप से हथियार बेचने तथा खरीदने व आम्र्स लाईसेंस बनाने का कारोबार करता है तथा गिरोह से जुडे लोग वर्ष 2007-08 के लाईसेंस वर्तमान में बनाकर देते हैं और पुलिस सत्यापन भी नहीं करवाते व सम्बन्धित थाने में हथियारों का इन्द्राज नहीं करवाते है तथा जम्मू से बाहर के निवासी होने के उपरान्त भी जम्मू के पते पर लाईसेंस बनवाते हैं। 
अतिरिक्त महानिदेशक एटीएस ने बताया कि इस सन्दर्भ में श्री बीजू जॉर्ज जोसफ, महानिरीक्षक पुलिस, एटीएस व श्री विकास कुमार, पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में श्री बजरंग सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एटीएस के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम में सर्वश्री श्याम सिंह, मनीष शर्मा, राजेश दुरेजा, कामरान खान, प्रदीप सिंह, पुलिस निरीक्षक को शामिल किया गया।
श्री मिश्रा ने बताया कि पुलिस निरीक्षक एटीएस यूनिट उदयपुर श्री श्याम सिंह रत्नू को इस बाबत् सूचना संकलन करने हेतु निर्देशित किया गया तथा एक टीम का गठन करके गिरोह से जुडे हुये संदिग्धों के सत्यापन हेतु एक टीम अबोहर पंजाब, जम्मू भेजी गई। जिसके माध्यम से गिरोह से जुडे लोगों के बारे में आसूचना संकलन किया गया। आसूचना संकलन के दौरान ही उदयपुर निवासी एक व्यक्ति ने एटीएस मुख्यालय में अजमेर निवासी जुबेर नामक व्यक्ति के खिलाफ सूचना दी की जुबेर ने आम्र्स लाईसेंस बनाने के नाम पर व हथियार उपलब्ध करवाकर उससे 12 लाख रुपये ले लिये, जबकि हथियार व आम्र्स लाईसेंस प्रथम दृष्टया संदिग्ध नजर आते हैं। इसके अलावा मध्यप्रदेश के देवास से भी हथियार जुबेर नामक व्यक्ति द्वारा खरीद फरोख्त के बारे में जानकारी मिली। जिसका सत्यापन एटीएस टीम द्वारा करवाया गया। सम्पूर्ण सूचना संकलन के आधार पर अवैध लाईसेंस के कारोबारियों को रंगेहाथों पकडने हेतु श्री बजरंग सिंह शेखावत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एटीएस को मय टीम के सिरोही भेजा गया।  उक्त टीम ने जुबेर नामक व्यक्ति को बोगस ग्राहक से 02 लाख रुपये का चैक व 30 हजार रूपये नकद व 06 आम्र्स हथियारों के साथ पूछताछ हेतु पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। मुख्य अभियुक्त ने अभिरक्षा के दौरान पूछताछ में बताया कि उसके अजमेर स्थित घर पर काफी संख्या में अवैध आम्र्स लाईसेंस व अवैध हथियार पडे हुए है। जुबेर से मिली जानकारी के आधार पर राजस्थान व बाहर के राज्यों में दबिश देते हुए सैकडाें की संख्या में अवैध आम्र्स लाईसेंस, अवैध हथियार व कारतूस बरामद किये गये। पूछताछ के बाद प्रकरण दर्ज कर आरोपी जुबेर को गिरफ्तार किया गया। अन्य संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की जा रही है व शीघ्र ही अन्य व्यक्तियों के खिलाफ अवैध लाईसेंस व अवैध हथियार की बरामदगी कर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। जुबेर के सहयोगी विशाल व राहुल से पूछताछ की जा रही है शीघ्र ही इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी तथा इस प्रकरण से जुडे अन्य आरोपियों के खिलाफ भी बाद पूछताछ कार्यवाही की जायेगी। 


जयपुर के 14 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं पर अस्थाई प्रतिबंध

अवधि 12 सितम्बर रात्रि 11.59 बजे तक बढ़ाई 
जयपुर,    सम्भागीय आयुक्त श्री राजेश्वर सिंह ने एक आदेश जारी कर जयपुर पुलिस आयुक्तालय क्षेत्र के 14 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं यथा-2जी/3जी/4जी डाटा (मोबाईल इंटरनेट), इंटरनेट सर्विसेज, बल्क एसएमएस/एमएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर एवं अन्य सोश्यल मीडिया सर्विसेज थ्रू इंटरनेट सर्विस प्रोवाईडर्स (वाइस कॉल एवं ब्राडबैण्ड इंटरनेट के अलावा) पर लागू अस्थाई प्रतिबंध की अवधि को मंगलवार (12 सितम्बर 2017) को रात्रि 11.59 बजे तक बढ़ा दिया है। इनमें रामगंज, सुभाष चौक, गलता गेट, माणक चौक, जालुपूरा, कोतवाली, नाहरगढ़, ब्रह्मपुरी, शास्त्रीनगर, संजय सर्किल, भट्टा बस्ती, ट्रांसपोर्ट नगर, आदर्श नगर, एवं लालकोठी पुलिस थाना क्षेत्र शामिल है। सम्भागीय आयुक्त श्री सिंह ने भारत सरकार के संचार मंत्रालय की अधिसूचना ‘टेम्पोरेरी सस्पेंशन ऑफ टेलीकॉम सर्विसेज (पब्लिक इमरजेंसी ऑर पब्लिक सेफ्टी) रूल्स-2017 के तहत गृह विभाग, राजस्थान सरकार द्वारा प्रदत्त की गई शक्तियों के अनुसरण में कानून व्यवस्था एवं लोक सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए यह आदेश जारी किया है।  सम्भागीय आयुक्त ने सभी नागरिकों को इस आदेश की पालना करने एवं अवहेलना नहीं करने के निर्देश दिए है। यदि कोई व्यक्ति इन प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करेगा तो उसे सक्षम विधिक प्रावधानों के तहत अभियोजित किया जाएगा। 
 

खेल-जगत  


* भारतीय बैडमिंटन संघ ने दिग्गज खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण को इस खेल में महत्वपूर्ण योगदान के लिये पहले लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्‍कार के लिए चुना।

 भारतीय बैडमिंटन संघ- बी ए आई ने दिग्गज खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण को इस खेल में महत्वपूर्ण योगदान के लिये पहले लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्‍कार के लिए चुना है। कोच्चि में इसकी घोषणा करते हुए बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष हिमांत विश्‍व सरमा ने कहा कि प्रकाश पादुकोण को बैडमिंटन में उनके योगदान को देखते हुए इस पुरस्‍कार के लिए चुना गया है। इसके तहत दस लाख रूपये नकद और प्रशस्ति पत्र जल्‍दी ही नई दिल्‍ली में दिया जाएगा। पादुकोण ने 1980 में आल इंग्लैंड का खिताब जीता था। इसके अलावा उन्होंने 1983 में कोपेनहेगेन में विश्‍व चैंपियनशिप में कांस्य पदक हासिल किया था। उन्होंने 1978 राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था। उन्हें 1972 में अर्जुन पुरस्कार और 1982 में पदमश्री से सम्मानित किया गया था।


राफेल नडाल ने अमरीकी ओपन टेनिस का खिताब जीता और मार्टिना हिंगिस और चांग युंग जेन की जोड़ी को महिला डबल्‍स का खिताब।  स्‍पेन के राफेल नडाल ने अमरीकी ओपन टेनिस टूर्नामेंट जीत लिया है। न्‍यूयॉर्क में फाइनल मुकाबले में नडाल ने दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन को हराकर तीसरी बार अमरीकी ओपन का खिताब जीता।
 *
महिला डबल्‍स के फाइनल में स्विट्ज़रलैंड की मार्टिना हिंगिस और ताइवान की चैन युंग-जेन की जोड़ी ने चेक गणराज्‍य की लुसिए हरादिसका और कैतरीना सीनियाकोवा की जोड़ी को पराजित किया।


 12 सितम्बर, 2017

 

 

केन्‍द्रीय गृहमंत्री की जम्‍मू कश्‍मीर में PDP और NC के प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात 
जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला के नेतृत्‍व में मुख्‍य विपक्षी दल नेशनल कॉन्‍फ्रेंस के एक शिष्‍टमंडल ने रविवार को श्रीनगर में गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। सत्‍तारूढ़ पीडीपी का शिष्‍टमंडल भी गृहमंत्री से मिला। इससे पहले श्री राजनाथ सिंह ने दक्षिणी कश्‍मीर में अनंतनाग जिले में पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के शिविरों का दौरा किया। उन्‍होंने पुलिस और सीआरपीएफ कर्मियों के साथ अनौपचारिक बातचीत की। जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की सराहना करते हुए श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अत्‍यंत चुनौती वाली स्थितियों में कार्य कर रहे ये पुलिसकर्मी बड़े बहादुर हैं और उन पर देश को गर्व है। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र ने पुलिसकर्मियों के लिए ट्रॉमा सेंटर बनाने के लिए भी मंजूर की है। आपके डीजीपी ने जिस ट्रॉमा सेंटर की बात की है, उस ट्रॉमा सेंटर की स्‍वीकृति दी जा चुकी है। जम्‍मू काश्‍मीर के हर पुलिस स्‍टेशन पर बुलेट प्रूफ वेहिकल्‍स प्रोवाइड करने के लिए भी आदेश जारी कर दिए गए हैं। बुलेट प्रूफ जैकेट्स भी हमारे जवानों को मिलने चाहिए। उसके लिए भी धनराशि स्‍वीकृत ही नहीं की गई है बल्‍कि धनराशि जारी कर दी गई है।  सरकार ने जम्‍मू कश्‍मीर में पुलिसकर्मियों को बुलेट प्रूफ वाहन उपलब्‍ध कराने के लिए भी राशि आवांटित की है। श्री राजनाथ सिंह जम्‍मू-कश्‍मीर के चार दिन के दौरे पर गए हैं। उन्‍होंने कल अपनी यात्रा के पहले दिन राज्‍य के वरिष्‍ठ अधिकारियों और विभिन्‍न शिष्‍टमंडलों के साथ मुलाकात की। गृह मंत्री का यह करीब एक साल में जम्‍मू-कश्‍मीर का पांचवां दौरा है।

 

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामन ने नाविका सागर परिक्रमा अभियान को गोवा से रवाना किया
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामन ने विश्‍व भ्रमण पर निकली भारतीय नौसेना की महिला अधिकारियों के नाविका सागर परिक्रमा अभियान को गोवा से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। महिला नौसैनिक अधिकारी भारतीय नौसैनिक पोत- आई एन एस तारिणी पर इस अभियान में निकली हैं। श्रीमती सीतारामन ने इस अवसर पर कहा कि रक्षा मंत्री के रूप में उन्‍हें इस अभियान को रवाना करने पर जो खुशी हो रही है उसे वह शब्‍दों में व्‍यक्‍त नहीं कर सकतीं। ये भारत के लिए ऐतिहासिक दिन है। जिसे दुनिया के नौवहन ऐतिहास में लिखा जाएगा। मेरा मानना है कि हमारी महिलाएं इस काम को बेहतर करेगी जिसका नौ सेना के छात्र सपना देखते हैं। इस प्रयास के लिए मैं नौ सेना की प्रशंसा करती हूं साथ ही उन सभी लोगों की प्रशंसा करती हूं जिन्‍होंने इन महिलाओं को प्रेरित करने और प्रशिक्षण देने जैसे कार्यों में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। एडमिरल लांबा ने कहा कि नाविका सागर परिक्रमा केन्‍द्र सरकार के महिला स‍शक्तिकरण अभियान के अनुरूप है। यह पहला ऐसा प्रयास है जिसमें चालक दल की सभी सदस्‍य भारतीय महिलाएं हैं जो समुद्री मार्ग से विश्‍व यात्रा पर निकली हैं। चालक दल की सदस्‍यों को 19000 समुद्री मील की यात्रा का अनुभव है जिसमें उन्‍होंने अपने नौवहन कौशल का बेहतरीन प्रदर्शन किया है।  यह अभियान आस्‍ट्रेलिया के फ्रीमेंटल, न्‍यूजीलैंड के लिटलेटन, फॉकलैंड के पोर्ट स्‍टेनले और दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन होता हुआ 160 दिन की यात्रा पूरी कर वापस गोवा पहुंचेगा।  प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने नाविका सागर परिक्रमा के तहत पूरे विश्‍व की यात्रा शुरू कर रही भारतीय नौसेना की महिला अधिकारियों का स्‍वागत किया है।

 


इरमा तूफान फ्लोरिडा पहुंचा
चौथी श्रेणी का समुद्री तूफान इरमा अमरीकी राज्‍य फ्लोरिडा में पहुंच गया है। इस कारण इलाके केज इलाके में 209 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। फ्लोरिडा के गवर्नर रिक स्‍कॉट ने कहा है कि उन्‍हें प्रांत के पश्चिमी खाड़ी तट की चिंता है जहां यह तूफान पहुंचने वाला है। फ्लोरिडा में 60 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर जाने को कहा गया है। पूरे राज्‍य में चेतावनी जारी की गई है। इरमा तूफान ने इससे पहले कैरिबियाई क्षेत्र के कुछ हिस्‍सों में भारी तबाही मचाई और इससे कम से कम 25 लोग मारे गये हैं। इरमा का सामना कर रहे लाखों लोगों में हजारों भारतीय-अमरीकी भी शामिल हैं। कैरिबिया में सेंट मार्टिन द्वीप से साठ भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकाला गया है। फ्लोरिडा में लगभग एक लाख बीस हजार भारतीय-अमरीकी रहते हैं जबकि तूफान के रास्‍ते पड़ने वाले मियामी, फोर्ट लाउडरडेल तथा टाम्‍पा में हजारों भारतीय मूल के अमरीकी रहते हैं। अमरीका में भारतीय दूतावास ने 24 घंटे की हेल्‍पलाईन सेवा शुरू की है। क्षेत्र में फंसे भारतीय-अमरीकियों को राहत पहुंचाने के लिए वरिष्‍ठ राजनयिक अटलांटा गए हैं। अमरीका में भारतीय राजदूत नवतेज सरना स्थिति पर बारीकी से निगाह रख रहे हैं।


भुवनेश्‍वर में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरने से एक  की मौत, 13 घायल
ओड़ीशा की राजधानी भुवनेश्‍वर में रविवार को एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरने से एक व्‍यक्ति की मौत हो गई और 13 अन्‍य गंभीर रूप से घायल हो गए। ये सभी फ्लाईओवर गिरते समय उसके नीचे से गुजर रहे थे।  मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने घायलों का सही इलाज सुनिश्चित करने के लिए अस्‍पताल का दौरा किया।  मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने मृत व्‍यक्ति लिए पांच लाख रूपये के मुआवजे की घोषणा की है। राज्‍य सरकार ने घटना की उच्‍चस्‍तरीय जांच का आदेश दिया है और दो इंजीनियरों को निलंबित कर दिया है। राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल को राहत और बचाव कार्य में लगाया गया है। केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने घटना पर दुख व्‍यक्‍त किया है और जिम्‍मेदार लोगों के खिलाफ सख्‍त कार्यवाही की मांग की है।


केन्‍द्र ने जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस को बुलेटप्रूफ वाहनों की खरीद के लिए राशि आवंटित की
केंद्र ने जम्‍मू कश्‍मीर में पुलिसकर्मियों को बुलेट प्रूफ वाहन उपलब्‍ध कराने के लिए राशि आवंटित की है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को दक्षिण कश्‍मीर के अनंतनाग में पुलिस अधिकारियों के साथ बातचीत के दौरान यह जानकारी दी। श्री सिंह जम्‍मू कश्‍मीर की चार दिन की यात्रा पर है। आज उनकी यात्रा का दूसरा दिन है।
गृहमंत्री ने बताया कि केंद्र ने पुलिसकर्मियों के ट्रॉमा सेंटर के लिए भी राशि मंजूर की है। हाल फिलहाल जितना अधिक से अधिक हो सकता है वो सुविधाएं हम लोगों ने मुहैया कराने की कोशिश की है, ताकि अच्‍छे माहौल में आप सब काम कर सकें। अभी आपके डीजीपी ने जिस ट्रॉमा सेंटर की बात की है, उस ट्रॉमा सेंटर की स्‍वीकृति दी जा चुकी है। जम्‍मू काश्‍मीर के हर पुलिस स्‍टेशन पर बुलेट प्रूफ वेहिकल्‍स प्रोवाइड करने के लिए भी आदेश जारी कर दिए गए हैं। बुलेट प्रूफ जैकेट्स भी हमारे जवानों को मिलने चाहिए। उसके लिए भी धनराशि स्‍वीकृत ही नहीं की गई है बल्‍कि धनराशि जारी कर दी गई है। 


घाटी में शोपियां जिले में सेना के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर, एक ने समर्पण किया
इस बीच, राज्‍य के शोपियां जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। एक  ने समर्पण कर दिया। सूत्रों ने आकाशवाणी को बताया कि तीन आतंकवादियों ने कल शाम बारबुग गांव के निकट सुरक्षाबलों के गश्‍ती वाहन पर गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया। रविवार  सवेरे गोलबारी फिर शुरू हो गई। सूत्रों ने बताया कि मकान में छिपा दूसरा आतंकवादी भी मारा गया। कार्रवाई के दौरान मकान को विस्फोट से उड़ा दिया गया। समर्पण कर चुके आतंकवादी की पहचान शोपियां के चितिपोरा निवासी आदिल के रूप में की गयी है। वह पिछले वर्ष आतंकी गतिविधियों में शामिल हुआ था। चारों तरफ से घिर जाने और पुलिस से नहीं मारे जाने का आश्‍वासन मिलने के बाद उसने समर्पण किया और पुलिस अधिकारियों को उसने अपनी ए के- 47 राइफल सौंप दी।  आदिल  न्यू रिक्रयूट है और हाल ही में उसने कुछ महीने पहले ज्वाइन किया था मिलिटेन्ट को मौका दिया अपनी जान बचाने का और उसने हमारी पर्सुएशन पे अपने आप को सरेंडर किया। असला के साथ उसने पुलिस के सामने उसने आत्म समर्पण किया। हाल में पहली बार किसी आतंकवादी ने मुठभेड़ के दौरान हथियार सौंपा है।    


गुरूग्राम के भोन्‍डसी में निजी स्‍कूल के समीप शराब की दुकान  आग  के हवाले 
हरियाणा के शिक्षामंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा है कि उस निजी स्‍कूल के प्रबंधन या मालिक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, जिसमें शुक्रवार को सात वर्ष के छात्र की हत्‍या हुई थी। उन्होंने कहा, ये जो अपराध है इसमें मैनेजमेंट हो, कोई स्‍कूल की मैनेजमेंट हो, स्‍कूल का मालिक हो, हरियाणा सरकार इस मामले में किसी तरह की लिनिऐंसी नहीं बरतेगी। कोई भी हो, मालिक हो, मैनेजमेंट हो, इसमें जो जो कानून के तहत होना चाहिए वो सब काम हम करेंगे। मृतक बच्‍चे की परिजनों से मिलने के बाद श्री शर्मा इस मामले में सीबीआई या अन्‍य जांच कराने की संभावना से इंकार नहीं किया। उन्‍होंने कहा कि शुरूआती जांच से पता चला है कि स्‍कूल ने अपनी जिम्‍मेदारी पूरी नहीं की। इस बीच, प्रदर्शनकारियों ने गुरूग्राम के भोन्‍डसी में निजी स्‍कूल के समीप शराब की दुकान पर आग लगा दी है। पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसाई, जिसमें कुछ मीडियाकर्मी और सांसद पप्‍पू यादव को मामूली चोट आई है।


सरकार देखे कि छोटे बच्चो के लिए स्कूल नजदीक ही हो
उच्‍चतम न्‍यायालय ने कहा है कि बच्‍चो से तीन किलोमीटर से अधिक दूरी तक पैदल स्‍कूल जाने की उम्‍मीद नहीं की जा सकती है। न्‍यायालय ने केरल में एक स्‍कूल के मुद्दे पर सुनवाई के दौरान यह बात कही। न्‍यायालय ने कहा कि शिक्षा के अधिकार को सार्थक बनाने के लिए प्राथमिक स्‍कूलों का निर्माण इस तरह किया जाना चाहिए ताकि दस से चौदह वर्ष के स्‍कूली बच्‍चों को लंबी दूरी तय न करनी पड़े।


सरकारी शिक्षण संस्‍थान विदेशी छात्रों के प्रवेश, फीस निर्धारण  लिए स्‍वतंत्
विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग ने कहा है कि उत्‍कृष्‍ट सरकारी शिक्षण संस्‍थान सरकार की अनुमति के बिना विदेशी छात्रों के प्रवेश, फीस निर्धारण और विदेशी विश्‍वविद्यालयों के साथ सहयोग के लिए स्‍वतंत्र होंगे। देश के 10 प्रतिष्ठित शिक्षण संस्‍थानों को उत्‍कृष्‍ट संस्‍थान घोषित किया जाएगा। विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग के नए दिशा-निर्देशों के अनुसार ये संस्‍थान योग्‍यता के आधार पर कुल सीटों के अधिकतम 30 प्रतिशत पर विदेशी छात्रों को प्रवेश दे सकेंगे। आयोग के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि वैश्विक रैंकिंग में शीर्ष 500 विदेशी संस्‍थानों से शैक्षणिक सहयोग के लिए सरकारी अनुमोदन की जरूरत नहीं होगी। विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय की अस्‍वीकार्य सूची में आने वाले देशों के संस्‍थानों के लिए यह लागू नहीं होगा। उत्‍कृष्‍ट संस्‍थान नए पाठ्यक्रम शामिल करने और नई उपाधियां प्रदान करने के लिए भी स्‍वतंत्र होंगे। इन्‍हें 20 प्रतिशत पाठ्यक्रम ऑनलाइन जारी करने की भी अनुमति होगी। हालांकि, पूरी तरह ऑनलाइन सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों के लिए यह पाबंदी लागू नहीं होगी। 


नेपाल-निर्वाचन आयोग का आगामी आम चुनावों के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यवेक्षक बुलाने का निर्णय 
नेपाल निर्वाचन आयोग ने आगामी प्रांतीय और संसदीय चुनावों के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यवेक्षकों को आमंत्रित किया है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि आयोग ने 26 नवंबर से सात दिसंबर तक होने वाले संसदीय और विधानसभा के चुनाव के निरीक्षण के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय संगठनों, समुदायों और व्‍यक्तियों से आवेदन पत्र आमंत्रित करने की अधिसूचना जारी की है। एक महत्‍वपूर्ण कदम के तहत नेपाल के निर्वाचन आयोग ने आगामी विधानसभा तथा संसदीय चुनाव के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यवेक्षक बुलाने का निर्णय किया है। इच्‍छुक अंतर्राष्‍ट्रीय संगठन, समुदाय और व्‍यक्‍ति इसके लिए 30 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं। अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यवेक्षकों को आमंत्रित करने का मुख्‍य उद्देश्‍य संपूर्ण निर्वाचन प्रबंध की निगरानी करना और स्‍वतंत्र, निष्‍पक्ष तथा विश्‍वसनीय तरीके से चुनाव संपन्‍न करवाने में मदद करना है। आयोग के अनुसार इससे चुनाव प्रबंध प्रक्रिया के क्षेत्र में अंतर्राष्‍ट्रीय संगठनों के साथ आपसी संबंध मजबूत करने में भी सहायता मिलेगी। अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यवेक्षकों की मौजूदगी से निर्वाचन आयोग की विश्‍वसनीयता बनाए रखने के साथ-साथ , नेपाल में लोकतांत्रिक प्रक्रिया को सुदृढृ करने में भी मदद मिलेगी। 


म्यामां, राखिन प्रांत की स्थिति से संयम और परिपक्वता से निपटे: भारत

भारत का म्यामां से सुरक्षाबलों के साथ-साथ नागरिकों के हितों का ध्यान रखते हुए राखिन प्रांत की स्थिति से संयम और परिपक्वता से निपटने का आग्रह। भारत ने म्यांमा से राखिन प्रांत की स्थिति से संयम और परिपक्वता से निपटने का आग्रह किया है ताकि सुरक्षा बलों के साथ-साथ नागरिकों के हितों का भी ध्यान रखा जा सके। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि यह आवश्यक है कि हिंसा समाप्त कर क्षेत्र में सामान्य स्थिति जल्द बहाल की जाए। यह भी कहा गया है कि भारत, राखिन प्रांत की स्थिति और उस क्षेत्र से शरणार्थियों के पलायन को लेकर काफी चिंतित है। मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी म्यांमा यात्रा के दौरान सुरक्षा बलों और अन्य निर्दोष लोगों की मौत पर चिंता व्यक्त की थी। प्रधानमंत्री ने वहां शांति, साम्प्रदायिक सौहार्द, न्याय, गरिमा और लोकतांत्रिक मूल्यों के आधार पर इसका समाधान निकालने का भी आग्रह किया था। इस बीच, म्यामां के उत्तरी प्रांत राखिन में मानवीय संकट को कम करने के लिए रोहिंग्या मुसलमानों ने एक महीने के एकतरफा संघर्ष विराम की घोषणा की है। अराकान रोहिंग्या मुक्ति सेना - अरसा ने कहा कि यह संघर्ष विराम आज से ही लागू हो रहा है। अरसा ने म्यामां की सेना से भी अपने हथियार त्याग देने की अपील की है। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि कॉक्स बाजार में आ रहे रोहिंग्या मुसलमानों के लिए खाने-पीने की चीज़ों और स्वास्थ्य सेवाओं की सख्त आवश्यकता है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, म्यामां छोड़ चुके रोहिंग्याओं की मदद के लिए सात करोड़ 70 लाख डॉलर की तुरन्त आवश्यकता है।


आधार से न जोड़े गए सभी मोबाईल सिम फरवरी-2018 के बाद बंद होंगे
सरकार आधार को मोबाइल सिम कार्ड से जोड़ने का काम कर रही है और आधार से नहीं जोड़े गये फोन अगले वर्ष फरवरी तक बंद कर दिए जाएंगे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आधार और मोबाइल को जोड़ने का कार्य इस वर्ष लोक नीति फाउंडेशन मामले में उच्‍चतम न्‍यायालय के आदेशों के अनुसार किया जा रहा है। इस आदेश की तारीख से एक वर्ष के भीतर सभी सिम कार्ड को आधार के साथ सत्‍यापित किया जाना है ताकि अपराधी, जालसाज़ और आतंकवादी सिम का इस्‍तेमाल न कर सकें। केन्‍द्र सरकार ने फरवरी में उच्‍चतम न्‍यायालय को बताया था कि वह एक वर्ष के भीतर प्री-पेड मोबाइल उपभोक्‍ताओं के सत्‍यापन के लिए प्रभावी व्‍यवस्‍था कर लेगी।


गौरी लंकेश के महत्‍वपूर्ण सुराग मिले, जल्द हो सकती हैं गिरफ्तारी 
कर्नाटक के गृह मंत्री रामालिंगा रेड्डी ने कहा है कि पत्रकार गौरी लंकेश की हत्‍या की जांच कर रहे दल को महत्‍वपूर्ण सुराग मिले हैं। बंगलुरू में कल पत्रकारों से उन्‍होंने कहा कि  मिले सुरागों के आधार पर  जल्‍द ही अपराधियों की गिरफ्तारी होने की आशा है।

 

DMK ने राज्‍यपाल से शक्ति परीक्षण के लिए विधानसभा का सत्र बुलाने की मांग की
चेन्‍नई में डी एम के पार्टी के कार्यवाहक अध्‍यक्ष एम के स्‍टॉलिन ने तमिलनाडु के कार्यवाहक राज्‍यपाल विद्यासागर राव से मुलाकात कर शक्तिपरीक्षण के लिए विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की मांग की। उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री ई के पलनीसामी के नेतृत्‍व वाली अन्‍ना द्रमुक सरकार बहुमत खो चुकी है। सरकार को 233 सदस्‍यीय विधानसभा में केवल 114 विधायकों का समर्थन प्राप्‍त है। श्री स्‍टॉलिन ने कहा कि उन्‍होंने राज्‍यपाल से विधानसभा में सप्‍ताह-भर के भीतर शक्ति परीक्षण कराए जाने की मांग की है।

खबरी दुनिया 
---'' अखबारों ने गृहमंत्री के श्रीनगर दौरे को सुर्खियों में दिया है। गृहमंत्री राज्‍य में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए चार दिन के दौरे पर कहा-वार्ता के जरिए मतभेद सुलझाने के लिए हर किसी से मिलने को तैयार हूं। जनसत्‍ता ने लिखा है - राज्‍य की समस्‍याओं का हल निकालने घाटी पहुंचे राजनाथ ने कहा- किसी भी व्‍यक्ति से मिलने को तैयार।''--- 
 

---'' हिन्‍दुस्‍तान की खबर है - जीएसटी परिषद ने 30 वस्‍तुओं पर जीएसटी दर कम की। लेकिन लग्‍जरी और एसयूवी गाडियां महंगी होंगी। अमर उजाला ने लिखा है - गरीबों, दस्‍तकारों को जीएसटी में राहत।''--- 
 

---'' डीआरडीओ के राजस्‍थान के रेगिस्‍तान में देश में विकसित तीसरी पीढ़ी की टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल नाग का सफल परीक्षण करने की भी खबर अखबारों में है।''--- 
 

---'' हरि भूमि ने सीबीआई ने कसा शिकंजा शीर्षक से लिखा है - मनी लाउंड्रिंग कानून के तहत 19 कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज।''--- 
 

राजस्थान समाचार विशेष 


जयपुर शहर के कफ्र्यू प्रभावित क्षेत्रों में सोमवार को सभी स्कूल बंद रहेंगे 
जयपुर,    जयपुर शहर के कफ्र्यू प्रभावित थाना क्षेत्रों से सम्बंधित सभी स्कूल सोमवार को बंद रहेंगे। जिला कलक्टर श्री सिद्धार्थ महाजन ने इस सम्बन्ध में निर्देश जारी किए है। जिला प्रशासन ने रविवार को जयपुर शहर के कफ्र्यू प्रभावित थाना क्षेत्रों में लोगों को दूध और बे्रड की सप्लाई करवाई। जिला कलक्टर श्री सिद्धार्थ महाजन के निर्देश पर जिला रसद अधिकारी (शहर) श्री प्रवीण कुमार एवं जिला रसद अधिकारी (ग्रामीण) श्री प्रवीण कुमार के साथ टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से लोगों तक दूध और  ब्रेड  की सप्लाई कराई।                                    

 

 खेल-जगत  
 भारत ने दूसरी अंडर-16 दक्षिण एशियाई बास्‍केटबॉल चैंपियनशिप जीत ली है। शनिवार को  काठमांडु में अंतिम लीग मैच में भारत ने भूटान को 50 के मुकाबले एक सौ 31 अंक के अंतर से हरा दिया। इसके साथ ही भारत ने इस साल मलेशिया में होने वाली अंडर-16 एशियाई चैंपियनशिप के लिए क्‍वालीफाई कर लिया है।

11 सितम्बर, 2017

 

जीएसटी परिषद ने तीस वस्‍तुओं पर कर घटाया

रिटर्न फाइल करने की समय-सीमा एक महीना बढ़ाई
जीएसटी परिषद ने जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की तिथि दस अक्‍टूबर तक बढ़ा दी है। परि‍षद की बैठक के बाद वित्‍त मंत्री अरूण जेटली ने यह जानकारी दी। हैदराबाद में परिषद की 21वीं बैठक के बाद श्री अरूण जेटली ने बताया कि तीस वस्‍तुओं पर जीएसटी में कटौती की गई हैं। इनमें भुने हुए चने,  इडली-दोसा पेस्‍ट, खली, रेनकोट और रबरबैंड शामिल हैं।
वित्‍त मंत्री ने कहा कि जीएसटी से अच्‍छा राजस्‍व प्राप्‍त हुआ है। सत्‍तर प्रतिशत से अधिक करदाताओं से लगभग 95 हजार करोड़ रुपये का राजस्‍व प्राप्‍त हुआ। उन्‍होंने कहा कि 15 मई तक ट्रेड मार्क पंजीकृत करने वाली कंपनियों को पांच प्रतिशत जीएसटी देना होगा। श्री जेटली ने कहा कि छोटी कारों पर कोई अतिरिक्‍त कर नहीं लगाया गया है। मझोली कारों पर जीएसटी की दर 43 प्रतिशत से बढ़ाकर 45 प्रतिशत और बड़ी कारों पर 48 प्रतिशत कर दी गई है। एस यू वी वाहनों पर जीएसटी की दर सात प्रतिशत बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दी गई है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि खादी और ग्रामोद्योग केंद्रों से बेची जाने वाली वस्‍तुओं को जीएसटी से छूट दी गई है। श्री जेटली ने कहा कि नए अप्रत्‍यक्ष कर नेटवर्क में 21 लाख नए व्‍यापारी और डीलर शामिल किए गए हैं।

 

गृहमंत्री राज्‍य में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए चार दिन के दौरे पर

 

कहा-वार्ता के जरिए मतभेद सुलझाने के लिए हर किसी से मिलने को तैयार हूं
गृहमंत्री राजनाथ सिंह जम्मू कश्मीर की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिये आज राज्य के चार दिन के दौरे पर हैं।  श्री सिंह के साथ गृह सचिव राजीव गाबा और उनके मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी दौरे पर  हैं। अपनी यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और राज्यपाल एन एन बोरा से मिलेंगे। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने आकाशवाणी को बताया कि राजनाथ सिंह प्रधानमंत्री विकास पैकेज और सुरक्षा स्थिति की भी समीक्षा करेंगे। गृहमंत्री श्रीनगर और जम्मू में विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से भी मिल रहे हैं। वे पुलिस, अर्द्ध सुरक्षाबल और सीमा सुरक्षाबल के जवानों के साथ भी वार्तालाप करेंगे।  दौरे पर रवाना होने से पहले गृहमंत्री ने कहा-वार्ता के जरिए मतभेद सुलझाने के लिए मैं कश्मीर में हर किसी से मिलने को तैयार हूँ। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि वह खुले दिमाग के साथ जम्मू कश्मीर जा रहे हैं और वार्ता के ज़रिये मतभेद दूर करने में मदद के लिये किसी से भी मिलने को वह तैयार हैं। सभी लोगों से हमारी बातचीत हो सके, जो भी हो स्टैक होल्डर मिलेंगे सबसे मैं बातचीत करूंगा। मामला यह है कि कश्मीर की जो समस्या है उसका समाधान होना चाहिए।उल्लेखनीय है, श्री सिंह के इस दौरे को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद की कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में कश्मीर घाटी में लोगों के साथ फिर से सम्पर्क करने की बात कही थी।

 

जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए प्रधानमंत्री का विकास पैकेज
गृहमंत्री ने परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की
केन्‍द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए घोषित प्रधानमंत्री के विकास पैकेज-पीएमडीपी के तहत चल रही शेष परियोजनाओं के कार्यान्‍वयन के निर्देश दिए हैं।
उन्‍होंने श्रीनगर में पीएमडीपी परियोजना पर अमल की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्‍यक्षता करते हुए कहा कि केन्‍द्र इस संबंध में 62 हजार 599 करोड़ रुपये की राशि जारी कर चुका है। यह राशि पीएमडीपी पैकेज की कुल लागत का 78 प्रतिशत है। प्रधानमंत्री विकास पैकेज में 63 परियोजनायें शामिल हैं। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्‍ट्रीय राजमार्ग 1-ए के चेनानी-नाशरी खण्‍ड को चार लेन का करने की परियोजना पूरी हो चुकी है। 2014 की बाढ़ में पूरी तरह या आंशिक तौर पर क्षतिग्रस्‍त मकानों की सहायता से जुड़ी परियोजना भी पूर्ण हो गई है। गृहमंत्री ने कहा कि पीएमडीपी के तहत जम्‍मू क्षेत्र के प्रवासियों का पुनर्वास पैकेज भी लागू किया गया है। बैठक में राज्‍य की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती, उपमुख्‍यमंत्री, मुख्‍यसचिव, केन्‍द्रीय गृहसचिव, प्रधानसचिव और गृहमंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने भी भाग लिया। केन्‍द्रीय गृहमंत्री जम्‍मू-कश्‍मीर की चार दिन की यात्रा पर आज श्रीनगर पहुंचे। अधिकारियों ने बताया कि गृहमंत्री ने मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ राजनीतिक, सुरक्षा और विकास के मुद्दों पर विस्‍तृत चर्चा की। गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज ही राज्‍यपाल एन एन वोहरा से मुलाकात कर रहे हैं।


जम्‍मू-कश्‍मीर में पुलिस दल पर आतंकी हमले में एक पुलिसकर्मी शहीद और दो घायल
जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हमले में एक पुलिसकर्मी इम्तियाज़ अहमद शहीद हो गया है और दो गंभीर रूप से घायल हैं। दक्षिण कश्मीर के अनन्तनाग जिले में आज दोपहर बाद बस स्टैण्ड के पास आतंकवादियों ने पुलिस दल पर स्वचालित हथियारों से हमला कर दिया। उधर, बारामूला जिले के सोपोर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतकंवादी मारा गया है। इसकी पहचान कुपवाड़ा जिले के स्‍थानीय हिजबुल मुजाहिद्दीन कमाण्‍डर शाहिद शेख के रूप में हुई है। तड़के तीन बजे से शुरू हुई मुठभेड़ समाप्‍त हो गई है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक आर. आर. भटनागर ने कहा है कि कश्‍मीर घाटी में पत्‍थरबाजी की घटनाओं में कमी आई है। उन्‍होंने श्रीनगर में संवाददाताओं को बताया कि आतंकवादियों को धन मुहैया कराने के मामलों की राष्‍ट्रीय अन्‍वेषण अभिकरण एन. आई. ए. की जांच शुरू होने के बाद ये कमी आई है। श्री भटनागर ने शनिवार को पुलवामा पुलिस लाइन का दौरा किया। यहां 26 अगस्‍त को जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकियों के हमले में तीन आतंकी मारे गए थे और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के चार जवान सहित आठ सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। श्री भटनागर ने शहीद जवानों को श्रद्धांजली अर्पित की।


स्‍वदेश में निर्मित टैंकरोधी मिसाइल-नाग का विकास परीक्षण सफलतापूर्वक संपन्‍न
भारत की अत्‍याधुनिक स्‍वदेशी टैंकरोधी गाइडेड मिसाइल नाग का परीक्षण सफल रहा। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन ने  शुक्रवार को  दूसरी बार राजस्‍थान में इसका सफल परीक्षण किया। रक्षा मंत्रालय की विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस मिसाइल ने सटीक तरीके से विभिन्‍न अवस्‍थाओं में अपने लक्ष्‍यों को भेदा। इस परीक्षण के साथ ही नाग मिसाइल अपनी प्रक्षेपण प्रणाली के साथ संचालन सिद्ध हो गई है।


CBI ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जयंती नटराजन के परिसरों पर छापे मार  एफआईआर  दर्
केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो-सीबीआई ने पूर्व पर्यावरण मंत्री जंयती नटराजन के परिसरों पर छापेमारी की है। इससे पहले उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। श्रीमती नटराजन पर आरोप है कि उन्‍होंने पर्यावरण मंत्री के रूप में कानून का उल्‍लंघन कर वनभूमि को खनन के लिए देने की मंजूरी दी थी। एफआईआर में इलैक्‍ट्रोस्‍टील कास्टिंग लिमिटेड के प्रबंध निदेशक उमंग केजरीवाल और अन्‍य लोगों के नाम हैं। यह मामला, 2012 में झारखंड में सिंघभूम जिले में सारंडा वन क्षेत्र की भूमि के बारे में है। आरोप है कि श्रीमती जयंती नटराजन ने यह मंजूरी उच्‍चतम न्‍यायालय के दिशा-निर्देशों का उल्‍लंघन करते हुए और महानिदेशक वन विभाग की सलाह के बिना दी।


स्‍कूल में सात वर्षीय बालक की मृत्‍यु, खून से लथपथ शव शौचालय में मिला 
केन्‍द्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई ने हरियाणा में गुरुग्राम के रॅयान इंटरनेशन स्‍कूल में एक छात्र की मृत्‍यु से जुड़े तथ्‍यों की जांच के लिए दो सदस्‍यों की समिति बनाई है। सीबीएसई ने स्‍कूल से कहा है कि वह इस मामले में दर्ज एफआईआर के साथ अपनी रिपोर्ट दो दिन के भीतर दे। इस स्‍कूल में कल एक सात वर्षीय बालक का खून से लथपथ शव शौचालय में मिला था। पुलिस ने स्‍कूल बस के परिचालक को गिरफ्तार करके मामले को सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने अपराध स्‍वीकार कर लिया है। केंद्रीय मानव संसाधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दोषियों को सजा का भरोसा दिलाते हुए कहा है कि मामले की हर पहलू से जांच की जा रही है। अगर पेरेंट्स को नहीं जाने दे रहे तो ड्राइवर कैसे गया यह सारी बातें है। तो इसके बारे में निश्‍चित रूप से हमने रिपोर्ट मंगवाया है और उसके बाद पुलिस की जांच आएगी और हमारी भी अलग से जांच होगी केवल सीबीएसई का मुद्दा नहीं है। सभी स्‍कूलों के बच्‍चों के सुरक्षा का मुद्दा है और यह निश्‍चित महत्‍वपूर्ण है।


श्रीलंका के विदेश मंत्री तिलक मारापाना ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की
श्रीलंका के विदेश मंत्री तिलक मारापाना ने शनिवार को नई दिल्‍ली में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से मुलाकात की। प्रधानमंत्री ने भारत-श्रीलंका संबंधों के महत्‍व पर जोर दिया।उन्‍होंने कहा कि दोनों देशों के बीच व्‍यापक और मजबूत संबंध हैं। श्री मोदी ने कहा कि वे श्रीलंका के राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री के साथ विचार-विमर्श कर दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग को और बढ़ाना चाहते हैं।
 
बारामूला जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर, मुठभेड़ जारी
इस बीच, राज्‍य में बारामूला जिले के सोपोर शहर में रेबन इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में शनिवार को एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया। इलाके में आतंकवादियों के छुपे होने का सुराग मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने सवेरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी की कार्रवाई शुरू की। एक अधिकारी ने बताया है कि तलाशी के दौरान आतंकवादियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिस पर सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।  पुलिस प्रवक्‍ता ने  बताया कि मुठभेड़ अभी भी जारी है। ऐसा माना जा रहा है कि दो और आतंकवादी इलाके में छुपे हैं।  दक्षिणी कश्‍मीर के कुलगाम और शोपियां जिलों के 16 गांवों में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। ऐहतियातन सोपोर और आसपास के इलाकों में इंटरनेट सेवाएं निलम्बित कर दी गई हैं। एक अन्‍य घटना में राज्‍य के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के निकट पाकिस्‍तानी सेनाओं ने आज गोलाबारी की, जिसमें एक नागरिक घायल हो गया।
रक्षा सूत्रों ने आकाशवाणी जम्‍मू को बताया कि सीमापार से सुबह दस बजे बलोनी, चक्‍कन दा बाग, सलोत्री और मेंढर के शाहपुर इलाके तथा पुंछ सेक्‍टर में सैनिक चौकियों और नागरिक इलाकों बिना कारण गोलीबारी और गोले दागे। भारतीय सैनिकों ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया। कुछ जगहों पर अब भी गोलाबारी जारी है।


भाजपा अगले तीस साल तक देश में स्थिर सरकार  देगी: अमित शाह 
भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने जोर देकर कहा है कि पार्टी अगले तीस साल तक देश में स्थिर सरकार देने के लिए कार्य करने को वचनबद्ध है। वे शनिवार को नई दिल्‍ली में भारतीय वाणिज्‍य और उद्योगमंडल परिसंघ फिक्‍की के कार्यक्रम में बोल रहे थे। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी हर महीने प्रगति नाम का एक कार्यक्रम आयोजित करते हैं जिसमें राज्‍यों के प्रतिनिधि विभिन्‍न परियोजनाओं के बारे में उनसे बात कर अपनी समस्‍याओं का समाधान प्राप्‍त करते हैं।


केन्‍द्रीय को पत्रकार गौरी लंकेश की हत्‍या मामले की कर्नाटक सरकार की रिपोर्ट  मिली 
कर्नाटक सरकार ने पत्रकार गौरी लंकेश हत्‍या मामले और उस पर पुलिस कार्रवाई के बारे में रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी। केन्‍द्रीय गृह मंत्रालय को पत्रकार गौरी लंकेश की हत्‍या के संबंध में कर्नाटक सरकार की रिपोर्ट मिल गई है। सूत्रों के अनुसार राज्‍य के मुख्‍य सचिव ने मामले से जुड़े तथ्‍यों और हत्‍या के बाद की गयी पुलिस कार्रवाई की विस्‍तृत रिपोर्ट भेजी है। रिपोर्ट में यह भी जिक्र किया गया है कि राज्‍य सरकार ने मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया है और हत्‍या में शामिल लोगों की तलाश की जा रही है। गृह मंत्रालय ने राज्‍य सरकार से इस मामले की रिपोर्ट मांगी थी।


डेरा सच्‍चा सौदा के दो प्रमुख कार्यकर्ता व एक सुरक्षाकर्मी गिरफ्तार 
डेरा प्रमुख को दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकूला में हिंसा भड़काने के मामले में वांछित डेरा सच्‍चा सौदा के दो प्रमुख कार्यकर्ता गिरफ्तार। डेरा सच्‍चा सौदा के दो प्रमुख कार्यकर्ताओं को पंचकुला में हिंसा भड़काने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। यह हिंसा डेरा प्रमुख गुरूमीत राम रहीम सिंह को दुष्‍कर्म मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद भड़की थी। पंचकूला पुलिस उपायुक्‍त ने बताया कि डेरा के पंचकुला केन्‍द्र के प्रभारी चमकौर सिंह और एक अन्‍य प्रमुख कार्यकर्ता दानसिंह को चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया। पंचकुला मुख्‍यालय में पुलिस उपायुक्‍त मुकेश मलहोत्रा के नेतृत्‍व में हरियाणा पुलिस के विशेष जांच दल ने ये गिरफ्तारियां कीं। 25 अगस्‍त को पंचकुला में दंगा भड़काने के आरोप में पुलिस को इन दोनों की तलाश थी। इसके अलावा पटियाला से पंजाब पुलिस के एक कमांडो करमजीत सिंह को भी गिरफ्तार किया गया है। करमजीत, राम-रहीम की सुरक्षा में तैनात था। पुलिस का कहना है कि इस कमांडो को पंचकूला अदालत परिसर से राम-रहीम को भगाने के षड्यंत्र में उसकी भूमिका के लिए गिरफ्तार किया गया।  राज्‍य के सिरसा में डेरा मुख्‍यालय की तलाशी शनिवार को दूसरे दिन भी जारी है। हरियाणा के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सिरसा डेरा के तलाशी अभियान के दौरान पशु आहार बनाने वाली फैक्‍टरी से विस्‍फोटक सामग्री के इक्‍यासी डिब्‍बे मिले हैं।  फिलहाल तलाशी अभियान रोक दिया है। इसे फिर शुरू करने का फैसला बाद में किया जाएगा। अब एक समीक्षा बैठक होगी जिसमें तलाशी अभियान में लगे सभी ड्यूटी मजिस्‍ट्रेट की रिपोर्ट तलब की जाएगी और आगे तलाशी अभियान जारी रखने के बारे में फैसला किया जाएगा। उधर गुरूमीत राम रहीम के स्‍वास्‍थ्‍य खराब के चलते उसे पीजीआई रोहतक में भर्ती करवाने के संभावना के बीच पुलिस ने रोहतक में मार्क ड्रील किया। वहीं एक डाक्‍टरों की टीम ने सुनारिया जेल पहुंचकर डेरा प्रमुख की स्‍वास्‍थ्‍य की जांच भी की है। 


बिल्‍डर प्रदीप जैन की हत्‍या के आरोपी रियाज सिद्दीकी को आजीवन कारावास  की मांग 
मुम्‍बई पुलिस के विशेष सरकारी वकील उज्‍जवल निकम ने मुम्‍बई के बिल्‍डर प्रदीप जैन की हत्‍या के एक मामले में रियाज सिद्दीकी को आजीवन कारावास की सजा की मांग की है। टाडा अदालत के समक्ष जिरह में श्री निकम ने यह माना कि यह मामला जघन्‍यतम अपराध की श्रेणी में नहीं आता इसलिए अभियोजन पक्ष सिद्दीकी के लिए आजीवन कारावास की सजा की मांग करता है। उल्लेखनीय है, 1993 के सिलसिलेवार बम विस्‍फोट के मामले में सलेम के साथ सिद्दीकी भी अभियुक्‍त था। टाडा अदालत ने अबू सलेम को आजीवन कारावास और सिद्दीकी को दस साल की कैद की सजा सुनाई थी। प्रॉपर्टी डीलर प्रदीप जैन की 1995 में जुहू में उनके बंगले के बाहर गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। कहा जाता है कि उसकी हत्‍या इसलिए की गयी क्‍योंकि उसने अपनी सम्‍पत्ति अबू सलेम को सौंपने से इंकार कर दिया था।


जयपुर में भड़की हिंसा, चार थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू, स्थिति नियंत्रण में

जयपुर में रामगंज इलाके की शुक्रवार  की घटना के बाद स्थिति नियंत्रण में है। भीड़ ने देर रात आगजनी तथा पत्थरबाजी की और सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाया।   रामगंज, मानक चौक, सुभाष चौक और गल्ता गेट थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी है। रामगंज इलाके में ड्रान से निगरानी की जा रही है। पुलिस और एसटीएफ ने आज शांति मार्च निकाला और शांति समिति की बैठक बुलाई। हालात को देखते हुए दिल्‍ली जाने वाले वाहनों का रूट भी बदल दिया गया है। अस्‍तपालों में डाक्‍टरों की अतिरिक्‍त टीम तैनात की गई है। घटना के मामले में पुलिस ने 5 मामले दर्ज किए हैं। अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक ने आकाशवाणी को बताया की पुलिस स्‍थिति पर नजर रखे हुए हैं। आज रात स्‍थिति की समीक्षा के बाद कफर्यू में ढील देने और इंटरनेट सेवा बहाल करने के बारे में फैसला किया जाएगा। जयपुर में जारी सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त उत्तर प्रथम श्री समीर कुमार ने आदेश जारी कर बताया कि जिला जयपुर उत्तर के सम्पूर्ण क्षेत्र में दिनांक 19.07.2017 की रात्रि से ही दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अन्तर्गत निषेधाज्ञा लागू है। दिनांक 08.09.2017 को रामगंज थाना क्षेत्र व आस-पास के ईलाके में समुदाय विशेष द्वारा पुलिस पर पथराव, आगजनी की घटनाएं घटित की गयी है। जिसके पश्चात पुलिस के विरूद्व अफवाएं फैलाई जाकर लोगों को हिंसा के लिये उत्प्रेरित करते हुये कानून व्यवस्था को प्रभावित किया जा रहा है एवं साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाडने का प्रयास किया जा रहा है। इस आसन्न एवं गम्भीर परिस्थितियों में तत्काल निरोधात्मक कार्यवाही किया जाना आवश्यक है। जिससे लोक शांति विक्षुब्ध होने के साथ विधि पूर्वक नियोजित व्यक्तियों के कार्यों में बाधा एवं आम जन की जानमाल व सुरक्षा का खतरा पैदा होने की सम्भावना है। अतः उक्त परिस्थितियों में थाना रामगंज, गलतागेट, माणकचौक एवं सुभाषचौक में लोक व्यवस्था व परिशान्ति को कायम रखने हेतु एवं आमजन जीवन की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुये धारा 144 द.प्र.स. में प्रद्त शक्तियों का प्रयोग करते हुये आज दिनांक 09.09.2017 के 04.00 ए.एम से 24 घण्टे तक इस आशय की निषेधाज्ञा थाना रामगंज, गलतागेट, माणकचौक, सुभाषचौक की सीमा क्षेत्र में प्रभावी होगी। निषेधाज्ञा के दौरान कोई भी व्यक्ति बिना वैध अनुमति पत्र के घर से बाहर नहीं निकलेगा। कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह का विस्फोटक पदार्थ एवं अस्त्र-शस्त्र ना तो कब्जे में रखेगा, ना ही प्रयोग करेगा। कोई भी व्यक्ति साम्प्रदायिक सौहार्द को ठेस पहुंचाने वाला काई कृत्य नहीं करेगा। इस बाबत अपेक्षित शिथिलता हेतु अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त उत्तर प्रथम ही वैध अनुमति पत्र जारी करने हेतु अधिकृत होगा। उक्त आदेश कानून व्यवस्था सम्बन्धी लगे अधिकारीगण/कर्मचारीगण एवं पुलिस अधिकारियों/पुलिसकर्मियों पर लागू नहीं होगा। आपात स्थिति को देखते हुये इस आदेश की व्यक्तिशः तामील करवाया जाना सम्भव नहीं है। अतः उपरोक्त निषेधाज्ञा की पालना के लिए ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से सूचना व नोटिस बोर्ड पर चस्पानगी करवायी जावे तथा स्थानीय समाचार पत्रों व प्रचार प्रसार से समस्त नागरिकों को अवगत करा दिया जावें। इस आदेश का उल्लघंन करने पर भा.द.सं. की धारा 188 के तहत दण्डित करने की कार्यवाही की जावेगी। 


उपराष्‍ट्रपति ने रांची में स्‍मार्ट सिटी की आधारशिला रखी
उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को झारखंड की राजधानी रांची में बनाए जा रहे स्‍मार्ट सिटी की आधारशिला रखी। उन्‍होंने इस शहर की तीन इमारतों अर्बन सिविक सेंटर, कंवेन्‍शन सेंटर और झारखंड शहरी नियोजन प्रबंधन संस्‍थान की नींव रखी। इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री और अन्‍य गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।


 
भुवनेश्‍वर में संकल्‍प से 'सिद्धि' प्रदर्शनी का उद्घाटन 
केन्‍द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने शनिवार को भुवनेश्‍वर में संकल्‍प से सिद्धि प्रदर्शनी का उद्घाटन किया और संकल्‍प बैठक में भाग लिया। इस अवसर पर उन्‍होंने भारत के स्‍वतंत्रता संग्राम की विभिन्‍न घटनाओं और महात्‍मा गांधी के भारत छोड़ो आंदोलन का जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में उनकी सरकार ने पिछले तीन वर्ष में 'नव भारत' का निर्माण किया है।         

          
इरमा तूफान के बाद ,विदेश मंत्रालय  अमरीका, वेनेजुएला, फ्रांस और हॉलैंड प्रवासी भारतीयों के साथ सम्‍पर्क मे
विदेश मंत्रालय ने कहा- इरमा तूफान के बाद वह अमरीका, वेनेजुएला, फ्रांस और हॉलैंड में रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों के साथ सम्‍पर्क में हैं।विदेश मंत्रालय ने कहा है कि वह भीषण समुद्री तूफान इरमा की स्थिति पर नजर रखे हुए है और अमरीका, वेनेजुएला, फ्रांस और हॉलैंड में रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों के साथ सम्‍पर्क बनाए हुए हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने ट्वीट संदेशों में शनिवार को कहा है कि भारतीय दूतावास तूफान से प्रभावित भारतीयों की मदद के लिए इन चारों देशों की सरकारों के साथ सम्‍पर्क में है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने ट्वीट कर भारतीय समुदाय के लोगों की मदद के लिए आपातकालीन फोन नंबर जारी किए है, जो इस प्रकार हैं - वेनेजुएला में भारतीय दूतावास के नंबर हैं : +58 42 41951854 और 4142214721, हॉलैंड में भारतीय दूतावास के नंबर +31247247247 और फ्रांस में भारतीय दूतावास के नंबर 0800000971 भारतीय मूल के हजारों अमरीकी नागरिकों सहित 50 लाख से अधिक लोगों से फलोरिडा के तटवर्ती इलाकों को खाली कर सुरक्षित स्‍थान पर जाने को कहा गया है। पांचवीं श्रेणी का शक्तिशाली तूफान इरमा क्‍यूबा में तबाही मचाने के बाद अब फलोरिडा की तरफ बढ़ रहा है। इसके कल वहां पहुंचने की आशंका है।


मैक्सिको में 61 लोगों की मौत 
मैक्सिको के राष्‍ट्रपति एनरीक पेना नीटो ने एक टेलीविजन प्रसारण में बताया है कि गुरुवार को आए भूकम्‍प से देश में 61 लोगों की मौत हुई है। मृतकों के प्रति सम्‍मान प्रकट करने के लिए देश में तीन दिन के राष्‍ट्रीय शोक की भी घोषणा की गयी है। वृहस्‍पतिवार रात को आए रिक्‍टर पैमाने पर करीब आठ की तीव्रता वाले इस भीषण भूकम्‍प से मैक्सिको के दक्षिणी भाग में हजारों इमारतें गिर गई और लोग घबराकर गलियों में आ गए। अन्‍य स्‍थानों से भी भूकम्‍प से हुई तबाही की खबरें आ रही हैं।अब भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। बड़े पैमाने पर राहत और बचाव कार्य जारी हैं।      

                                                                                                                                             

तूफान इरमा फ्लोरिडा की ओर बढ़ा

पचास लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर जाने को कहा गया
तूफान इरमा कई कैरेबियाई द्विपों में तबाही मचाने के बाद फ्लोरिडा की ओर बढ़ रहा है। तूफान के क्यूबा पहुंचने की खबरों के बाद फ्लोरिडा में लगभग 56 लाख लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर जाने को कहा गया है। तूफान के असर से एक सौ 55 मील प्रति घंटे की रफतार से हवायें चल रहीं हैं। क्यूबा में अधिकारियों ने तूफान से भारी नुकसान की बात कही है, लेकिन किसी के मारे जाने की खबर नहीं है।


पाक सुप्रीमकोर्ट ने पनामा पेपर्स मामले में नवाज शरीफ  परिवार और  इशहाक डार की पुनरीक्षण याचिकाएं स्‍वीकार की
पाकिस्‍तान की सुप्रीमकोर्ट ने पनामा पेपर्स मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के परिवार और पूर्व वित्‍तमंत्री इशहाक डार की पुनरीक्षण याचिकाएं स्‍वीकार कर ली हैं। अदालत के अनुसार इन याचिकाओं की सुनवाई 12 सितम्‍बर से शुरू होगी। जस्टिस एजाज अफजल की अध्‍यक्षता वाली तीन जजों की पीठ में जस्टिस शेख अजमत सईद और जस्टिस एजाज उल एहसान शामिल हैं।


जूनियर कमिशन प्राप्‍त और अन्‍य रैंक के अधिकारियों के लिए काडर समीक्षा नीति मंजूर

सरकार ने सेना के जूनियर कमीशन प्राप्त अधिकारियों और अन्‍य रैंक के सैनिकों के लिये काडर समीक्षा नीति को मंजूरी दे दी है। इससे लगभग एक लाख पैंतालीस हज़ार सैनिकों को सेवा में आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। सेना के उच्‍च अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल अश्विनी कुमार ने नई दिल्‍ली में बताया कि सैनिकों का यह उन्‍नयन पांच साल में होगा।


केंद्र सरकार का सभी राज्यों को निर्देश

स्कूल कॉलेजों में PM का भाषण कार्यक्रम दिखाया जाये 
केंद्र ने एक अडवाइजरी जारी कर राज्यों से कहा हैकि सभी स्कूल और कॉलेजों में छात्रों को 'प्रधानमंत्री का यंग इंडिया - न्यू इंडिया कार्यक्रम ,जिसमे PM 'संकल्प से सिद्धी' के माध्यम से राष्ट्र के पुनरुत्थान की बात करेंगे छात्रों को अवश्य दिखाएं । कार्यक्रम का प्रसारण आगामी सोमवार को सुबह 10.30  बजे प.दीनदयाल उपाद्याय के सताब्दी समारोह और स्वामी विवेकानंद के, शिकागो धर्म संसद में दिए गए भाषण की 125वीं वर्षगांठ के अवसर पर किया जा रहा है। पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री ने विरोध करते हुए मानने से इंकार करदिया है। 
भारतीय जनता पार्टी ने स्‍वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की 125 वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री के भाषण के सीधे प्रसारण पर रोक लगाने के पश्चिम बंगाल सरकार के फैसले की आलोचना की।
भारतीय जनता पार्टी ने स्वामी विवेकानन्द के शिकागो में दिये गए भाषण की 125वीं वर्षगांठ के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का सीधा प्रसारण रोकने के पश्चिम बंगाल सरकार के फैसले की आलोचना की है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नलिन कोहली ने एक समाचार एजेंसी से कहा कि लोकतंत्र में ऐसा कदम दुर्भाग्यपूर्ण और स्तब्ध करने वाला है कि किसी राज्य की मुख्यमंत्री विद्यार्थियों के नाम प्रधानमंत्री के संबोधन को रोकना चाहती हैं।


भारत ने चीन के कुछ स्‍टील उत्‍पादों पर 5 साल के लिए प्रतिकारी शुल्‍क लगाया
चीन से सस्ते स्टील आयात से स्वदेशी उद्योगों के हितों की रक्षा के लिए उसके कुछ स्टील उत्पादों पर पांच वर्ष के लिए प्रतिकारी शुल्क - सी वी डी लगाया गया है। डंपिंग रोधी और संबद्ध शुल्क महानिदेशालय की सिफारिशों पर वित्त मंत्रालय ने यह फैसला लिया है। वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार चीन से आयातित स्टेनलेस-स्टील उत्पादों पर अगले पांच वर्ष तक 18 दशमलव नौ-पांच प्रतिशत प्रतिकारी शुल्‍क लगाया गया है। चीन में इन उत्पादों पर सब्सिडी की वजह से भारतीय बाजारों में इनकी कीमत कम हो जाती है और स्वदेशी उद्योग को नुकसान उठाना पड़ता है। इस्‍पात मंत्रालय और इस्‍पात उद्योग ने फैसले का स्‍वागत करते हुए इसे महत्वपूर्ण कदम बताया है। 
 


खबरी दुनिया 
---'' गुरमीत राम रहीम के डेरे की कल से शुरू हुई महातलाशी की खबर सभी अखबारों में छाई हुई है। अमर उजाला की सुर्खी है- डेरे से मिली प्लास्टिक करंसी और लग्जरी कार। राजस्थान पत्रिका का कहना है- रहस्य के डेरे ने उगला फर्जीवाड़े का सच।''--- 
 

---'' गुरूग्राम में एक प्रतिष्ठित स्कूल में सात साल के मासूम की बेरहमी से हत्या की खबर सभी अखबारों में है। अमर उजाला का कहना है कि कुकर्म के प्रयास के बाद बस कंडेक्टर ने दिया वारदात को अंजाम।''--- 
 

---'' आतंकियों का मददगार पाकिस्‍तान का सबसे बड़ा हबीब बैंक की न्युयार्क शाखा को बंद करने का अमरीका का आदेश अमर उजाला सहित लगभग सभी अखबारों में है। दैनिक जागरण की सुर्खी है- आतंकी फंडिंग में अमरीका ने बंद किया हबीब बैंक।''--- 
 

---'' फ्लाइट में हंगामा किया तो उड़ान पर लगेगा प्रतिबंध, तीन महीने से लेकर आजीवन बेन को नवभारत टाइम्‍स ने प्रमुखता से दिया है। राष्‍ट्रीय सहारा लिखता है- विमान अभद्रता को लेकर मंत्रालय ने जारी किये नियम, बदतमीजी की तो उड़ नहीं पायेंगे।''--- 
 

---'' 2014 के लोकसभा चुनाव में 30 हजार करोड़ रूपये के खर्च पर सुप्रीमकोर्ट की हैरानी और इसे दिमाग हिलाने वाला बताने की खबर राजस्‍थान पत्रिका में है। पत्र लिखता है कि पीठ चुनाव लड़ने वाले नेताओं को शपथ पत्र में आयकर का स्रोत बताना अनिवार्य करने की याचिका पर सुनवाई करेगी।''--- 
 

---'' सेना में छोटे पदों पर भी होंगी महिलाएं- दैनिक ट्रिब्‍यून की खबर है। पत्र लिखता है कि 1992 से तो अफसर रैंकों पर चयनित होती रही हैं लेकिन अब उन्‍हें छोटे पदों पर भी मौका मिलेगा।''--- 
 

 

 राजस्थान समाचार विशेष        

                                                                                                                                

श्रीमती राजे को मिला ’बेस्ट चीफ मिनिस्टर ऑफ द ईयर’ का स्कॉच अवार्
जयपुर,   मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे को गुड ग गवर्नेन्स, सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास तथा महिला स्वावलम्बन जैसे क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य एवं उपलब्धियों और राजस्थान को बीमारू प्रदेशों की श्रेणी से बाहर लाने के लिए ’बेस्ट चीफ मिनिस्टर ऑफ द ईयर’ स्कॉच अवार्ड से सम्मानित किया गया। वहीं साथ ही राजस्थान को ’स्टेट ऑफ द ईयर’ अवार्ड प्रदान कर सम्मानित किया गया है। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में राजस्थान विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री राव राजेन्द्र सिंह ने शनिवार को नई दिल्ली में कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में स्कॉच ग्रुप द्वारा आयोजित समारोह में यह अवार्ड ग्रहण किए। समारोह में राजस्थान को विभिन्न श्रेणियों में कुल 57 अवार्ड दिए गए। समारोह के मुख्य अतिथि केन्द्रीय पर्यटन तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री श्री केजे अल्फोंस थे। अवार्ड समारोह में श्री राव राजेन्द्र सिंह ने कहा कि भौगोलिक दृष्टि से देश का सबसे बड़ा और रेगिस्तानी प्रदेश होने के कारण राजस्थान में विकास की चुनौतियां अन्य प्रदेशों की तुलना में बहुत बड़ी हैं। इसके बावजूद मुख्यमंत्री की दृढ़ इच्छाशक्ति, कड़े परिश्रम और कुशल नेतृत्व के फलस्वरूप राजस्थान में सुराज लाने का विजन मूर्त रूप ले रहा है। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में आगे बढ़कर राजस्थान बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर आया है। समारोह में राजस्थान के श्रम, रोजगार और कौशल विकास आयुक्त श्री कृष्ण कुणाल सहित अन्य अधिकारियों ने भी अवार्ड ग्रहण किए।

 

स्वास्थ्य में ई-गवर्नेन्स के क्षेत्र में भी राजस्थान देश में प्रथम
जयपुर,   स्वास्थ्य के क्षेत्र में ई-गवर्नेन्स के लिये राजस्थान को सर्वश्रेष्ठ होने का अवार्ड मिलने के साथ ही कुल 9 स्काच अवार्ड प्रदान किये गये हैं। नयी दिल्ली में आयोजित 49वीं स्काच समिट में राजस्थान को दो दिनों में यह अवार्ड्स दिये गये हैं। इनमें पांच आर्डर आफ मेरिट, तीन प्लेटीनम एवं एक सिल्वर अवार्ड शामिल है।  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री कालीचरण सराफ ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत विभिन्न परियोजनाओं में लिये गये ई-इनीशियेटिव के लिये एनएचएम राजस्थान टीम को बधाई दी है। उन्होंने बताया कि इन ई-इनीशियेटिव से प्रदेश की स्वास्थ्य योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने में सहयोग मिल रहा है।  प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्रीमती वीनू गुप्ता ने बताया कि स्काच अवार्ड हेतु राजस्थान की पांच स्वास्थ्य परियोजनाओं का नामिनेशन किया गया था और इन पांचों ही परियोजनाओं को स्काच अवार्ड प्राप्त हुआ है। इनमें सी-मेम, आंचल मदर मिल्क बैंक, आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, आशा द्वारा टीबी स्क्रीनिंग एवं आरबीएसके साफ्टवेयर को स्काच आर्डर आफ मेरिट अवार्ड मिले हैं। स्वास्थ्य सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम श्री नवीन जैन ने बताया कि राजस्थान को स्वास्थ्य के क्षेत्र में ई-गवनेर्ंस के लिये श्रेष्ठ राज्य के पुरस्कार के साथ ही तीन प्लेटीनम अवार्ड एवं पांच स्काच आर्डर आफ मेरिट अवार्ड प्राप्त हुये हैं। उन्होंने बताया कि राजस्थान की बच्चों के कुपोषण को दूर करने के लिये समुदाय आधारित योजना सी-मेम एवं मदर मिल्क बैंक के साथ ही एनएचएम राजस्थान को श्रेष्ठता के लिये स्काच प्लेटीनम पुरस्कार दिया गया है। इसी प्रकार आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र परियोजना को भी स्काच सिल्वर अवार्ड प्रदान किये गये हैं।  

                                                                                                     

मुख्यमंत्री ने लॉन्च की राजस्थान के खेतों में उपजे जैतून से तैयार ऑलिव-टी 
जयपुर,   मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर राजस्थान के खेतों में उपजे जैतून से तैयार पहली प्रोसेस्ड ऑलिव टी ’ऑलिटिया’ लॉन्च की। ऑलिव टी का यह उत्पाद ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट 2016 के दौरान राजस्थान सरकार तथा निजी कंपनी ऑलिटिया फूड्स के बीच हुए एमओयू के तहत तैयार किया गया है।  श्रीमती राजे ने इस चाय की लांचिंग करते हुए कहा कि इससे प्रदेश के किसानों द्वारा कड़ी मेहनत से उपजाए गये जैतून की गुणवत्ता को अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में जैतून की खेती को बढ़ावा देने के लिए जो प्रयास पिछले सालों में किये हैं, उसके सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऎसे ही कदम उठाकर वर्ष 2022 तक प्रदेश के किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य तक पहुंचने में कामयाब होंगे।  मुख्यमंत्री ने इस दौरान ऑलिव टी का स्वाद चखा तथा इसकी सराहना की। उन्होंने राजस्थान में तैयार हो रहे अन्य विश्वस्तरीय एग्री प्रोसेस्ड प्रोडक्ट भी देखे। श्रीमती राजे ने कहा कि हमारे मेहनतकश किसान भाइयों की उपज की विश्वस्तर पर मार्केटिंग के बेहतर प्रयास किये जाएं ताकि उन्हें इनके अच्छे दाम मिलें।  इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि यह चाय एंटीऑक्सीडेंट, एंटीडायबिटिक होने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद है। उन्होंने प्रदेश में जैतून की खेती की ओर किसानों के बढ़ते रूझान की जानकारी दी।  ऑलिटिया फूड्स के निदेशक श्री धर्मपाल गढवाल ने बताया कि यह विश्व की पहली प्रोसेस्ड ऑलिव-टी है, जिसे राजस्थान में तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि यूके, यूएसए तथा खाड़ी देशों ने इसमें गहरी रूचि दिखाई है।


दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के साथ राजस्थान सेंटर ऑफ एक्सीलेंस और एमएनआईटी के मध्य हुआ MOU

जयपुर,   राज्य में जल सरंक्षण, जल गुणवत्ता प्रबंधन एवं अपशिष्ट जल शोधन इत्यादि क्षेत्रों में सूचना, ज्ञान, अनुभव व तकनीक के आदान-प्रदान के लिए दक्षिण ऑस्ट्रेलिया सरकार और राजस्थान सेंटर ऑफ एक्सीलेंस व मालवीय नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमएनआईटी) के मध्य शुक्रवार को एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।  एममएनआईटी के कैंपस में हुए इस एमओयू के बाद सहयोगी राज्यों में स्थित विश्व स्तरीय तकनीकी एवं अकादमिक संस्थानों को आपस में जोडा जा सकेगा। इससे संबंधित क्षेत्रों में सूचना, ज्ञान, अनुभव व तकनीक के आदान-प्रदान के लिए अध्ययन, शोधकार्य, पायलेट प्रोजेक्ट आदि का कार्य किया जा सकेगा। इस करार से एमएनआईटी के छात्रों एवं शिक्षकों के लिए भी ऑस्ट्रेलिया के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अध्ययन एवं शोध कार्यों के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे।  गौरतलब है कि राजस्थान सरकार के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस और दक्षिण ऑस्ट्रेलिया सरकार के मध्य नवंबर 2015 को एक सिस्टर स्टेट एमओयू किया गया था, जिसका मकसद दोनों सरकारों के बीच आपसी क्षमताओं के आदान-प्रदान के द्वारा लोगों को लाभान्वित करना है। दक्षिण ऑस्ट्रेलिया सरकार के सहयोग से चल रहे सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना का कार्य प्रगति पर है।  एमओयू के समय दक्षिण ऑस्ट्रेलिया की पूर्व जल मंत्री सुश्री कारलीन मेवाल्ड, सेंटर आइसवार्म के कार्यकारी अधिकारी श्री डेरिल डे, ऑस्ट्रेलियन विशेषज्ञ सलाहकार श्री राजू नारायणन एवं राजस्थान सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के प्रमुख श्री अरूण श्रीवास्तव समेत अधिकारीगण उपस्थित थे। 


श्रीमहावीर जी से मय अवैध हथियारों के किया गिरफ्तार

जयपुर    राज्य की अपराध शाखा ने प्रदेश के करौली जिले के श्रीमहावीर जी में एक बड़ी कार्यवाही कर दो अवैध हथियार तस्करों को 15 पिस्टल एवं 20 जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध श्री पंकज कुमार सिंह ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि राज्य अपराध शाखा की विशेष टीम एवं थानाधिकारी श्रीमहावीरजी मय जाप्ता ने शनिवार को संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए श्रीमहावीरजी रेल्वे स्टेशन के पास स्थित अण्डर ब्रिज से गंधवानी जिला धार मध्यप्रदेश निवासी संजय पुत्र सरदया (19) आदिवासी भील एवं महेश पुत्र दुर्गा (25) आदिवासी भील को गिरफ्तार कर उनसे 15 पिस्टल एवं 20 जिन्दा कारतूस बरामद करने में सफलता हासिल की है।  अतिरिक्त महानिदेशक ने बताया कि कुछ समय पूर्व मुखबिर से सूचना मिली थी कि मध्यप्रदेश के जिला धार के गंधवानी थाना क्षेत्र में रहने वाले सिकलीगर जाति के लोग भारत के समस्त राज्यों में बडी तादाद में अवैध हथियार सप्लाई करने का कार्य करते हैं। उन्होंने बताया कि करौली, गंगापुर एवं हिन्डौन क्षेत्र के करीब 20-25 लोगों के माध्यम से पूर्व में भी अवैध हथियारों की खेप असामाजिक तत्वों को बेचना सामने आया है।  आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वे राजस्थान में भी लम्बे समय से करौली एवं सवाईमाधोपुर जिले में काफी तादाद में हथियार सप्लाई करने का कार्य पर कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज भी वे गंगापुर निवासी लखन मीणा और फिरोज को हथियार बेचने के लिये आये थे। इन दोनों को वे पूर्व में भी अनेक बार हथियार सप्लाई कर चुके हैं। श्री सिंह ने बताया कि विश्वस्त सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक सीआईडी, सीबी, श्री लक्ष्मण गौड के निर्देशन एवं श्री राम सिंह उपनिरीक्षक के नेतृत्व में श्री भरत सिंह उपनिरीक्षक, हैड कानि0 श्री दुष्यन्त सिंह एवं श्री जितेन्द्र सिंह, कानि0, सर्वश्री शाहिद अली, हेमन्त, रामनिवास, शंकर, मदन लाल एवं चालक मुकेश की एक टीम गठित कर दो आरोपियों को श्रीमहावीरजी रेल्वे स्टेशन के पास कजानीपुर मोड से मय 15 हथियारों एवं 20 कारतूसों सहित गिरफ्तार किया है।  अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध ने बताया कि दोनों आरोपियों के पास से बरामद अवैध हस्त निर्मित सभी पिस्टलों पर मैड इन स्पेन एवं यूएसए मुद्रित है, इनमें से कुछ पिस्टलों पर साईलेन्सर भी लगे हुए हैं। पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि मध्यप्रदेश के जिला धार में सिकलीगर जाति के जरायम पेशा के लोग रहते हैं, जिनका शुरू से मुख्य पेशा अवैध हथियारों के निर्माण एवं सप्लाई कर आजीविका कमाना रहा है।  उन्होंने बताया कि आरोपियों का मुख्य सरगना बल्लू सरदार है। अब इनके सरगना बल्लू सरदार को गिरफ्तार करने के लिए टीमें रवाना कर दी गई है एवं पूर्व में राज्य में जिन व्यक्तियों को इस गिरोह ने हथियार उपलब्ध कराये हैं, उन लोगों की पहचान कर गिरफ्तारी हेतु दबीश दी जा रही है।  उन्होंने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उनका मुख्य सरगना पार्टी से खुद ही सम्पर्क करता है तथा लेनदेन भी तय करता है, उन्हें केवल उस क्षेत्र की जानकारी दी जाती है, जहां हथियार सप्लाई करने होते हैं। मुख्य सरगना गंधवानी के अनपढ भोले भाले लोगों को रूपयों का लालच देकर हथियार तस्करी के कामों में लगाता है। ये लोग अधिकतर रात्रि में ट्रेन द्वारा ही हथियार देने जाते है, डिलीवरी देते ही अपने स्थान पर वापस लौट जाते है। उल्लेखनीय है कि राज्य अपराध शाखा की विशेष टीम ने गत वर्ष भी करौली जिले के महावीरजी थाना क्षेत्र से स्थानीय सिकलीगर जाति के एक आरोपी को गिरफ्तार कर उससे 10 अवैध हथियार बरामद किये थे।     

                                                        

जयपुर पुलिस आयुक्तालय के समस्त थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं पर 10 सितम्बर रात्रि तक अस्थाई प्रतिबंध ­ 
जयपुर,    सम्भागीय आयुक्त श्री राजेश्वर सिंह ने एक आदेश जारी कर जयपुर पुलिस आयुक्तालय क्षेत्र के समस्त थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं यथा-2जी/3जी/4जी डाटा (मोबाईल इंटरनेट), इंटरनेट सर्विसेज, बल्क एसएमएस/एमएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर एवं अन्य सोश्यल मीडिया सर्विसेज थ्रू इंटरनेट सर्विस प्रोवाईडर्स (वाइस कॉल के अलावा) पर शनिवार  सुबह से  रविवार की मध्य रात्रि  तक अस्थाई प्रतिबंध लागू किया है।  सम्भागीय आयुक्त श्री सिंह ने भारत सरकार के संचार मंत्रालय की अधिसूचना ‘टेम्पोरेरी सस्पेंशन ऑफ टेलीकॉम सर्विसेज (पब्लिक इमरजेंसी ऑर पब्लिक सेफ्टी) रूल्स-2017 के तहत गृह विभाग, राजस्थान सरकार द्वारा प्रदत्त की गई शक्तियों के अनुसरण में कानून व्यवस्था एवं लोक सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए यह आदेश जारी किए है।  सम्भागीय आयुक्त ने सभी नागरिकों को इस आदेश की पालना करने एवं अवहेलना नहीं करने के निर्देश दिए है। यदि कोई व्यक्ति इन प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करेगा तो उसे सक्षम विधिक प्रावधानों के तहत अभियोजित किया जाएगा। 

                                                  
गहलोत ने शांति एवं सौहार्द बनाये रखने की अपील की

जयपुर,    पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव श्री अशोक गहलोत ने जयपुर के रामगंज क्षेत्र में शुक्रवार की रात्रि को घटित उपद्रव एवं हिंसात्मक घटना के प्रति गहरी चिंता व्यक्त करते हुए आमजन से शांति एवं आपसी सौहार्द बनाये रखने की अपील की है।  उन्होंने कहा कि गुलाबी नगर जयपुर अपने आपसी भाई-चारे एवं सामाजिक समरसता तथा कौमी एकता के लिए अपनी विशिष्ट पहचान रखता है। इस पहचान को मजबूती से बरकरार रखना समाज के सभी पक्षों का दायित्व है।  पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आपसी कहा-सुनी से उपजे विवाद की वजह से उपद्रव की स्थिति बनना खेदजनक है। यदि संयम और विवेक से इस स्थिति को नियंत्रित किये जाने का प्रयास होता तो यह विवाद इतना नहीं फैलता।  श्री गहलोत ने कहा कि समाज के सभी पक्षों को अफवाहों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और न ही अफवाहें फैलानी चाहिए। पुलिस प्रशासन को सभी को विश्वास में लेकर शांति व्यवस्था को बहाल करने के लिये सभी आवश्यक कदम उठाने चाहिए। साथ ही घटना में लिप्त असामाजिक तत्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही अमल में लाई जानी चाहिए। 

                                                         

स्कूल के पोषाहार में चावल खाने से लोकेश बेरवा की मौत

जहाजपुर के शिवपुरा ग्राम का बच्चा लोकेश बेरवा 2 दिन पूर्व स्कूल के पोषाहार में चावल खाने से बीमार होने के पश्चात आज उसकी मौत हो गई मुझे पता लगते ही तत्काल मौके पर पहुंचा और पुलिस थाने में fir दिलवा कर पोस्टमार्टम करवाया,गमगीन पिता को देखकर मेरी भी आंखें भर आई उस मासूम बच्चे को कंधा देकर उसके दाह संस्कार में शामिल हुआ उसके पश्चात जिला कलेक्टर से बात करके उन्हें मौके पर बुलवाया बच्चे का विसरा और चावल पुलिस कस्टडी में जप्त करवाकर एफएसएल जांच के लिए भिजवाए एवं दौराने जांच पोषाहार बनाने वाली को हटवाने की माँग कर उसे वहाँ से हटवाने के निर्देश दिलवाये एवम मेरी तरफ से 11,000 रुपए आर्थिक सहायता तत्काल प्रदान करी एवं जिला कलेक्टर से बच्चे के पिता को BPL करवाने का निर्देश sdm को करवाया

 

खेल-जगत

ऑस्‍ट्रेलिया में राष्‍ट्रमंडल भारोत्‍तोलन चैंपियनशिप के अंतिम दिन भारत ने दो स्‍वर्ण, एक रजत और दो कांस्‍य पदक जीते। आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में राष्ट्रमंडल युवा, जूनियर एवं सीनियर भारोत्‍तोलन चैंपियनशिप के पांचवें और अंतिम दिन भारत ने दो स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते। भारत ने प्रतियोगिता में 23 स्‍वर्ण समेत कुल 37 पदक जीते। प्रदीप सिंह ने आज 105 किलोग्राम वजन वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। इसके साथ ही उन्‍होंने अगले साल होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्‍वालीफाई किया। इसके अलावा पुरुषों के जूनियर 105 किलोग्राम वर्ग में लवप्रीत सिंह ने पहला स्‍थान हासिल किया, जबकि तेजपाल सिंह को कांस्‍य पदक मिला। गुरदीप सिंह ने भी एक कांस्‍य पदक अपने नाम किया।
*  ऑस्‍ट्रेलिया में कॉमनवैल्‍थ भारोत्‍तलन चैम्पियनशिप के पांचवे दिन भारत ने दो स्‍वर्ण सहित छह पदक जीते।  ऑस्ट्रेलिया की गोल्ड कोस्ट सिटी में राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप में भारत ने कल दो स्‍वर्ण सहित छह पदक जीते। चैंपियनशिप के पांचवें दिन भारत पदक तालिका में छठे स्‍थान पर था। महिला सीनियर के 75 किलोग्राम वर्ग में सीमा ने कुल 202 किलोग्राम भार उठा कर रजê